close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Zee जानकारी : आसमान में उड़ने की आपके सपने को सच करेगी फ्लाइंग कार

जल्द ही आप एक ऐसी कार खरीद पाएंगे जो उड़ने भी सक्षम होगी। इस फ्लाइंग कार का नाम है PAL-V Liberty। ये कोई भविष्य की कार नहीं है बल्कि वर्तमान की सच्चाई है, Liberty नामक इस कार की बुकिंग शुरू हो चुकी है और वर्ष 2018 में इसकी डिलिवरी भी शुरू हो जाएगी। इस कार का निर्माण एक डच कंपनी ने किया है। और ये दुनिया की पहली ऐसी कॉमर्शियल फ्लाइंग कार है, जिसे लोग खरीद सकते हैं। लेकिन इस कार की कीमत इतनी ज्यादा है कि हर कोई इसे नहीं खरीद सकता। इस कार का निर्माण करने वाली कंपनी PAL-V ने इसकी कीमत करीब 4 करोड़ रुपये रखी है, अगले साल इस कार का एक सस्ता मॉडल भी लॉन्च किया जाएगा लेकिन उसकी कीमत भी करीब 2 करोड़ 70 लाख रुपये होगी। 

Zee जानकारी : आसमान में उड़ने की आपके सपने को सच करेगी फ्लाइंग कार

नई दिल्ली : जल्द ही आप एक ऐसी कार खरीद पाएंगे जो उड़ने भी सक्षम होगी। इस फ्लाइंग कार का नाम है PAL-V Liberty। ये कोई भविष्य की कार नहीं है बल्कि वर्तमान की सच्चाई है, Liberty नामक इस कार की बुकिंग शुरू हो चुकी है और वर्ष 2018 में इसकी डिलिवरी भी शुरू हो जाएगी। इस कार का निर्माण एक डच कंपनी ने किया है। और ये दुनिया की पहली ऐसी कॉमर्शियल फ्लाइंग कार है, जिसे लोग खरीद सकते हैं। लेकिन इस कार की कीमत इतनी ज्यादा है कि हर कोई इसे नहीं खरीद सकता। इस कार का निर्माण करने वाली कंपनी PAL-V ने इसकी कीमत करीब 4 करोड़ रुपये रखी है, अगले साल इस कार का एक सस्ता मॉडल भी लॉन्च किया जाएगा लेकिन उसकी कीमत भी करीब 2 करोड़ 70 लाख रुपये होगी। 

Liberty एक तीन पहियों वाली कार है, जिसे 10 मिनट के अंदर उड़ान भरने के लिए तैयार किया जा सकता है। सड़क पर इस कार की अधिकतम स्पीड 160 किलोमीटर प्रति घंटा होगी जबकि आसमान में ये कार करीब 140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ सकती है। एक बार फ्यूल टैंक को फुल करवाने पर ये कार सड़क पर 1 हज़ार 315 किलोमीटर का सफर तय कर सकती है। जबकि आसमान में उड़ान भरने की इसकी रेंज 400 किलोमीटर तक है। इस कार में सिर्फ 2 लोग बैठ सकते हैं और इसे उड़ाने वाले को ड्राइविंग लाइसेंस के साथ साथ स्पोर्ट्स पायलट सर्टिफिकेट भी लेना होगा। इस फ्लाइंग कार का निर्माण करने वाली कंपनी शुरुआत में सिर्फ 90 कार्स ही बेचेगी। इनमें से आधी से ज्यादा यूरोप में बेची जाएगी, जबकि 25 फ्लाइंग कार्स नॉर्थ अमेरिका के लोग खरीद पाएंगे। ये कार ऐसे लोगों के लिए फायदेमंद होगी जिनके पास वक्त की बहुत कमी होती है। 

इस कार के मालिक को कभी ट्रैफिक जाम या खराब रास्ते की वजह से कहीं पहुंचने में देर नहीं होगी। वो जब चाहे इस कार को फ्लाइंग कार में बदलकर मंजिल तक पहुंच सकता है। अगर इस कार की कीमत सुनकर आप निराश हो गए हैं और आपको लगता है कि ज़्यादा कीमत की वजह से आप कभी फ्लाइंग कार में उड़ान नहीं भर पाएंगे, तो आपको निराश होने की ज़रूरत नहीं है। क्योंकि हवा में उड़ान भरने के लिए आपके पास एक सस्ता विकल्प भी आने वाला है, और वो भी फ्लाइंग कार से काफी पहले। हम ड्रोन टैक्सी की बात कर रहे हैं। 

