उत्तराखंड हाईकोर्ट का फैसला, जानवर के काटने पर दिया मुआवजा

By pranav purushottam | Last Updated: Friday, April 10, 2015 - 01:06
उत्तराखंड हाईकोर्ट का फैसला, जानवर के काटने पर दिया मुआवजा

देहरादून : उत्तराखंड हाईकोर्ट ने नैनीताल जिले में बंदर और कुत्ते के काटने पर पीड़ित को दो लाख रुपये का मुआवजा देने के निर्देश दिए हैं। कोर्ट ने आवारा पशुओं के हमले से गंभीर रूप से घायल को एक लाख तथा मामूली घायल को 50 हजार रुपये देने के भी निर्देश जारी किए हैं। 

न्यायमूर्ति आलोक सिंह और न्यायमूर्ति सर्वेश कुमार गुप्ता की संयुक्त खंडपीठ ने प्रोफेसर अजय रावत की जनहित याचिका पर यह निर्देश जारी किए। मुआवजे की आधी रकम नगर पालिकाएं और आधी राज्य सरकार देगी। संयुक्त पीठ ने आवारा कुत्ते और बंदरों पर अंकुश लगाने के निर्देश का पालन नहीं होने पर यह आदेश दिए हैं। संयुक्त पीठ ने इस संबंध में डीएम, नैनीताल विकास प्राधिकरण के सचिव और नगरपालिका के ईओ को अगली सुनवाई में तलब किया है। 

कोर्ट ने माल रोड में पुलिस, सेना, दूध के वाहन और एम्बुलेंस को छोड़कर अन्य बड़े वाहनों के प्रवेश पर तत्काल रोक लगाने को कहा है। नगरपालिका के पुराने घोड़ा स्टेंड सहित अन्य लीज संपत्तियों, अवैध कब्जों को खाली कराने के निर्देश पालिका को दिए गए हैं। इसके साथ ही नगर के स्थानीय लोगों के लिए अलग से पार्किग व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए। 

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो

108752862827310369616


comments powered by Disqus

© 1998-2015 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved.