close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ज़ी स्पेशल

बात फि‍जूल की: हम किस दिशा में जा रहे हैं... सोनाक्षी के बहाने ही सही, लेकिन सोचिए ज़रूर

बात फि‍जूल की: हम किस दिशा में जा रहे हैं... सोनाक्षी के बहाने ही सही, लेकिन सोचिए ज़रूर

जब नई पीढ़ी के संस्कारों का रास्ता आपने बदला तो फिर वो पीढ़ी अपने आराध्य राम की लीला भूल गई, फिर उस पीढ़ी से कैसी शिकायत? अब स्कूलों के सिलेबस से रामलीलाएं धीरे-धीरे खत्म होती जा रही हैं तो फिर सोनाक्षी सिन्हा का क्या दोष?

राकेश तनेजा | Sep 21, 2019, 03:41 PM IST
...और 1 करोड़ का सवाल बन गया दारा शिकोह

...और 1 करोड़ का सवाल बन गया दारा शिकोह

दारा शिकोह को देश की 95 फीसदी से ज्यादा आबादी जानती भी नहीं होगी क्योंकि वो हारा हुआ था या यूं कहें कि उसे हराया गया था और जीतने वाले ने इतिहास में उसे ज्यादा जगह नहीं लेने दी. आज अचानक ये नाम सुर्खियां बटोरने लगा तो भी उसका कारण यही है कि आज के विजेता उसे सुर्खियों में लाना चाहते हैं.

राकेश तनेजा | Sep 12, 2019, 04:08 PM IST

अन्य ज़ी स्पेशल

डियर जिंदगी: रेगिस्तान होने से बचना!

डियर जिंदगी: रेगिस्तान होने से बचना!

शहर में हमारे घर आंगन एक दूसरे से इतने अलग और बंटे हुए हैं कि कब वहां सुख और दुख 'हमारे' ना होकर 'मेरे और तुम्हारे' में बदल जाते हैं, हम नहीं समझ पाते.

 

दयाशंकर मिश्र | Jan 31, 2019, 08:30 AM IST
पद्मश्री बाबूलाल दाहिया : देसी अन्नों का देहाती विश्वामित्र

पद्मश्री बाबूलाल दाहिया : देसी अन्नों का देहाती विश्वामित्र

दाहिया जी को यह सम्मान पारंपरिक बीजों के संरक्षण और उनकी खेती के विस्तार को प्रोत्साहन देने के लिए मिला है. वे पिछले पंद्रह सालों से देसी बीजों की तलाश में पूरा देश घूम चुके हैं. बाबूलाल एक साथ दस काम ओढ़े हुए चलते हैं.

जयराम शुक्ल | Jan 30, 2019, 04:43 PM IST
गांधी पुण्यतिथि: गांधी को समझने का काल

गांधी पुण्यतिथि: गांधी को समझने का काल

अमेरिकी राज्य सचिव, (विदेश मंत्री) ने कहा, 'महात्मा गांधी सारी मानव जाति की अंतरात्मा के प्रवक्ता थे.'

चिन्मय मिश्र | Jan 30, 2019, 11:56 AM IST
डियर जिंदगी: ‘ऐसा होता आया है’ से मुक्ति!

डियर जिंदगी: ‘ऐसा होता आया है’ से मुक्ति!

जिंदगी में कुछ भी हासिल करने का संबंध केवल योग्‍यता से नहीं. उस योग्‍यता को साहस, डटे रहने और हिम्‍मत नहीं हारने का साथ सबसे जरूरी है!

दयाशंकर मिश्र | Jan 30, 2019, 08:23 AM IST
खट्टे फल जिन्होंने इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड का भाग्य बदल दिया!

खट्टे फल जिन्होंने इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड का भाग्य बदल दिया!

उस ज़माने में सुदूर तटों के सफर पर निकलने वाले जहाजों के चालक दल के आधे से ज्यादा सदस्य सफर के दौरान मर जाते थे. इन मौतों की वजह एक रहस्यमय बीमारी थी. 

डियर जिंदगी: कुछ धीमा हो जाए...

