Asian Games 2018 : टेबल टेनिस में भारतीय पुरुष टीम ने जीता ब्रॉन्ज

एशियाई खेलों में भारत ने टेबल टेनिस में पहली बार कोई मेडल जीता है. 

Asian Games 2018 : टेबल टेनिस में भारतीय पुरुष टीम ने जीता ब्रॉन्ज
टेबल टेनिस टीम ने जीत ऐतिहासिक मेडल (PIC : SAI MEDIA)

जकार्ता : भारत की पुरुष टेबल टेनिस टीम को यहां 18वें एशियाई खेलों में 10वें दिन मंगलवार (28 अगस्त) को टीम स्पर्धा का कांस्य पदक हासिल हुआ. सेमीफाइनल में भले ही भारत को हार मिली हो, लेकिन यह एशियाई खेलों में टेबल टेनिस की किसी भी स्पर्धा में भारत को मिला पहला कांस्य पदक है. ऐसे में भारत ने नया इतिहास रचा है. भारतीय पुरुष टीम को सेमीफाइनल मुकाबले में दक्षिण कोरिया की टीम ने 3-0 से मात दी. पांच मुकाबलों की इस स्पर्धा में भारतीय टीम अपने पहले तीन मुकाबलों में मिली हार के कारण फाइनल में स्थान हासिल करने से चूक गई. जी साथियान, अचंता शरत कमल और ए अमलराज की भारतीय टीम सेमीफाइनल में कोरियाई टीम को टक्कर नहीं दे सकी. फाइनल में कोरिया का समाना गत चैम्पियन चीन से होगा. भारत के उभरते हुए खिलाड़ी और विश्व रैंकिंग में 39वें स्थान पर काबिज सातियान ली सांग्सू से पहला सेट जीतने के बाद मैच गवां बैठे. सातियान यह मुकाबला 11-9, 9-11, 3-11, 3-11 से हार.

भारतीय टीम के 0-1 से पिछड़ने के बाद अनुभवी शरत पर वापसी का दारोमदार था, लेकिन विश्व रैंकिंग में 33वें स्थान पर काबिज यह खिलाड़ी यंग सिक जेओंग से हार गया. निर्णायक मुकाबले में अमलराज 22 साल के कोरियाई खिलाड़ी वूजिन जांग से हार गए. जिससे कोरिया ने 3-0 से मैच अपने नाम कर लिया. इससे पहले भारत कभी टेबल टेनिस में पदक नहीं जीत पाया था. लंबे समय तक चीन (61 स्वर्ण), जापान (20) और दक्षिण कोरिया (10) का ही इस खेल में दबदबा रहा. 

पहले मैच में साथियान गनाशेखरन को दक्षिण कोरिया के खिलाड़ी सांग्सु ली ने 11-9, 9-11, 3-11, 3-11 से मात देकर अपनी टीम का खाता खोला. दूसरे मैच में भी भारत को हार का सामना करना पड़ा. अचंता शरथ कमल को सिक योंग जियोंग ने 9-11, 9-11, 11-6, 11-7, 8-11 से हरा दिया. तीसरे मैच में दक्षिण कोरिया के वुजिन जांग ने एंथोनी अमलराज को 11-5, 11-7, 4-11, 11-7 से मात दी.

भारतीय महिलाओं को क्वार्टर फाइनल में मिली थी हार
भारतीय महिला टेबल टेनिस टीम 18वें एशियाई खेलों के नौवें दिन सोमवार को क्वार्टर फाइनल में हार कर बाहर हो गई थीं. भारतीय टीम को क्वार्टर फाइनल मैच में हांग कांग ने 3-1 से हराया. भारत की तरफ से सिर्फ मनिका बत्रा ही अपना मुकाबला जीत सकीं. उन्होंने चिंग हो ली को 11-9, 11-9, 5-11, 11-6 से हराया. मनिका ने पहला मैच जीत भारत को 1-0 से आगे कर दिया था, लेकिन होई केम डू ने अयहिका मुखर्जी को मात देकर स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया. 

केम ने मुखर्जी को 12-14, 11-4, 12-10, 11-8 से मात दी. अगले मैच में भारत की सबसे अनुभवी खिलाड़ी मौमा दास को सू वेई याम मिनी ने 6-11, 13-11, 11-8, 3-11, 5-11 से मात देकर हांग कांग को 2-1 की बढ़त दिला दी. 

अगला मैच रिवर्स एकल मुकाबला था जहां मनिका को केम ने सीधे गेमों में 11-8, 11- 8-11, 13-11 से मात दे अपनी टीम को क्वार्टर फाइनल में पहुंचाया.