अब फेसबुक में नहीं रमता युवाओं का मन

किशोरों का ज्यादातर समय अब फेसबुक की जगह त्वरित संदेश वाले एप्लीकेशनों पर बीतता है। यह बात 32 देशों के 170,000 इंटरनेट उपभोक्ताओं पर किए गए एक शोध में सामने आई है।

अब फेसबुक में नहीं रमता युवाओं का मन

नई दिल्ली : किशोरों का ज्यादातर समय अब फेसबुक की जगह त्वरित संदेश वाले एप्लीकेशनों पर बीतता है। यह बात 32 देशों के 170,000 इंटरनेट उपभोक्ताओं पर किए गए एक शोध में सामने आई है।

अमेरिका और ब्रिटेन के 16 से 19 साल के 66 फीसदी किशोरों ने माना कि वह फेसबुक का प्रयोग अब कम करते हैं। बाजार अनुसंधान कंपनी ग्लोबल वेब इंडेक्स (जीड्ब्ल्यूआई) द्वारा जारी रिपोर्ट '2014 की तीसरी तिमाही के लिए सोशल सारांश' में बताया गया कि हालांकि किशोरों ने अभी तक पूरी तरह से सोशल नेटवर्किं ग साइट को अलविदा नहीं कहा है, लेकिन एक दूसरे से बातचीत कम कर दी है, और यह समूह अब इसके प्रति अधिक निष्क्रिय हो गया है।

शोध में बताया गया कि भले ही फेसबुक के पास उपभोक्ताओं की संख्या अधिक हो, लेकिन पिछले दो सालों में तस्वीर साझा करने और संदेश भेजने में 20 फीसदी की कमी आई है। स्ट्रीट इन्साइडर डॉट कॉम की रपट के मुताबिक, तकरीबन 30 फीसदी किशोरों का कहना है कि वे अब फेसबुक का प्रयोग बहुत नहीं करते, क्योंकि उनके दोस्त इंस्टाग्राम और अन्य संदेश एप्लीकेशनों का प्रयोग कर रहे हैं। किशोरों के बीच में स्नैपचैट सबसे ज्यादा लोकप्रिय एप्लीकेशन के तौर पर उभरी है।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.