NASA की बड़ी कामयाबी, ब्रह्मांड में एक और पृथ्वी बनाने में मिलेगी मदद!

नासा (NASA) की सैटेलाइट टेस (TESS) ने पृथ्वी के आकार के एक ग्रह की खोज कर ली है. नासा के एस्ट्रोफिजिक्स के प्रभागीय निदेशक पॉल हर्ट्ज के मुताबिक, 'टेस को खास तौर पर पृथ्वी के आकार के ऐसे ग्रहों की पड़ताल करने के लिए बनाया गया था जो नजदीकी तारों का चक्कर काट रहा हो.'

NASA की बड़ी कामयाबी, ब्रह्मांड में एक और पृथ्वी बनाने में मिलेगी मदद!
पृथ्वी जैसे रहने काबिल ग्रह का मिला पता.

नई दिल्ली: नासा (NASA) की सैटेलाइट टेस (TESS) ने पृथ्वी के आकार के एक ग्रह की खोज कर ली है. वैज्ञानिकों ने इस बात की पुष्टि करते हुए इसे ‘TOI 700 d’ का नाम दिया है. स्पेस डॉट कॉम के मुताबिक TOI 700 d केवल कुछ पृथ्वी के आकार के ग्रहों में से एक है जो अब तक किसी तारे के रहने योग्य क्षेत्र में खोजा गया है. नासा के मुताबिक पृथ्वी से इसकी दूरी 100 प्रकाश वर्ष है.

नासा के एस्ट्रोफिजिक्स के प्रभागीय निदेशक पॉल हर्ट्ज के मुताबिक, 'टेस को खास तौर पर पृथ्वी के आकार के ऐसे ग्रहों की पड़ताल करने के लिए बनाया गया था जो नजदीकी तारों का चक्कर काट रहा हो.' TESS एक समय में 27 दिनों के लिए आकाश के बड़े क्षेत्रों की निगरानी करता है. 

यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो के एमिली गिलबर्ट का कहना है कि जब हमने तारे के कई पहलुओं की जांच की तो पाया कि इससे चक्कर काटने वाले ग्रहों के आकार भी कम हो गए. इसके बाद ही हमें पता लगा कि सबसे बाहरी कक्षा में घूम रहे ग्रह का आकार पृथ्वी के बराबर है. हालांकि फिर स्पित्जर स्पेस टेलीस्कोप ने भी इस बात की पुष्टि की. 

बता दें कि टेस अंतरिक्ष के एक ऐेसे इलाके में तैनात था जहां से ये दिखाई देता है कि तारे के सामने से कौन सा ग्रह गुजरा है. टेस इसी से ग्रहों के बारे में जानकारी निकालता है. 

ये भी देखें-: