close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तारे के कारण धूमकेतु टकरा सकते हैं धरती से

वैज्ञानिकों का कहना है कि 24 तारे हमारे सौर मंडल की ओर बढ़ रहे और ऐसे में अगले लाखों सालों में वे धूमकेतुओं को छितरा सकते हैं , फलस्वरुप वे धरती से टकरायेंगे.जर्मनी के मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट ऑफ एस्ट्रोनोमी के अनुसंधानकर्ताओं ने इस बात की गणना की कि कैसे तारे भटककर आउर्ट क्लाड में पहुंच जाते हैं . आउर्ट क्लाउड सौर तंत्र के चारों ओर बर्फीली वस्तुओं का एक आवरण है.

तारे के कारण धूमकेतु टकरा सकते हैं धरती से
इस टीम ने अनुमान लगाया कि अगले दस लाख सालों में करीब 19-24 तारे 3.26 प्रकाश वर्ष दूरी के अंदर आ जायेंगे (फाइल फोटो)

लंदन: वैज्ञानिकों का कहना है कि 24 तारे हमारे सौर मंडल की ओर बढ़ रहे और ऐसे में अगले लाखों सालों में वे धूमकेतुओं को छितरा सकते हैं , फलस्वरुप वे धरती से टकरायेंगे.जर्मनी के मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट ऑफ एस्ट्रोनोमी के अनुसंधानकर्ताओं ने इस बात की गणना की कि कैसे तारे भटककर आउर्ट क्लाड में पहुंच जाते हैं . आउर्ट क्लाउड सौर तंत्र के चारों ओर बर्फीली वस्तुओं का एक आवरण है.

अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि बिल्कुल इतने करीब आने से ये तारे चक्कर काट रहे इन धूमकेतुओं को इतना तेज धक्का दे सकते हैं वे सौरमंडल के अंदर आ सकते हैं और ऐसे में उनके धरती से टकराने का जोखिम पैदा होगा.

इस टीम ने अनुमान लगाया कि अगले दस लाख सालों में करीब 19-24 तारे 3.26 प्रकाश वर्ष दूरी के अंदर आ जायेंगे, यानी इतने नजदीक आ जायेंगे कि धूमकेतुओं को अपने रास्ते से भटका सकते हैं.

मैक्स प्लांक के कोरिन बैलर जोंस ने ‘गार्डियन’से कहा, ‘‘इस दूरी पर किसी वस्तु के आने से निश्चित ही आपको चिंता होनी चाहिए. ’’यह अध्ययन अस्ट्रोनोमी एंड एस्ट्रोफीजिक्स जर्नल में प्रकाशित हुआ है.