मार्वल सुपरहीरोज के नाम पर रखे गए मक्खी की 5 प्रजातियों के नाम, जानिए पूरी खबर

मार्वल कॉमिक्स को श्रद्धांजलि देते हुए वैज्ञानिकों ने सुपरहीरोज के नाम पर मक्खियों की 5 प्रजातियों के साइंटिफिक नाम रखें हैं. कॉमनवेल्थ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (CSIRO)  ने एक रिपोर्ट में बताया कि मक्खी की ये 5 प्रजातियां 165 खोजों का हिस्सा हैं,

मार्वल सुपरहीरोज के नाम पर रखे गए मक्खी की 5 प्रजातियों के नाम, जानिए पूरी खबर
फोटो साभार: Twitter

सिडनी: ऑस्ट्रेलिया (Australia) के वैज्ञानिकों ने बुधवार को बताया कि उन्होंने मार्वल कॉमिक्स को श्रद्धांजलि देते हुए सुपरहीरोज के नाम पर मक्खियों की 5 प्रजातियों के साइंटिफिक नाम रखें हैं. कॉमनवेल्थ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (CSIRO)  ने एक रिपोर्ट में बताया कि मक्खी की ये 5 प्रजातियां उन 165 खोजों का हिस्सा हैं, जिनका पिछले साल वैज्ञानिकों ने नामकरण किया गया है. इसमें 2 मछलियां, चिड़ियों की 3 उप प्रजातियां शामिल हैं, एक छोटा कीड़ा जो छिपकली के ऊपर रहता है, वो भी इसमें शामिल है.

कीटविज्ञानी डॉ. ब्रायन लेसर्ड ने कहा, ‘किसी जीव की प्रजाति का नामकरण करने में पहला कदम उस प्रजाति के बारे में समझना है. बिना साइंटिफिक नाम के ये प्रजातियां साइंस के लिए अदृश्य हैं.’

CSIRO के मुताबिक, ‘स्टेनली के नाम वाली मक्खी का नामकरण करने के पीछे इस कॉमिक लीजेंड का चश्मा और सफेद मूछों का स्टाइल इस मक्खी से मिलता जुलता है, जबकि डेडपूल वाली मक्खी की पीठ के निशान बिलकुल उनके लाल और काले मास्क की तरह हैं.’

ये भी पढ़े- चमत्कार! डायनासोर युग से समुद्र में पड़े सूक्ष्मजीव वैज्ञानिकों ने कर दिए पुनर्जीवित

डेडपूल वाली मक्खी के बारे में बोलते हुए ब्रायन लेसर्ड ने बताया, ‘हमने Humorolethalis sergius नाम चुना था, ये बिलकुल लीथल ह्यूमर जैसा लगता है और लैटिन शब्द humorosus से निकला है, जिसका मतलब होता गीला या नम, और Lethalis का मतलब होता है मरा हुआ.’

CSIRO के अनुसार, ‘सभी पांचों मक्खियां हमलावर किस्म की मक्खियां हैं, कीड़ों की दुनिया के लिए वो हत्यारी हैं’. दो मक्खियों के नाम जहां सुपरहीरो डेडपूल और सुपरहीरो के रचनाकार स्टेनली के नाम पर हैं वहीं बाकी 3 मक्खियों के नाम मार्वल के किरदारों लोकी और ब्लैक विडो के नाम पर रखे गए हैं.

LIVE TV

सीएसआईआरओ की मधुमक्खी और ततैया विशेषज्ञ डा. जुनैटा रोड्रिग्ज कहती हैं, ‘नई प्रजातियों का नामकरण फन है लेकिन ये मानव जीवन और इन प्रजातियों को बचाने के लिए भी प्राणशक्ति की तरह काम करता है. हमने ततैया की एक नई प्रजाति खोजी थी स्पाइडर वास्प, ये केवल एक ही इलाके में पाई जाती है जो गर्मियों में बुश फायर से बुरी तरह प्रभावित था, अब हम सावधानी से इसकी रिकवरी पर नजर रख रहे हैं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘स्पाइडर वास्प में जो जहर होता है, वो अल्जाइमर और एपीलेप्सी जैसी बीमारियां दूर करने के काम आ सकता है.’