सावधान! इन संकेतों से समझिए, कहीं आपका वैवाहिक जीवन खतरे में तो नहीं

वैवाहिक रिश्ता प्यार और रोमांस से मजबूत होता है। लेकिन यदि आपको लग रहा कि कुछ बदलाव आ रहा है और स्थितियां पहले की तरह नहीं है, तो आपको सचेत होने की जरूरत है। रिश्तों को बनाने में सालों लगते है और टूटने में एक पल भी नहीं लगता। वैवाहिक रिश्तों में खटास और दूरियां के संकेत हमें मिलने लगते है लेकिन यह अलग बात है कि हम लापरवाही की वजह से इन पर ध्यान नहीं दे पाते। यदि आप अपने रिश्तों को टूटने से बचाना चाहते हैं तो उन संकेतों को समझने की कोशिश करें, जिनसे दूरियां बढ़ने का पता चलता है। इन कारणों के जरिए आप इसका पता लगा सकते है।  

सावधान! इन संकेतों से समझिए, कहीं आपका वैवाहिक जीवन खतरे में तो नहीं
फाइल फोटो (प्रतीकात्मक)

नई दिल्ली: वैवाहिक रिश्ता प्यार और रोमांस से मजबूत होता है। लेकिन यदि आपको लग रहा कि कुछ बदलाव आ रहा है और स्थितियां पहले की तरह नहीं है, तो आपको सचेत होने की जरूरत है। रिश्तों को बनाने में सालों लगते है और टूटने में एक पल भी नहीं लगता। वैवाहिक रिश्तों में खटास और दूरियां के संकेत हमें मिलने लगते है लेकिन यह अलग बात है कि हम लापरवाही की वजह से इन पर ध्यान नहीं दे पाते। यदि आप अपने रिश्तों को टूटने से बचाना चाहते हैं तो उन संकेतों को समझने की कोशिश करें, जिनसे दूरियां बढ़ने का पता चलता है। इन कारणों के जरिए आप इसका पता लगा सकते है।  

शारिरिक संकेतों को समझने की कोशिश

अपने साथी के शारिरिक संकेतों को समझने की कोशिश करिए। क्या आपका पार्टनर पहले की तरह आप पर ध्यान नहीं दे रहा और आपकी बातों में रूचि नहीं ले रहे हैं? आप व्यक्त करना चाहें या नहीं लेकिन आपके शारिरिक संकेत बहुत कुछ कह देतें हैं। लगातार हो रही बेरूखी खतरे की घंटी हो सकती है।

प्रेम और लगाव की कमी

पति-पत्नी के बीच प्रेम और लगाव की कमी भी रिश्तों में दूरियों के बढ़ने के संकेत है। पहले जैसे प्यार की गरमाहट अब कहीं ढूंढने से भी नजर नहीं आ रही तो समझिए कि यह खतरे का संकेत है। पार्टनर या शादीशुदा जोड़े के बीच कम होता प्यार या रोमांस रिश्तों में दूरियों का संकेत होता है।

बदलता व्यवहार

व्यवहार में बदलाव आपके बीच दूरियां बढ़ने का अहम संकेत है। बातों पर ध्यान नहीं देना, गंभीर बातों को सुनकर भी अनसुना करना, बातों का जवाब झुंझलाकर देना और बेवजह गुस्सा होना आदि , अगर ये सारे लक्षण हैं तो आप समझ लें कि ये खतरे की घंटी है।

अंतरंग पलों का खत्म होना

यदि आपका साथी आपके साथ अंतरंग पल नहीं बिताना को इच्छुक है तो समझे कि दूरियां बढ़ रही हैं। ऐसी स्थिति आपके रिश्ते के लिए खतरे की घंटी हो सकती है। क्योंकि वैवाहिक जीवन में ऐसा होना दूरियां बढ़ने का संकेत होता है।  

व्यक्तित्व में बदलाव

यदि आपको ऐसा लगता है कि आपका पार्टनर दिन-प्रतिदिन कुछ बदल रहा है। अगर आप यह देखें की आपके पार्टनर का व्यवहार पहले जैसा नहीं है तो समझिए यह खतरे की घंटी है और कहीं ना कहीं कुछ ना कुछ गड़बड़ जरूर है।

अगर आप वाकई अपने संबंधों को सुधारना चाहते हैं तो सबसे पहले उसके कारणों को समझने की कोशिश करें। आप अपनी कोशिशों से संबंध को दोबारा खड़ा तो कर सकते हैं लेकिन उसे आगे तक लेकर जाना आपके अकेले की बात नहीं होती है। इसके लिए आप दोनों को ही प्रयास करने की जरूरत होगी। अगर आपका पार्टनर आपका साथ नहीं देगा तो आप अकेले दम पर कुछ भी नहीं कर सकते। रिश्ते की मजबूती के लिए समझबूझ का होना भी जरूरी है।

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.