बिल्ली के साथ रहने से नहीं होता है मानसिक विकार का खतरा: अध्ययन

गर्भावस्था के दौरान या बचपन में बिल्ली पालने से किसी भी तरह की मानसिक बीमारी का प्रत्यक्ष खतरा नहीं है। इस नये अध्ययन में पूर्व के अनुसंधानों पर प्रकट किए गए संशय को केंद्र में रखा गया था जिसमें कहा गया था कि बिल्लियों के साथ रहने से मानसिक बीमारी का खतरा बहुत अधिक होता है।

बिल्ली के साथ रहने से नहीं होता है मानसिक विकार का खतरा: अध्ययन
फाइल फोटो- प्रतीकात्मक

लंदन: गर्भावस्था के दौरान या बचपन में बिल्ली पालने से किसी भी तरह की मानसिक बीमारी का प्रत्यक्ष खतरा नहीं है। इस नये अध्ययन में पूर्व के अनुसंधानों पर प्रकट किए गए संशय को केंद्र में रखा गया था जिसमें कहा गया था कि बिल्लियों के साथ रहने से मानसिक बीमारी का खतरा बहुत अधिक होता है।

हाल के अनुसंधान में कहा गया था कि बिल्ली रखने से कुछ प्रकार के मानसिक विकार उत्पन्न हो सकते हैं क्योंकि बिल्लियों में टोकसोपलसमा गोंदी पाये जाते हैं, जिसका सीधा संबंध सिजोफ्रेनिया जैसी मानसिक समस्याओं से है। ब्रिटेन के यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ लंदन के अनुसंधानकर्ताओं के नये अध्ययन में यह कहा गया है कि गर्भावस्था या बचपन में बिल्ली के साथ रहने से किशोरावस्था के दौरान मानसिक विकार उत्पन्न होने का खतरा नहीं होता है। इस अध्ययन का प्रकाशन साइकोलॉजिकल मेडिसिन जर्नल में हुआ है।