close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ज़ी स्पेशल

बात फि‍जूल की: हम किस दिशा में जा रहे हैं... सोनाक्षी के बहाने ही सही, लेकिन सोचिए ज़रूर

बात फि‍जूल की: हम किस दिशा में जा रहे हैं... सोनाक्षी के बहाने ही सही, लेकिन सोचिए ज़रूर

जब नई पीढ़ी के संस्कारों का रास्ता आपने बदला तो फिर वो पीढ़ी अपने आराध्य राम की लीला भूल गई, फिर उस पीढ़ी से कैसी शिकायत? अब स्कूलों के सिलेबस से रामलीलाएं धीरे-धीरे खत्म होती जा रही हैं तो फिर सोनाक्षी सिन्हा का क्या दोष?

राकेश तनेजा | Sep 21, 2019, 03:41 PM IST
...और 1 करोड़ का सवाल बन गया दारा शिकोह

...और 1 करोड़ का सवाल बन गया दारा शिकोह

दारा शिकोह को देश की 95 फीसदी से ज्यादा आबादी जानती भी नहीं होगी क्योंकि वो हारा हुआ था या यूं कहें कि उसे हराया गया था और जीतने वाले ने इतिहास में उसे ज्यादा जगह नहीं लेने दी. आज अचानक ये नाम सुर्खियां बटोरने लगा तो भी उसका कारण यही है कि आज के विजेता उसे सुर्खियों में लाना चाहते हैं.

राकेश तनेजा | Sep 12, 2019, 04:08 PM IST

अन्य ज़ी स्पेशल

डियर जिंदगी: सुसाइड के भंवर से बचे बच्‍चे की चिट्ठी!

डियर जिंदगी: सुसाइड के भंवर से बचे बच्‍चे की चिट्ठी!

जिंदगी किसी भी अनुभव से बड़ी है. जिंदगी है तो अनुभव हैं. इसलिए जिंदगी का साथ देना है. हर मुश्किल में. इसे अकेला नहीं छोड़ना. ‘डियर जिंदगी’ जीवन के प्रति शुभकामना है. इसे हमेशा अपने पास महसूस कीजिए!

दयाशंकर मिश्र | Jan 10, 2019, 09:21 AM IST
बिना अनुदान, कैसे होगा ‘जय अनुसंधान’?

बिना अनुदान, कैसे होगा ‘जय अनुसंधान’?

आज देश के वही शोधार्थी और विज्ञान/अनुसन्धान के सैनिक छात्रवृत्ति/फेलोशिप और इससे जुड़ी अन्य मांगों को लेकर सड़कों पर उतरने को मजबूर हो गए हैं. ऐसा करने वालों में देश के लगभग सभी नामी शोध-संस्थान, उच्च शिक्षा संस्थान एवं विश्वविद्यालय के शोधार्थी शामिल हैं फिर चाहे वो आइआइटी, एनआईटी, आइआइएससी, एम्स, डीआरडीओ जैसे तकनीकी संस्थान के हों या डीयू, जेएनयू, बीएचयू, ऐएमयू जैसे विश्वविद्यालयों के.

पवन चौरसिया | Jan 9, 2019, 07:50 PM IST
गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम नहीं है आरक्षण

गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम नहीं है आरक्षण

नरसिम्हा राव की सरकार ने भी आर्थिक पिछड़ेपन के आधार पर आरक्षण देने का फैसला किया था, जिसे 1992 में उच्चतम न्यायालय ने असंवैधानिक करार दिया था.

विनय जायसवाल | Jan 9, 2019, 10:16 AM IST
डियर जिंदगी: साथ रहते हुए ‘अकेले’ की स्‍वतंत्रता!

डियर जिंदगी: साथ रहते हुए ‘अकेले’ की स्‍वतंत्रता!

विवाह को लेकर वर पक्ष का रवैया अब तक नहीं बदला. वर पक्ष की 'श्रेष्‍ठता ग्रंथि‍' जब तक नहीं बदलेगी, इस रिश्‍ते में ऊर्जा, स्‍नेह से भरी कोपलें नहीं खिलेंगी.

दयाशंकर मिश्र | Jan 9, 2019, 10:11 AM IST
डियर जिंदगी: स्‍वयं को दूसरे की सजा कब तक!

डियर जिंदगी: स्‍वयं को दूसरे की सजा कब तक!

जिंदगी में सब कुछ नियंत्रण में होना संभव नहीं. हमें हर चीज के लिए दूसरों को दोष देने, खुद को कोसते रहने की जगह नई ‘कोपल’ की तरह मुश्किलों के बाद भी खिलने की कोशिश करनी चाहिए.  

दयाशंकर मिश्र | Jan 8, 2019, 08:47 AM IST
सवर्णों को आरक्षण, सुप्रीम कोर्ट में बढ़ेगी उलझन

सवर्णों को आरक्षण, सुप्रीम कोर्ट में बढ़ेगी उलझन

मोदी सरकार के फैसले के अनुसार सवर्णों को आर्थिक आधार पर दस फीसदी आरक्षण देने के लिए संविधान में संशोधन किया जायेगा. देश में अनुसूचित जाति (एससी) अनुसूचित जनजाति (एसटी), ओबीसी (पिछड़ा वर्ग) और दिव्यांग वर्ग के लिए आरक्षण की व्यवस्था है.

विराग गुप्ता | Jan 7, 2019, 06:37 PM IST
डियर जिंदगी: जो बिल्‍कुल मेरा अपना है!

डियर जिंदगी: जो बिल्‍कुल मेरा अपना है!

सबकी खूबियों का सम्‍मान कीजिए, लेकिन अपने को भी बचाए रखिए. यह आपका होना, आपके अस्तित्‍व के लिए सबसे जरूरी है.

दयाशंकर मिश्र | Jan 7, 2019, 09:22 AM IST
किस्सा-ए-कंज्यूमर: ...क्योंकि स्टूडेंट भी कंज्यूमर है

किस्सा-ए-कंज्यूमर: ...क्योंकि स्टूडेंट भी कंज्यूमर है

 ऐसे में कोचिंग इंस्टूट्यूट में पढ़ने वाला छात्र भी कंज्यूमर से कम नहीं. अगर सेवा में कमी है तो वो कॉलेज या इंस्टीट्यूट के खिलाफ केस कर सकता है. 

गिरिजेश कुमार | Jan 4, 2019, 01:51 PM IST
डियर जिंदगी: असफल बच्‍चे के साथ!

डियर जिंदगी: असफल बच्‍चे के साथ!

बच्‍चों की परवरिश में अपेक्षा जितनी कम होगी, वह अपने नैसर्गिक गुण के उतने अधिक नजदीक होंगे. तनाव, डिप्रेशन उन्‍हें कम से कम छू पाएंगे!

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Jan 4, 2019, 10:17 AM IST
डियर जिंदगी : बच्‍चों को अपने जैसा नहीं बनाना !

डियर जिंदगी : बच्‍चों को अपने जैसा नहीं बनाना !

जब त‍क हम बच्‍चों को संपत्ति की तरह प्रेम करना नहीं छोड़ते. हम उनके साथ जीवन का आनंद नहीं ले सकते.

दयाशंकर मिश्र | Jan 3, 2019, 09:28 AM IST
डियर जिंदगी : क्‍या कहना है, बच्‍चों से!

डियर जिंदगी : क्‍या कहना है, बच्‍चों से!

बच्‍चे केवल स्‍कूल में ही असफल होते हैं! स्‍कूल के सहारे बच्‍चों को मत छोडि़ए. उनका जीवन संवारने की जिम्‍मेदारी हमारी है, स्‍कूल की नहीं. बच्‍चा आपका है, स्‍कूल का नहीं. इसे बहुत अच्‍छी तरह समझना होगा.

दयाशंकर मिश्र | Jan 2, 2019, 09:52 AM IST
Opinion: मुझे गंगा के प्रति न प्यार है, न श्रद्धा बल्कि नफरत है

Opinion: मुझे गंगा के प्रति न प्यार है, न श्रद्धा बल्कि नफरत है

बलिया में मौजूद है हरिहरपुर गांव. इस गांव में रहने वाली रूपकली देवी गंगा से नफरत करती हैं क्योंकि वो अपने उजड़े हुए घर और परिवार की वजह गंगा को मानती है.

पंकज रामेंदु | Jan 1, 2019, 11:51 PM IST
किस्सा-ए-कंज्यूमर: शॉपिंग से डर नहीं लगता साहब! नकली सामान से लगता है

किस्सा-ए-कंज्यूमर: शॉपिंग से डर नहीं लगता साहब! नकली सामान से लगता है

नए कानून में ई-कॉमर्स कंपनियों को एग्रीगेटर या प्लेटफॉर्म मुहैया कराने वाले की जगह सर्विस प्रोवाइडर का दर्जा दिया गया है, लिहाजा गड़बड़ी होने पर सेलर के साथ ही उन पर भी कानून का हंटर चलेगा. नए कानून के तहत कंज्यूमर जिस इलाके में रहता है वहीं से शिकायत की ई-फाइलिंग कर सकेगा.

गिरिजेश कुमार | Jan 1, 2019, 11:00 PM IST
डियर जिंदगी: जोड़े रखना ‘मन के तार’!

डियर जिंदगी: जोड़े रखना ‘मन के तार’!

‘इस बरस आपके मन के तार उन सबसे जुड़े रहें, जिन्‍हें आप प्रेम करते हैं. जो आपको स्‍नेह करते हैं. उनकी आत्‍मीयता, स्‍नेहन के आंगन में आपको जिंदगी के सबरंग मिले!’

दयाशंकर मिश्र | Jan 1, 2019, 08:39 AM IST
डियर जिंदगी: हंसी एक तरह की निकटता है!

डियर जिंदगी: हंसी एक तरह की निकटता है!

अकेलापन अनायास आई अपरिचित चुनौती नहीं, बल्कि यह उस कमी से  उपजी है, जिसे हम अपनेपन के नाम से जानते हैं.

दयाशंकर मिश्र | Dec 31, 2018, 08:21 AM IST
2018 : किसान सक्रियता के नाम यह साल

2018 : किसान सक्रियता के नाम यह साल

राजनीतिक विश्लेषक भी मान रहे हैं देश के तीन बड़े हिंदी भाषी राज्यों में बड़ी भूमिका किसान आधारित मुद्दों की रही. इसे किसानों के एक राजनीतिक शक्ति के रूप में उबरने के तौर पर क्यों नहीं देखा जाना चाहिए.

सुविज्ञा जैन | Dec 29, 2018, 09:21 PM IST
निजता का अधिकार बनाम साइबर सुरक्षा की जंग

निजता का अधिकार बनाम साइबर सुरक्षा की जंग

अब सोशल मीडिया यूजर्स की निजता, इंटरमीडिटीयरिज की उपभोक्ताओं के प्रति दायित्व और व्यापार नीति तथा सरकारी दिशानिर्देशों का त्रिकोणीय चक्रव्यू सा हो गया है.

विनय जायसवाल | Dec 28, 2018, 09:05 PM IST
फिल्मों पर प्रतिबंध की राजनीति गलत, चाहे कोई भी लगाए...

फिल्मों पर प्रतिबंध की राजनीति गलत, चाहे कोई भी लगाए...

मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार को चिंता है कि कहीं 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' फिल्म से मनमोहन सिंह या कांग्रेस पार्टी की छवि खराब न हो जाए.

पीयूष बबेले | Dec 28, 2018, 02:45 PM IST
डियर ज़िंदगी: 'रुकना' कहां है!

डियर ज़िंदगी: 'रुकना' कहां है!

जो हमें पसंद है वह कहां छूट गया! उन चीजों के लिए हमारे पास समय नहीं है, जिनसे हमें ऊर्जा मिलती है. जो हमारे होने का मूल आधार हैं.

दयाशंकर मिश्र | Dec 28, 2018, 08:28 AM IST
किस्सा-ए-कंज्यूमर: रुकावट के लिए 'कंज़्यूमर कोर्ट' है

किस्सा-ए-कंज्यूमर: रुकावट के लिए 'कंज़्यूमर कोर्ट' है

अगर कोई कंपनी वारंटी पीरियड में सही सर्विस देने से इनकार करें तो तो कंज्यूमर कोर्ट का दरवाजा खटखटाने में संकोच न करें. आपकी जीत दूसरे कंज्यूमर्स के लिए नज़ीर बनेगी.

गिरिजेश कुमार | Dec 28, 2018, 12:10 AM IST