close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Badminton: पी कश्यप ने साइना को ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप में खेल के बीच में ही फटकारा

साइना नेहवाल ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में विश्व नंबर-1 ताइ जू यिंग से हार गई थीं.   

Badminton: पी कश्यप ने साइना को ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप में खेल के बीच में ही फटकारा
साइना नेहवाल और पारुपल्ली कश्यप. (फाइल फोटो)

बर्मिघम: ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप में जब भारत की स्टार महिला खिलाड़ी साइना नेहवाल विश्व नंबर-1 ताइ जू यिंग के खिलाफ मैच में संघर्ष कर रही थीं तब उनके पति पारूपल्ली कश्यप उन्हें गलत शॉट्स खेलने के लिए डांट लगा रहे थे. साइना को यिंग के खिलाफ खेले गए 19 मैचों में से 14 में हार मिली है.  शुक्रवार को भी साइना ताइवान की खिलाड़ी से 15-21, 19-21 से हार गई थीं.  

पहले गेम में ब्रेक के दौरान जब साइना नेहवाल 3-11 से पीछे चल रही थीं तब कश्यप ने साइना से बात की. कश्यप ने साइना से कहा, ‘अगर तुम मैच जीतना चाहती हो तो तुम्हें अनुशासन के साथ खेलना होगा. तुम कुछ बेहद ही बेकार शॉट्स खेल रही हो.’ कश्यप की इस फटकार से साइना ने वापसी की थी और अंकों के अंतर को कम करते हुए स्कोर 12-14 कर लिया था. साइना हालांकि अपनी विपक्षी को गेम जीतने से नहीं रोक पाई थीं. 

पहले गेम के बाद भी कश्यप को साइना नेहवाल को सलाह देते हुए सुना गया था. वे कह रहे थे, ‘शटल को नियंत्रण में रखो और शॉट्स के लिए जाओ जैसे कि आखिरी में गई थीं. तुम बार-बार ड्रॉप शॉट उठाते समय कोर्ट को खुला छोड़ रही हो.’ साइना ने अपने पति की बात को गंभीरता से लिया और दूसरे गेम में वह 8-3 की बढ़त लेने में सफल रहीं, लेकिन यिंग ब्रेक में 11-8 की बढ़त के साथ गईं. ब्रेक के बाद साइना वापसी नहीं कर पाई और दूसरे गेम में मात खाने के साथ ही मैच गंवा कर टूर्नामेंट से बाहर हो गईं. 

इंग्लैंड में खेली जाने वाली इस चैंपियनशिप में साइना नेहवाल के अलावा पीवी सिंधु, किदांबी श्रीकांत, बी साई प्रणीत, एचएस प्रणय, समीर वर्मा समेत कई खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था. लेकिन कोई भी खिलाड़ी सेमीफाइनल में नहीं पहुंच सका. साइना की तरह किदांबी श्रीकांत भी क्वार्टर फाइनल में हार गए थे.  पीवी सिंधु इस चैंपियनशिप के पहले ही दौर में ही हार गई थीं. साइना नेहवाल ने ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप में 11वीं खेल रही थीं. वे सिर्फ एक बार इस चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंच सकी हैं.

(आईएएनएस)