close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अर्जुन अवार्डी पहलवान को मिला मीडिया रत्न पुरस्कार, आमिर खान को सिखाई थी रेसलिंग

अर्जुन अवॉर्डी पहलवान कृपाशंकर राष्ट्रीय मीडिया रत्न पुरस्कार के लिए चुने गए हैं. 

अर्जुन अवार्डी पहलवान को मिला मीडिया रत्न पुरस्कार, आमिर खान को सिखाई थी रेसलिंग
आमिर खान ने दंगल फिल्म के लिए कृपाशंकर से ट्रेनिंग ली थी. (फाइल फोटो)

मुंबई: भारत में पिछले कुछ सालों में कुश्ती या रेसलिंग (Wretling) की लोकप्रियता में बहुत इजाफा हुआ है. पिछले कुछ सालों में कुश्ती पर बनी फिल्मों ने इस खेल की लोकप्रयिता को राष्ट्रीय स्तर प्रदान किया है. भारतीय पहलवानों ने भी देश के साथ ही विदेशों में भी नाम रोशन कर इस लोकप्रयिता में सबसे बड़ा योगदान दिया है. ऐसे ही दुनिया में भारतीय कुश्ती की प्रतिष्ठा बढ़ाने वाले अर्जुन अवॉर्ड और विक्रम पुरस्कार जीत चुके इंटरनेशनल पहलवान कृपाशंकर पटेल बिश्नोई (Kripa Shankar Patel Bishnoi)  को 'राष्ट्रीय मीडिया रत्न' पुरस्कार 2019 के लिए नामांकित किया गया है. 

आमिर खान को दे चुके हैं ट्रेनिंग
मध्यप्रदेश के निवासी कृपाशंकर ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का मान बढ़ाने के अलावा सुपरहिट फिल्म दंगल के लिए सुपरस्टार आमिर खान को प्रशिक्षित किया था. बिश्नोई इसके अलावा इंटरनेशनल रेफरी और महिला कुश्ती टीम के कोच के तौर भी सेवाएं दे चुके हैं. राष्ट्रीय मीडिया रत्न पुरस्कार प्रत्येक वर्ष ग्राउंड जीरो पर कार्य करने वाले पत्रकारों व मीडिया कर्मियों की ओर से उन लोगों को दिया जाता है, जो पत्रकारों व मीडिया कर्मियों के बीच हमेशा रहते हैं और उन्हें अपना कार्य करने में हर संभव सहयोग देते हैं.

Kripashankar Patel wins award

अगले सप्ताह मिलेगा यह अवार्ड
राष्ट्रीय मीडिया रत्न पुरस्कार समिति की अध्यक्ष रेहाना परवीन ने बताया की प्रेस क्लब द्वारा दिए जाने वाले राष्ट्रीय मीडिया रत्न 2019 पुरस्कार के लिए भी सभी नामों की घोषणा कर दी गई है. इस पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन 21 सितम्बर को नई दिल्ली में होगा. बिश्नोई न केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में उन पहलवानों में गिने जाते हैं, जिन्होंने पूरी दुनिया में सफलता के झंडे गाड़े हैं. बिश्नोई ने अनगिनत अंतरराष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिताओं में भाग लिया और कुश्ती के क्षेत्र में अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन देकर अब तक 11 स्वर्ण, 8 रजत और 5 कांस्य पदक जीते हैं. 

राष्ट्रीय स्तर पर, उन्होंने अपनी जेब में 25 स्वर्ण, 11 रजत और 7 कांस्य पदक जीतकर एक राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया. वह विभिन्न कुश्ती शैलियों (फ्री स्टाइल और ग्रीको-रोमन शैली) में एकल प्रतियोगिता में दो स्वर्ण जीतने वाले दुनिया के पहले पहलवान बने थे. यह उपलब्धि 2005 कॉमनवेल्थ खेलों के दौरान हासिल की गई थी.