दुबई में जुलाई महीने से ड्रोन टैक्सी सर्विस शुरू हो जाएगी। इस ड्रोन टैक्सी का नाम है Ehang 184। इस ड्रोन टैक्सी का निर्माण चीन की एक कंपनी ने किया है। इस ड्रोन में एक बार में एक व्यक्ति बैठ सकता है और इसके लिए किसी तरह के पायलट सर्टिफिकेट की ज़रूरत नहीं होगी। ड्रोन टैक्सी में एक टैबलेट कंप्यूटर लगा होगा, जिसकी मदद से आपको अपनी मंज़िल का चुनाव करना होगा। 

डेस्टिनेशन का चुनाव करने के बाद ड्रोन उड़ान भरने के लिए तैयार हो जाएगा। ये ड्रोन 30 मिनट तक उड़ान भर सकता है और ये एक बार में 25 किलोमीटर का सफर तय कर सकता है। इस ड्रोन में आप अपने साथ एक छोटा बैग भी ले जा सकते हैं। Drone 184 टैक्सी के रूप में उड़ेगा। इसलिए इससे सफर करना फ्लाइंग कार के मुकाबले सस्ता होगा। ये ड्रोन हमेशा एक कंट्रोल रूम से जुड़ा रहेगा और अगर मौसम में कोई खराबी आती है। तो कंट्रोल रूम इसे उड़ान भरने की इजाजत नहीं देगा। 

वैसे यहां आपके दिमाग में ये सवाल भी ज़रूर उठ रहा होगा कि क्या फ्लाइंग कार्स और ड्रोन टैक्सी को दुनिया के सभी देशों में इजाजत मिल पाएगी। हम आपको इस सवाल का जवाब भी देंगे, लेकिन पहले हम आपको भविष्य के इस ट्रांस्पोर्ट सिस्टम की एक झलक दिखाएंगे। 

दुनिया की पहली कॉमर्शियल फ्लाइंग कार लिबर्टी और पहली ड्रोन टैक्सी Ehang 184 पर हमनें एक वीडियो विश्लेषण तैयार किया है। अगर आप भी भविष्य की दुनिया की सैर करना चाहते हैं तो आपको हमारा ये विश्लेषण ज़रूर देखना चाहिए। ड्रोन टैक्सी और फ्लाइंग कार आने वाले समय में यातायात के सभी तौर तरीकों को बदलने की क्षमता रखते हैं। भारत जैसे देशों में ड्रोन टैक्सी और फ्लाइंग कार एक वरदान साबित हो सकती हैं। क्योंकि यहां के लोगों का बहुत सारा वक़्त ट्रैफिक जाम में बर्बाद होता है। 

सवाल ये है कि क्या फ्लाइंग कार्स और ड्रोन टैक्सी को दुनिया के सभी देश उड़ान भरने की इजाजत देंगे, तो आपको बता दें कि ये एक जटिल सवाल है और इसके बारे में कुछ निश्चित तौर पर नहीं कहा जा सकता है। फिलहाल इसका एक जवाब ये है कि जब फ्लाइंग कार और ड्रोन टैक्सी को किसी देश में लॉन्च किया जाएगा, तो उसे दो विभागों से इजाजत लेनी होगी। पहला विभाग होगा सड़क एवं परिवहन विभाग जो उसे किसी दूसरे सामान्य वाहन की तरह सड़क पर चलने की इजाजत देगा। इसके लिए फ्लाइंग कार चलाने वाले को उन सभी नियमों का पालन करना होगा, जिनका पालन किसी सामान्य कार को चलाने के लिए करना पड़ता है। दूसरा विभाग होगा  एयर ट्रैफिक कंट्रोलर जो कार या ड्रोन की उड़ान के वक्त उस पर नज़र रखेगा। ऐसे में कार या ड्रोन उड़ाने वाले को उन सभी नियमों का पालन करना होगा, जिनका पालन किसी छोटे विमान को उड़ाने के दौरान किया जाता है। ये एक जटिल विषय है और हर देश अपनी सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रख कर इस पर फैसला लेगा। वैसे जैसे-जैसे सड़क पर ट्रैफिक का दबाव बढ़ेगा। वैसे-वैसे ज्यादातर देशों को फ्लाइंग कार्स और ड्रोन टैक्सी जैसे विकल्प अपनाने पड़ेंगे।