डियर जिंदगी: कुछ धीमा हो जाए...

धीमा होना कोई खराब चीज़ नहीं. न चलना ठीक नहीं. लेकिन धीमे होने में कोई बुराई नहीं. सबसे जरूरी केवल चलते जाना है!

दयाशंकर मिश्र | Jan 29, 2019, 08:17 AM IST
किस्सा-ए-कंज्यूमर : ATM फेल और बैंकों का 'खेल'

किस्सा-ए-कंज्यूमर : ATM फेल और बैंकों का 'खेल'

बैंकों के 'कंडीशंस अप्लाई' की तिकड़म में कंज्यूमर ऐसा उलझता है कि अपना ही कैश वापस लेने के लिए केस लड़ना पड़ता है. कुछ जरूरी बातों की जानकारी हो तो इस लड़ाई में आपकी जीत होती है लेकिन अगर चूक हो गईं तो पैसे गए समझो.

गिरिजेश कुमार | Jan 28, 2019, 11:42 PM IST
डियर जिंदगी: मन को मत जलाइए, कह दीजिए !

डियर जिंदगी: मन को मत जलाइए, कह दीजिए !

आपको जिससे भी परेशानी है , उससे बात कीजिए. अपनी बात सही तरीके से, लेकिन शांति, सौम्यता से रखिए.

दयाशंकर मिश्र | Jan 28, 2019, 10:57 AM IST
कृष्णा सोबती: स्त्री की आजादी और साहित्यकार के संघर्ष की लंबी कहानी

कृष्णा सोबती: स्त्री की आजादी और साहित्यकार के संघर्ष की लंबी कहानी

रेणु की तरह कृष्णा जी अपने उस जमाने की उपज हैं जिसकी मिट्टी और पानी से उनका जीवन सजा-संवरा है. यह कृतज्ञता इतनी गहरी है कि वे बार-बार उसका कर्ज चुकाने को उद्यत जैसी रहती हैं, ठीक रेणु की तरह.  

हमारे लिए देश सर्वोपरि है...

हमारे लिए देश सर्वोपरि है...

कहते हैं राजनीति का आईना बड़ा धुंधला होता है. वैसे तो राजनीति हमेशा से ही समझ से परे की बात रही है, लेकिन आज तो राजनीति की परिभाषा ही बदल गई है.

रेखा गर्ग | Jan 25, 2019, 01:52 PM IST
डियर जिंदगी: 'कम' नंबर वाले बच्‍चे की तरफ से!

डियर जिंदगी: 'कम' नंबर वाले बच्‍चे की तरफ से!

अपने बच्‍चे को हम सबसे बेहतर बनाना चाहते हैं. हम उसे वह बनाना चाहते हैं, जो हम कभी नहीं बन पाए!

दयाशंकर मिश्र | Jan 25, 2019, 08:44 AM IST
बिहार से पलायन को कभी तो गंभीरता से सोचना पड़ेगा

बिहार से पलायन को कभी तो गंभीरता से सोचना पड़ेगा

बिहार पिछले कई सालों से कई विकसित राज्यों को पछाड़कर विकास दर के मामले में पहले स्थान पर बना हुआ है. लेकिन वास्तव में यह लोगों के जीवन को कितना बेहतर कर पा रहा है. अभी भी बिहार में विकास का मतलब बेहतर सड़कें, बिजली और कुछ हद तक अपराध पर नियंत्रण तक ही सीमित हैं. इससे आगे बेहतर स्वास्थ्य, शिक्षा, औद्योगीकरण, नौकरियां और बेहतर कामकाजी माहौल के बारे में कोई चर्चा ही नहीं होती है.

राहुल कुमार | Jan 24, 2019, 09:25 PM IST
तिनका तिनकाः जेपी की जेल डायरी और जेलों में एकाकीपन

तिनका तिनकाः जेपी की जेल डायरी और जेलों में एकाकीपन

इमरजेंसी की घोषणा के साथ ही 25 जून की आधी रात को गांधी शांति प्रतिष्ठान से पहली गिरफ्तारी जेपी की ही हुई और उसके साथ ही पूरे देश से कई नेता गिरफ्तार कर लिए गए.

