close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ज़ी स्पेशल

बात फि‍जूल की: हम किस दिशा में जा रहे हैं... सोनाक्षी के बहाने ही सही, लेकिन सोचिए ज़रूर

बात फि‍जूल की: हम किस दिशा में जा रहे हैं... सोनाक्षी के बहाने ही सही, लेकिन सोचिए ज़रूर

जब नई पीढ़ी के संस्कारों का रास्ता आपने बदला तो फिर वो पीढ़ी अपने आराध्य राम की लीला भूल गई, फिर उस पीढ़ी से कैसी शिकायत? अब स्कूलों के सिलेबस से रामलीलाएं धीरे-धीरे खत्म होती जा रही हैं तो फिर सोनाक्षी सिन्हा का क्या दोष?

राकेश तनेजा | Sep 21, 2019, 03:41 PM IST
...और 1 करोड़ का सवाल बन गया दारा शिकोह

...और 1 करोड़ का सवाल बन गया दारा शिकोह

दारा शिकोह को देश की 95 फीसदी से ज्यादा आबादी जानती भी नहीं होगी क्योंकि वो हारा हुआ था या यूं कहें कि उसे हराया गया था और जीतने वाले ने इतिहास में उसे ज्यादा जगह नहीं लेने दी. आज अचानक ये नाम सुर्खियां बटोरने लगा तो भी उसका कारण यही है कि आज के विजेता उसे सुर्खियों में लाना चाहते हैं.

राकेश तनेजा | Sep 12, 2019, 04:08 PM IST

अन्य ज़ी स्पेशल

मां के हाथों के स्वेटर में जो बात थी वो फैशनेबल कोट में कहां...

मां के हाथों के स्वेटर में जो बात थी वो फैशनेबल कोट में कहां...

जिनके पास मां 24 घंटे रहती है अमूनन उन बच्चों को उसके साथ होने की कद्र नहीं होती है, लेकिन घर से दूर रहने वाले लोग मां को कितना मिस करते हैं. ये वही जानते हैं और उनके सिवाय कोई भी इस दर्द को महसूस नहीं सकता है.

आशु दास | Dec 27, 2018, 05:21 PM IST
अगर गांधी को ढंग से समझते तो घाना में उनकी प्रतिमा न हटाते

अगर गांधी को ढंग से समझते तो घाना में उनकी प्रतिमा न हटाते

दिसंबर 2018 में घाना के एक विश्वविद्यालय से गांधी जी की मूर्ति हटाने की घटना का पूरा प्रामाणिक विश्लेषण...

चिन्मय मिश्र | Dec 27, 2018, 03:43 PM IST
डियर जिंदगी: ‘चुपके से’ कहां गया!

डियर जिंदगी: ‘चुपके से’ कहां गया!

अपने प्रेम संबंध के लिए भी हमने सोशल मीडिया को सबसे बड़ा मंच बना दिया. मन जुड़ने से लेकर ‘तार-टूटने’ तक की सूचना अब अभिभावक को भी यहीं मिलती है!

दयाशंकर मिश्र | Dec 27, 2018, 09:36 AM IST
डियर जिंदगी: पति, पत्‍नी और घर का काम!

डियर जिंदगी: पति, पत्‍नी और घर का काम!

दिमाग के अनसुलझे, कुलबुलाते सवाल जब उत्‍तर तक नहीं पहुंचते, तो वह हमारी धमनियों में दौड़ रही रक्‍त कणिकाओं में मिलकर जीवन ऊर्जा को सोखने के काम में जुट जाते हैं. 

दयाशंकर मिश्र | Dec 26, 2018, 08:35 AM IST
क्या दिल्ली के पास है अपना राज्य मानवाधिकार आयोग?

क्या दिल्ली के पास है अपना राज्य मानवाधिकार आयोग?

मई 2016 में इसी से सम्बंधित मामले के ऊपर सुनवाई करते हुए भारत के मुख्य न्यायाधीश टी.एस. ठाकुर ने यह टिप्पणी की थी कि जब बीस लाख के आसपास की संख्या वाले मणिपुर और त्रिपुरा जैसे राज्यों के पास अपने राज्य मानवाधिकार आयोग हो सकते हैं तो एक करोड़ से भी अधिक जनसँख्या वाले दिल्ली के पास क्यों नहीं? 

पवन चौरसिया | Dec 25, 2018, 05:10 PM IST
डियर जिंदगी : जो तुम्‍हें अपने करीब ले जाए...

डियर जिंदगी : जो तुम्‍हें अपने करीब ले जाए...

हम भूल रहे हैं कि मिट्टी का घड़ा, फ्रि‍ज नहीं. फ्रि‍ज का पानी लाख ठंडा हो, लेकिन उसमें मिट्टी का स्‍वाद नहीं. हमें अपनी मिट्टी के स्‍वाद को खजाने की तरह सहेजना है. इसमें ही जीवन की सुगंध है.

दयाशंकर मिश्र | Dec 25, 2018, 07:39 AM IST
डियर जिंदगी: हम जैसे हैं !

डियर जिंदगी: हम जैसे हैं !

इंटरनेट ने हमारी सोच, समझ, चेतना पर इस तरह कब्‍जा कर लिया है कि सहज बुद्धि, सोच, चिंतन ‘बेघर’ हो गए.

दयाशंकर मिश्र | Dec 24, 2018, 09:45 AM IST
मध्यप्रदेशः स्थानीय निकायों की राजनीति महत्वहीन क्यों है?

मध्यप्रदेशः स्थानीय निकायों की राजनीति महत्वहीन क्यों है?

विधानसभा-2018 में मुख्य रूप से राज्य स्तर की राजनीति का अहसास हमें होता है, किन्तु 15 साल सत्ता रहने के बाद भी भाजपा ने जिस तरह से अपनी उपस्थिति को बरकरार रखा और बराबरी की टक्कर दी, उससे यह स्पष्ट हो जाता है कि कांग्रेस की जमीनी ताकत अभी बहुत कमज़ोर है. 

सचिन कुमार जैन | Dec 23, 2018, 02:14 PM IST
बिरजू और शंभू को ‘हल’ दीजिए

बिरजू और शंभू को ‘हल’ दीजिए

जिस मल-मूत्र को पहले खाद बनाने में इस्तेमाल किया जाता था वो अब शहरो में पानी के साथ बहा दिया जाता है. हमारे मल में कार्बन की भरमार होती है और ऐसे जीवाणुओं की भी जो इस कार्बन को पचा कर मिट्टी के लायक बना सके. 

पंकज रामेंदु | Dec 23, 2018, 10:52 AM IST
कम्प्यूटर में सेंधमारी रोकने के लिए विपक्ष अपने राज्यों में पहल करे

कम्प्यूटर में सेंधमारी रोकने के लिए विपक्ष अपने राज्यों में पहल करे

अंग्रेजों के जमाने में सन 1885 में बनाए गए टेलीग्राफ एक्ट के अनुसार सरकारों को टेलीफोन की निगरानी और रिकॉर्डिंग करने का अधिकार है. 

विराग गुप्ता | Dec 22, 2018, 03:45 PM IST
INDvsAUS: भारत के बल्लेबाजों के लिए तेज व उछाल भरे विकेटों पर खेलना आसान नहीं

INDvsAUS: भारत के बल्लेबाजों के लिए तेज व उछाल भरे विकेटों पर खेलना आसान नहीं

भारतीय टीम को पर्थ में खेले गए दूसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया से 146 रन से हार का सामना करना पड़ा. अब दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर हैं. 

क़िस्सा-ए-कंज़्यूमर: जिंदगी के साथ, लेकिन जिंदगी के बाद नहीं!

क़िस्सा-ए-कंज़्यूमर: जिंदगी के साथ, लेकिन जिंदगी के बाद नहीं!

याद रखिए- बीमा का पूरा खेल आपके भरोसे पर चलता है, भरोसा तोड़ना ठीक नहीं.

गिरिजेश कुमार | Dec 21, 2018, 03:37 PM IST
 डियर जिंदगी : जब ‘सुर’ न मिलें…

डियर जिंदगी : जब ‘सुर’ न मिलें…

भरपूर विविधता के बाद भी हमारी अंतर्यात्रा, अवचेतन के सुर कहीं न कहीं मिलते ही हैं. अपरिचितों के यही सुर जब आपस में मिल जाते हैं, तो वह 'मिले सुर मेरा तुम्‍हारा' से होते हुए, ‘हमारा’ सुर बन जाते हैं. इससे ही जिंदगी प्रिय होगी.

दयाशंकर मिश्र | Dec 21, 2018, 09:17 AM IST
Opinion: आप उत्पाद हैं, फेसबुक आपको बेच रहा है!

Opinion: आप उत्पाद हैं, फेसबुक आपको बेच रहा है!

''न्यूयॉर्क टाइम्स'' की इस बार की रिपोर्ट ज्यादा चिंताजनक इसलिए है क्योंकि इसमें कहा गया है कि फेसबुक ने यूजर्स के निजी चैट का एक्सेस कंपनियों को दिया है.

ललित फुलारा | Dec 20, 2018, 10:46 PM IST
डियर जिंदगी: अभिभावक का समय!

डियर जिंदगी: अभिभावक का समय!

अगर आपने माता-पिता को अपने केंद्र से बाहर कर दिया तो यकीन मानिए आप अपने बच्‍चों के केंद्र में कभी नहीं रह पाएंगे.

दयाशंकर मिश्र | Dec 20, 2018, 09:22 AM IST
डियर जिंदगी: रिश्‍तों के फूल और कांटे!

डियर जिंदगी: रिश्‍तों के फूल और कांटे!

रिश्‍ते जिस तरह की धूप में खिलते हैं, कुछ वैसी ही धूप में कुम्‍हलाते भी हैं. हमें उस ‘कैमिस्‍ट्री ‘को समझने की जरूरत है, जिनसे रिश्‍तों को विटामिन मिलता है!

दयाशंकर मिश्र | Dec 19, 2018, 09:38 AM IST
INDvsAUS: पर्थ टेस्ट में हार का सबकः सीखना पड़ेगा टिके रहना

INDvsAUS: पर्थ टेस्ट में हार का सबकः सीखना पड़ेगा टिके रहना

क्रिकेट अब सिर्फ गेंदबाजों और बल्लेबाजों के बीच का ही खेल नहीं रह गया. दूसरे टेस्ट मैच में गेंद भी उसी शिद्दत से खेली और पिच भी. मसलन स्कोर के लिहाज़ से चैथे दिन का खेल शुरू होने के पहले मुकाबला लगभग बराबरी पर था. इच्छापूर्ण सोच के हिसाब से भारत बेहतर स्थिति में था. 

सुविज्ञा जैन | Dec 18, 2018, 11:35 PM IST
डियर जिंदगी: आपने मां को मेरे पास क्‍यों भेजा!

डियर जिंदगी: आपने मां को मेरे पास क्‍यों भेजा!

यह ‘डियर जिंदगी’ उन पड़ोसियों के लिए है, जो संवेदना की सूखती नदी, परिवार तक सि‍मटती चिंता के बीच एक ऐसी दुनिया के सूत्रधार हैं, जिसमें सबके लिए आशा, सुख, सरोकार है.

दयाशंकर मिश्र | Dec 18, 2018, 07:57 AM IST
ऑस्‍ट्रेलिया जवाबी हमला करने में सक्षम, बढ़ा सकते हैं टीम इंडि‍या की मुश्‍कि‍लें

ऑस्‍ट्रेलिया जवाबी हमला करने में सक्षम, बढ़ा सकते हैं टीम इंडि‍या की मुश्‍कि‍लें

भारत के लिए बड़ी चिंता है. आपको हमेशा विराट कोहली व चेतेश्‍वर पुजारा जैसे बड़े बल्‍लेबाजों पर आधारित होना पड़ रहा है. अन्‍य खिलाडियों को भी अपनी जिम्‍मेदारी का एहसास होना चाहिए. मुश्किल व अपरिचित परिस्थितियों में ही आप के चरित्र की परीक्षा होती है.

सुशील दोषी | Dec 18, 2018, 02:45 AM IST
डियर जिंदगी: बच्‍चों को रास्‍ता नहीं , पगडंडी बनाने में मदद करें!

डियर जिंदगी: बच्‍चों को रास्‍ता नहीं , पगडंडी बनाने में मदद करें!

हम बच्‍चों के अंतर्ज्ञान , सहजबोध पर यकीन करने की जगह अपने मन की सुनने में कहीं अधिक यकीन रखते हैं. इसी वजह से बच्‍चों के निर्णय में घालमेल करते हैं.

दयाशंकर मिश्र | Dec 17, 2018, 08:19 AM IST