close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एशियन कुश्ती चैंपियनशिप: दिव्या-मंजू ने दिलाए भारत को महिला वर्ग में दो ब्रॉन्ज मेडल

एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में दिव्या काकरान और मंजू कुमारी ने भारत के लिए दो ब्रॉन्ज मेडल जीते. जबकि पुरुषों में बजरंग पूनिया गोल्ड मेडल, प्रवीण राणा सिल्वर और सत्यव्रत कादियान ने ब्रॉन्ज मेडल दिलाए थे. 

एशियन कुश्ती चैंपियनशिप: दिव्या-मंजू ने दिलाए भारत को महिला वर्ग में दो ब्रॉन्ज मेडल
(फोटो फाइल )

शियान: चीन में चल रही एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में पुरुषों के बढ़िया शुरूआत करने के बाद भारत के लिए महिला वर्ग के मुकाबलों में अपेक्षाकृत सफलता नहीं मिली. गुरूवार को एशियाई खेलों की ब्रॉन्ज मेडलधारी दिव्या काकरान और मंजू कुमारी ने चैंपियनशिप की महिला प्रतियोगिता में भारत को दो ब्रॉन्ज मेडल दिलाए. वहीं इससे पहले पुरुष वर्ग में बजरंग पूनिया ने गोल्ड मेडल,  प्रवीण राणा ने सिल्वर और सत्यव्रत कादियान ने ब्रॉन्ज मेडल दिलाए थे. 

दिव्या का ऐसा रहा सफर
 दिव्या ने 68 किग्रा वर्ग के ब्रॉन्ज मेडल के प्ले आफ में मंगोलिया की बाटसेतसेग सोरोंजोनबोल्ड को चित्त कर पोडियम स्थान हासिल किया. इससे पहले दिव्या और मंजू अपनी सेमीफाइनल मुकाबला हारने के बाद ब्रॉन्ज मेडल दौर तक पहुंचीं. टखने की चोट से उबरने के बाद प्रतिस्पर्धी कुश्ती में वापसी करने वाली दिव्या 68 किग्रा के सेमीफाइनल में चीन की फेंग झोऊ से 4-14 से हार गई और फाइनल में जगह बनाने से चूक गईं. नई दिल्ली में 2017 एशियाई चैंपियनशिप में 69 किग्रा वर्ग में रजत मेडल जीतने वाली दिव्या ने शानदार प्रदर्शन करते हुए क्वार्टरफाइनल मुकाबले में वियतनाम की होंग थुये एनगुएन को 10-0 से शिकस्त दी. 

मंजू ने दिलाया दूसरा पदक
भारत के लिए दोहरी खुशी का मौका रहा क्योंकि मंजू ने भी ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया, उन्होंने वियतनाम की थि हुओंग दाओ को 11-2 से पराजित किया. मंजू कुमारी को 59 किग्रा में अंतिम चार में मंगोलिया की बाटसेतसेग अल्टानसेतसेग के हाथों 6-15 से पराजय मिली जिससे वह ब्रॉन्ज मेडल दौर में पहुंची. मंजू ने इससे पहले क्वार्टरफाइनल में कजाखस्तान की मदीना बाकबेरजेनोवा को 5-3 से शिकस्त दी थी. 

यह भी पढ़ें: VIDEO: IPL में हार्दिक के बाद इस यंग प्लेयर ने भी लगाया धोनी की तरह हेलीकॉप्टर शॉट 

यहां मिली निराशा
सीमा ने भी प्ले आफ में जगह बना ली थी, लेकिन वह देश के लिए ब्रॉन्ज मेडल की हैट्रिक करने से चूक गयी और 50 किग्रा वर्ग में कजाखस्तान की वालेंटिना इवानोवना इस्लामोवा ब्रिक से 5-11 से पराजित हो गयी. सीमा ने अपनी रेपेचेज बाउट में चीनी ताइपे की मेंग सुआन सिए को 10-2 से मात दी थी. सीमा इससे पहले क्वालीफिकेशन दौर में जापान की युकी इरी से हार गयी थी लेकिन उनकी प्रतिद्वंद्वी फाइनल में पहुंच गयी जिससे वह रेपेचेज दौर में पहुंचीं.

यह भी पढ़ें: VIDEO: विनोद कांबली ने गाया सचिन के बर्थडे पर दोस्ती का गाना, जवाब में मिला यह सवाल

हालांकि भारत का अभियान 55 किग्रा और 76 किग्रा वजन वर्ग में शुरू में ही खत्म हो गया जब ललिता और पूजा अपने वजन वर्ग की क्वार्टरफाइनल बाउट में हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गईं.