हाडिन को बाहर करने के फैसले को ऑस्ट्रेलियाई दिग्गजों ने बताया अपमानजनक

आस्ट्रेलिया के महान क्रिकेटर रिकी पोंटिंग और इयान हीली ने इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट से विकेटकीपर ब्राड हाडिन को बाहर करने के फैसले की निंदा करते हुए इसे भूल बताया जबकि मैथ्यू हेडन ने इसे अपमानजनक करार दिया। उपकप्तान हाडिन की जगह इस मैच में युवा पीटर नेविल को शामिल किया गया है जिसने दूसरे टेस्ट में अच्छा प्रदर्शन किया था । सैतीस बरस के हाडिन अपनी बेटी की तबीयत खराब होने से दूसरा टेस्ट नहीं खेले थे ।

हाडिन को बाहर करने के फैसले को ऑस्ट्रेलियाई दिग्गजों ने बताया अपमानजनक

सिडनी: आस्ट्रेलिया के महान क्रिकेटर रिकी पोंटिंग और इयान हीली ने इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट से विकेटकीपर ब्राड हाडिन को बाहर करने के फैसले की निंदा करते हुए इसे भूल बताया जबकि मैथ्यू हेडन ने इसे अपमानजनक करार दिया। उपकप्तान हाडिन की जगह इस मैच में युवा पीटर नेविल को शामिल किया गया है जिसने दूसरे टेस्ट में अच्छा प्रदर्शन किया था । सैतीस बरस के हाडिन अपनी बेटी की तबीयत खराब होने से दूसरा टेस्ट नहीं खेले थे ।

पूर्व कप्तान पोंटिंग ने कहा ,‘ मैं ब्राड हाडिन को टेस्ट टीम से बाहर करने के फैसले से निराश हूं । वह लार्डस पर खेल सकता था लेकिन उसने अपनी बीमार बेटी के साथ रहने का सही फैसला किया ।’ उन्होंने द आस्ट्रेलियन में अपने कालम में लिखा ,‘ मैं जानता हूं कि उसके लिये यह कठिन फैसला रहा होगा । उसने आस्ट्रेलियाई क्रिकेट की काफी सेवा की है लेकिन उसने परिवार को तरजीह देकर सही फैसला लिया और उसका खामियाजा भुगता । मैं जानता हूं कि वह कोई गिला नहीं करेगा लेकिन मुझे यह फैसला नागवार गुजरा है ।’’ हाडिन की बेटी न्यूरोब्लास्टोमा से जूझ रही है जो एक दुर्लभ प्रकार का कैंसर है और पांच साल या कम उम्र के बच्चे इसकी चपेट में आते हैं ।

आस्ट्रेलिया की विश्व कप जीत के बाद वनडे क्रिकेट को अलविदा कहने वाले हाडिन अक्तूबर में 38 बरस के हो जायेंगे । पूर्व सलामी बल्लेबाज हेडन ने कहा ,‘ उसके साथ इतना कुछ हुआ और फिर उसे यूं टेस्ट टीम से बाहर किया जाना अपमानजनक है । दुनिया का कोई भी मां या बाप जो इस स्थिति से गुजर रहा हो, वह समझ सकता है कि ब्राड लार्डस पर क्रिकेट खेलने की स्थिति में नहीं था । चयनकर्ता क्या परिपाटी कायम करना चाहते हैं ।’ हीली ने कहा ,‘ यह ब्राड हाडिन के खिलाफ कठोर फैसला है । श्रृंखला के आखिर में उसकी जगह नेविल को मौका दिया जा सकता था ।’