वर्तिका नंदा | Jan 24, 2019, 12:55 PM IST
डियर जिंदगी: चलिए, माफ किया जाए!

डियर जिंदगी: चलिए, माफ किया जाए!

प्रेम को बचाए, बनाए रखने के लिए हमेशा जान देने की जरूरत नहीं होती, उसे ‘शांतिकाल’ में भी स्‍नेह चाहिए. माफी की आदत जितनी जल्‍दी हमारा स्‍वभाव बनेगी, हम तनाव, कुंठा से उतनी जल्‍दी बाहर निकलेंगे.

दयाशंकर मिश्र | Jan 24, 2019, 09:11 AM IST
डियर जिंदगी: शोर नहीं संकेत पर जोर!

डियर जिंदगी: शोर नहीं संकेत पर जोर!

हम असल में क्‍या चाहते हैं, उस तक बहुत कम पहुंच पाते हैं. अपनी मंजिलों से हम अक्‍सर दूसरों के आकर्षण में भटकते हैं!

दयाशंकर मिश्र | Jan 23, 2019, 08:27 AM IST
किस्सा-ए-कंज्यूमर : मोबाइल बिल दा मामला है!

किस्सा-ए-कंज्यूमर : मोबाइल बिल दा मामला है!

सुनिए वो किस्सा जब कंज्यूमर की जेब काटते हुए एक टेलीकॉम कंपनी रंगे हाथों पकड़ी गई और उसे लेने के देने पड़ गए.

गिरिजेश कुमार | Jan 22, 2019, 11:03 PM IST
आत्मा का आलाप

आत्मा का आलाप

यहां रचने की छटपटाहट और आनंद है, तो द्वंद्व और सवाल भी हैं. इन्हीं सबको मथते हुए विचार की कुछ चिंगारियाँ फूटती हैं. कुछ निष्कर्ष हाथ आते हैं. पहेली-सा जीवन कुछ सार समेटे नई भाषा और भंगिमा में संबोधित होने लगता है.

विनय उपाध्याय | Jan 22, 2019, 10:57 PM IST
क्या गंगा एक ‘बाथटब’ है?

क्या गंगा एक ‘बाथटब’ है?

कुंभ लग गया है. अच्छे से चल रहा है. सरकार ने 3200 हेक्टेयर ज़मीन पर लगने वाले इस विश्व के सबसे बड़े जमावड़े के लिए 4200 करोड़ रुपए का बजट तय किया है.

पंकज रामेंदु | Jan 22, 2019, 09:50 PM IST
क्या 2019 चुनाव में यूपी में डोमिनेंट कास्ट नहीं, वोट बैंक होंगी 'अगड़ी जातियां'

क्या 2019 चुनाव में यूपी में डोमिनेंट कास्ट नहीं, वोट बैंक होंगी 'अगड़ी जातियां'

भारत के 70 साल के राजनैतिक इतिहास में चुनाव से पहले दलित, पिछड़े और अल्पसंख्यकों के लिए चुनावी वादे किए जाते रहे हैं, लेकिन 2019 चुनाव में पारंपरिक रूप से वंचित माने गए इन तबकों के बजाय अगड़ी जातियों की फ्रीक्वेंसी फाइनट्यून करने की ज्यादा कोशिश दिख रही है.

पीयूष बबेले | Jan 22, 2019, 06:23 PM IST
सुनील गावस्कर ने जिस रवि शास्त्री के लिए झेलीं तोहमतें, अब वही दिखा रहे आंख

सुनील गावस्कर ने जिस रवि शास्त्री के लिए झेलीं तोहमतें, अब वही दिखा रहे आंख

भारतीय क्रिकेट में रवि शास्त्री के लगातार बढ़ते कद ने उन्हें अति आत्मविश्वास दिला दिया है. अब वह उन पर वार करने से नहीं चूक रहे, जिन्हें कभी अत्यंत इज्जत की दृष्टि से देखते थे.  

सुशील दोषी | Jan 22, 2019, 06:13 PM IST