पूरे उत्तराखंड में जमकर बारिश, मालरोड पर जमा 600 टन मलबा, पढ़ें हर जगह का हाल

Last Updated: Saturday, July 11, 2015 - 12:35
पूरे उत्तराखंड में जमकर बारिश, मालरोड पर जमा 600 टन मलबा, पढ़ें हर जगह का हाल
Representational image

देहरादूनः प्रदेश में मौसम विभाग की चेतावनी के मुताबिक मूसलाधार बारिश हो रही है। तेज बारिश से नदियां उफान पर हैं। जलभराव के चलते जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।

पहाड़ों पर हो रही बारिश अब मुसीबत बनते जा रही है। दो दिनों से हो रही इस बारिश से प्रदेश में कई जगहों पर सड़कें बाधित हो गई हैं। वहीं जन-जीवन पर भी खासा असर पड़ा है। सरोवर नगरी नैनीताल में मूसलाधार बारिश से सभी नाले उफान पर हैं। जिससे मालरोड पर करीब 600 टन मलबा जमा हो गया है। वहीं तेज हवा और बारिश के चलते पंत पार्क में तीन पेड़ गिर गए और हादसे में एक शख्स की मौत हो गई। प्रशासन ने पूरे जिले में अलर्ट जारी कर दिया है।

पिथौरागढ़ में भारी बारिश के चलते जिला अस्पताल में जलभराव हो गया, जिसके चलते मरीजों को खासी दिक्कतें उठानी पड़ी। उधर प्रशासन ने जिले के संवेदनशील इलाकों को दो जोन और सात सेक्टर्स में बांटा है। ताकि आपदा की हालात में तत्काल मदद पहुंचाई जा सके।

हरिद्वार के लक्सर इलाके में भी बारिश के चलते जलभराव हुआ है। यहां झबरेड़ा इलाके में चार दर्जन से ज्यादा घर जलमग्न हो गए हैं, जबकि लक्सर के अलावपुर में एक गौशाला की छत गिरने से चार मवेशी मारे गए हैं। इसी तरह ऋषिकेश में भी बारिश से जनजीवन पर खासा असर पड़ा है। यहां आदर्श ग्राम में घरों में दो से तीन फीट तक पानी भर गया।

रुद्रप्रयाग में जिलाधिकारी ने केदारनाथ यात्रा पर रोक लगा दी है, वहीं सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में छुट्टियों की घोषणा की गई है। उधर केदारघाटी के विजय नगर में एक दर्जन से ज्यादा घर कभी भी खतरे का सबब बन सकते हैं। पहाड़ों पर बीते कुछ सालों में बाढ़, बारिश और बादल फटने की घटनाएं बढ़ी हैं। एक बार फिर पहाड़ों पर हो रही मूसलाधार बारिश ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है।

रिपोर्टः नैनीताल से राजू पांडे, पिथौरागढ़ से कोमल मेहता, हरिद्वार से नरेश गुप्ता, ऋषिकेश से आशीष डोभाल और रुद्रप्रयाग से हरेंद्र नेगी के साथ ज़ी मीडिया ब्यूरो

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो



comments powered by Disqus

© 1998-2015 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved.