Breaking News
  • कोलकाता से आज से घरेलू उड़ानें शुरू, एयरपोर्ट पर 10 उड़ानें आएंगी और इतनी ही जाएंगी

VIDEO : हरमनप्रीत ने इस ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर से प्रेरणा लेकर किया 'कंगारू' टीम का शिकार

2016 में हरमन प्रीत वुमंस बिग बैश लीग में खेलने वाली पहली भारतीय महिला बनी थीं. और अपनी धुंआधार पारी और छक्कों की बदौलत एडम गिलक्रिस्ट को भी अपना फैन बना लिया था. 

VIDEO : हरमनप्रीत ने इस ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर से प्रेरणा लेकर किया 'कंगारू' टीम का शिकार
हरमनप्रीत को 'धाकड़' बनाने में है इस ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर का हाथ

नई दिल्ली : हरमनप्रीत कौर (नाबाद 171) की बेहतरीन पारी के दम पर दिए गए 282 रनों के लक्ष्य के दबाव का भारतीय गेंदबाजों ने भरपूर फायदा उठाते हुए मौजूदा विजेता ऑस्ट्रेलिया को महिला विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल मैच में गुरुवार को 36 रनों से हराते हुए फाइनल में प्रवेश कर लिया. 

भारत ने हरमनप्रीत की तूफानी पारी के दम पर निर्धारित 42 ओवरों के मैच में चार विकेट खोकर 281 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया. ऑस्ट्रेलियाई टीम इस मजबूत लक्ष्य के सामने 40.1 ओवरों में सभी विकेट खोकर 245 रन ही बना सकी. 

इस मैच की असली 'रॉकस्टार' रही हरमनप्रीत कौर. लेकिन क्या आप जानते हैं कि एक ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी से प्रेरणा लेकर ही हरमन ने 'कंगारुओं' की टीम को नाकों चने चबवा दिए थे. 

दरअसल, पिछले साल यानि 2016 में हरमन प्रीत वुमंस बिग बैश लीग में खेलने वाली पहली भारतीय महिला बनी थीं. और अपनी धुंआधार पारी और छक्कों की बदौलत एडम गिलक्रिस्ट को भी अपना फैन बना लिया था. 

हरमन की इस पारी के बाद ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर और आक्रामक बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट ने ट्वीट भी किया था और हरमन को आक्रामक बल्लेबाजी के लिए प्रेरित किया था. गिलक्रिस्ट ने उनसे कहा था कि वे ऑस्ट्रेलियन खिलाड़ियों के वीडियो देखें ताकि उनकी गेंदबाजी को बेहतर ढंग से समझ सकें.

हरमन प्रीत को आज भी वह तारीख और समय याद है जब गिलक्रिस्ट ने यह ट्वीट किया था. हरमन के लिए यह ट्वीट किसी ट्रॉफी जीतने से कम नहीं है. हरमन अपने विकेटकीपिंग के स्किल को भी गंभीरता से लेती हैं.

ऐसा रहा सेमीफाइनल मैच

बारिश के कारण मैच देरी से शुरू हुआ था इसलिए अंपायरों ने मैच के ओवरों की संख्या 50 ओवरों से घटाकर 42 कर दी थी. फाइनल में भारत का सामना रविवार को मेजबान इंग्लैंड से लॉर्ड्स मैदान पर होगा. भारत दूसरी बार विश्व कप के फाइनल में पहुंचा है. पहली बार उसने 2005 में विश्व कप के फाइनल में जगह बनाई थी, जहां आस्ट्रेलिया ने उसे खिताब जीतने से रोक दिया था. 

हरमनप्रीत ने खराब शुरुआत से टीम को निकालते हुए 115 गेंदों में 20 चौके और सात छक्कों की मदद से तूफानी पारी खेली. धीमी शुरुआत करने वाली इस खिलाड़ी ने कप्तान मिताली राज (36) और दीप्ति शर्मा (25) के साथ दो अहम साझेदारी करते हुए टीम को विशाल स्कोर तक पहुंचाया. 

हरमनप्रीत द्वारा बनाए गया स्कोर महिला विश्व कप के नॉकआउट मैचों में सर्वाधिक स्कोर है.