पर्वतारोही अरुणिमा सिन्हा ने हासिल की एक और शानदार उपलब्धि

माउंट एवरेस्ट विजेता पद्मश्री से सम्मानित अरुणिमा सिन्हा ने एक और मील का पत्थर स्थापित करते हुए विश्व की पांचवीं सबसे ऊंची चोटी पर तिरंगा फहरा दिया है। उन्होंने बीती 25 दिसंबर को दक्षिण अमेरिका (अर्जेन्टीना) की 6962 मीटर ऊंची चोटी अंकाकागुआ पर फतह हासिल की।

लखनऊ : माउंट एवरेस्ट विजेता पद्मश्री से सम्मानित अरुणिमा सिन्हा ने एक और मील का पत्थर स्थापित करते हुए विश्व की पांचवीं सबसे ऊंची चोटी पर तिरंगा फहरा दिया है। उन्होंने बीती 25 दिसंबर को दक्षिण अमेरिका (अर्जेन्टीना) की 6962 मीटर ऊंची चोटी अंकाकागुआ पर फतह हासिल की।
अरूणिमा ने बताया कि अर्जेटीना में स्थित 6,962 मीटर उंची माउंट अकोनकागुआ पर्वत चोटी पर पहुंचने में गत 25 दिसंबर को शाम साढ़े चार बजे कामयाबी हासिल की और वहां तिरंगा फहराया।

अरूणिमा ‘मिशन 7 समिट’ के तहत अब तक दुनिया की पांच सबसे उंची पर्वत चोटियों पर पहुंच चुकी हैं और कृत्रिम पैर के सहारे ऐसा करने वाली वह दुनिया की पहली महिला बन गयी है। उन्होंने कहा कि वह जल्द ही बाकी दो पर्वत चोटियों पर भी फतेह हासिल करेंगी।

अरूणिमा ने बताया कि एशिया के बाहर सबसे उंची पर्वत चोटी माने जाने वाली अकोनकागुआ पर आरोहण के दौरान उनके सहयोगी ओम प्रकाश तथा गाइड के तौर पर मारिया भी मौजूद थे। उन्होंने अकोनकागुआ पर गत 12 दिसंबर को चढ़ाई शुरू की थी।

गौरतलब है कि वर्ष 2011 में एक ट्रेन हादसे में अपना बायां पैर गंवाने के बाद अरूणिमा ने 21 मई 2013 को दुनिया को चौंकाते हुए कृत्रिम पैर के सहारे एवरेस्ट फतेह किया था। उनकी इस उपलब्धि का सम्मान करते हुए उन्हें पद्यश्री से नवाजा गया था।