close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अंतरिक्ष में एक-एक कर कैसे रॉकेट से अलग हुए सैटेलाइट? इसरो ने जारी किया अद्भुत और रोमांचक VIDEO

इसरो ने बुधवार को पीएसएलवी-सी37 रॉकेट से 104 सैटलाइट लॉन्च कर इतिहास रचा था। लॉन्च का वीडियो तो आपने देखा होगा, लेकिन आपको यह नहीं पता होगा कि इस रॉकेट पर एक सेल्फी कैमरा (ऑनबोर्ड कैमरा) भी लगा हुआ था, जिसने सभी सैटेलाइट्स के कक्षा में स्थापित होने के वीडियो को रिकॉर्ड किया। अब इसरो ने इस फुटेज को जारी किया है और यह फुटेज अब सामने आया है। इसमें अंतरिक्ष में धरती की खूबसूरत तस्वीरें भी देखी जा सकती है। फुटेज में साफ नजर आ रहा है कि कैसे एक-एक कर सभी सैटलाइट्स रॉकेट से अलग हो रहे हैं।

अंतरिक्ष में एक-एक कर कैसे रॉकेट से अलग हुए सैटेलाइट? इसरो ने जारी किया अद्भुत और रोमांचक VIDEO

नई दिल्ली: इसरो ने बुधवार को पीएसएलवी-सी37 रॉकेट से 104 सैटलाइट लॉन्च कर इतिहास रचा था। लॉन्च का वीडियो तो आपने देखा होगा, लेकिन आपको यह नहीं पता होगा कि इस रॉकेट पर एक सेल्फी कैमरा (ऑनबोर्ड कैमरा) भी लगा हुआ था, जिसने सभी सैटेलाइट्स के कक्षा में स्थापित होने के वीडियो को रिकॉर्ड किया। अब इसरो ने इस फुटेज को जारी किया है और यह फुटेज अब सामने आया है। इसमें अंतरिक्ष में धरती की खूबसूरत तस्वीरें भी देखी जा सकती है। फुटेज में साफ नजर आ रहा है कि कैसे एक-एक कर सभी सैटलाइट्स रॉकेट से अलग हो रहे हैं।

गौर हो कि पीएसएलवी रॉकेट की यह 39वीं उड़ान थी। इसका वजन 320 टन और ऊंचाई 44.2 मीटर है। यह रॉकेट 15 मंजिल इमारत जितना ऊंचा है। कुल 104 सैटलाइट्स में भारत के तीन सैटलाइट्स के अलावा अमेरिका के 96, जिसमें सैन फ्रांसिस्को की एक कंपनी प्लेनेट के 88 छोटे सैटलाइट्स शामिल थे। इसके अलावा इस्राइल, कजाकिस्तान, नीदरलैंड्स, स्विट्जरलैंड और यूएई के छोटे सैटलाइट्स स्पेस में भेजे गए थे। अंतरिक्ष में भारत के इस अनोखे रिकॉर्ड की पूरी दुनिया में वाहवाही हो रही है।

और पढ़ें: अंतरिक्ष में भारतीय मिशन की सबसे बड़ी कामयाबी : ISRO ने एक साथ रिकॉर्ड 104 सैटेलाइट का प्रक्षेपण कर रचा इतिहास