इस देश में मिला 10 करोड़ साल पुराना गड्ढा, उल्‍कापिंड के टकराने से बना

पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में 10 करोड़ साल पुराना उल्का पिंड का गड्ढा (Meteorite Crater) मिला है.

इस देश में मिला 10 करोड़ साल पुराना गड्ढा, उल्‍कापिंड के टकराने से बना
ऑस्‍ट्रेलिया में मिला क्रेटर (ट्विटर)

नई दिल्‍ली: पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में 10 करोड़ साल पुराना उल्कापिंड का गड्ढा (Meteorite Crater) मिला है. यह गड्ढा तब मिला जब एक खनन कंपनी सोना निकालने के लिए ड्रिलिंग कर रही थी. 

इस क्रेटर का व्यास 5 किमी है. विशेषज्ञों को यह क्रेटर इलेक्‍ट्रोमैगनेटिक सर्वे का उपयोग करने से मिला है. क्रेटर कलगुरली-बोल्डर के उत्तर-पश्चिम में ओरा बांदा के गोल्डफील्ड्स खनन शहर के पास है. 

अनुमान है कि यह क्रेटर किम्बरले के प्रसिद्ध वोल्फ क्रीक क्रेटर (Wolfe Creek Crater) से भी पांच गुना बड़ा हो सकता है. 5 किमी व्‍यास वाले इस क्रेटर को दुनिया का सबसे बड़ा मिटियोराइट क्रेटर माना जा रहा है.

ये भी पढ़ें: सबसे ज्यादा कोरोना टेस्ट करवाने वाला दूसरा देश बना भारत, अब तक इतने नमूनों की हुई जांच

जियोलॉजिस्‍ट और जियोफिजिसिस्‍ट डॉ. जैसन मेयर्स ने कहा है कि यह खोज महत्वपूर्ण और अप्रत्याशित है. उन्‍होंने कहा, 'यह खोज एक ऐसे क्षेत्र में हुई है जहां परिदृश्य बहुत सपाट है. आपको पता ही नहीं चलेगा कि ये वहां था क्‍योंकि यह क्रेटर इतने सालों से भरा हुआ था.' मेयर्स के अनुसार इस खोज से और भी खोजें करने में मदद मिल सकती है. 

उन्‍होंने आगे कहा, 'शायद वहां से और भी कुछ बाहर निकले. हमने जितना सोचा है शायद उससे अधिक क्षुद्रग्रहों (Asteroids) की वहां टक्‍कर हुई हो, अगर हम अधिक से अधिक को पहचानना शुरू करते हैं, तो पूरा परिदृश्य ही बदलना शुरू हो जाता है.' 

मेयर्स ने कहा कि और अधिक खोजों से वैज्ञानिकों को उल्‍कापिंडों के पृथ्‍वी से टकराने को लेकर और बेहतर भविष्‍यवाणियां करने में मदद मिल सकती है. क्‍योंकि यदि हम भूवैज्ञानिक इतिहास के बारे में अधिक समझ सकते हैं, तो हम यह भविष्यवाणी कर सकते हैं कि अगली घटना कब होगी या कोई अन्य क्षुद्रग्रह पृथ्‍वी से कब टकरा सकता है.

इस साल की शुरुआत में वैज्ञानिकों ने पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया के मध्य-पश्चिम में दुनिया का सबसे पुराना मिटियोराइट क्रेटर खोजा था. इसका नाम याराबुब्‍बा क्रेटर (Yarrabubba crater) है. माना जा रहा है कि यह 2.23 अरब वर्ष पुराना है.