भारी बारिश से केदारनाथ यात्रा रोकी गई, भूस्खलन से बद्रीनाथ यात्रा भी रोकी गई

Last Updated: Thursday, June 25, 2015 - 12:15
भारी बारिश से केदारनाथ यात्रा रोकी गई, भूस्खलन से बद्रीनाथ यात्रा भी रोकी गई

देहरादून: उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में भारी बारिश से केदारनाथ यात्रा रोक दी गई है। जानकारी के मुताबिक, केदारनाथ और उसके आस-पास के इलाकों में भारी बारिश हो रही है। जिलाधिकारी का कहना है कि 10 हजार यात्री चमोली में फंसे हुए हैं।

सोनप्रयाग और गौरीकुंड में श्रद्धालुओं को रोका गया है। वहीं, चमोली में हेमकुंड यात्रा को भी रोका गया है। गौरतलब है कि उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में भारी बारिश हो रही है। जानकारी के मुताबिक, बद्रीनाथ यात्रा को भी बारिश की वजह से रोक दिया गया है। इससे पहले मौसम विभाग ने गुरुवार सुबह से उत्तराखंड के विभिन्न इलाकों में भारी बारिश और भूस्खलन की चेतावनी दी थी। सूत्रों के मुताबिक, अगर यही हाल रहा तो केदारनाथा यात्रा को रद्द किया जा सकता है।

वहीं, भूस्खलन से बद्रीनाथ यात्रा को भी रोका गया है। जानकारी के मुताबिक, बद्रीनाथ हाइवे पर भूस्खलन की वजह से बद्रीनाथ यात्रा को भी रोक दिया गया है। गौरतलब है कि उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में भारी बारिश और भूस्खलन की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग ने बुधवार को राज्य के उच्च पहाड़ी इलाकों में कल से दो दिनों तक भारी बारिश और भूस्खलन की आशंका जताई थी।

मौसम विभाग ने कहा था कि उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, पौड़ी, टीहरी, नैनीताल, अल्मोड़ा और पिथौरागढ़ जिलों में 25 जून की सुबह से भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के निदेशक आनंद शर्मा का कहना है कि उच्च पहाड़ी इलाकों में गुरुवार सुबह से भारी बारिश और भूस्खलन हो सकता है। उन्होंने चारधाम यात्रा पर गए श्रद्धालुओं को आवश्यक सावधानी बरतने की सलाह दी है।
   

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो



comments powered by Disqus

© 1998-2015 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved.