close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Australian Open: नडाल ने बर्डिख को हराया, क्वार्टरफाइनल में टिएफाओ से होगा मुकाबला

ऑस्ट्रेलियन ओपन में रफाल नडाल ने थॉमस बर्डिख का हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया.

Australian Open: नडाल ने बर्डिख को हराया, क्वार्टरफाइनल में टिएफाओ से होगा मुकाबला
रफाल नडाल ने प्रीक्वार्टरफाइनल में थॉमस बर्डिख को सीधे सेटों में हराया. (फोटो: Reuters)

मेलबर्न:  वर्ल्ड नंबर-2 स्पेन के राफेल नडाल ने रविवार को यहां दमदार प्रदर्शन करते हुए ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है. नडाल ने चौथे दौर में चेक गणराज्य के थॉमस बर्डिख को सीधे सेटों में 6-0, 6-1, 7-6 (7-4) से शिकस्त दी. उन्होंने 11वीं बार इस टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई है. वहीं एक अन्य मुकाबले में अमेरिका के फ्रांसेस टिएफाओ ने  बुल्गारिया के ग्रीगोर दिमित्रोव को हराकर  क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया.

रॉड लेवर एरेना में खेला गया यह मुकाबला केवल दो घंटे और पांच मिनट तक ही चला. 17 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता नडाल ने अपनी ताकत और तेजी का सही उपयोग करते हुए बेहतरीन शुरुआत की और विपक्षी खिलाड़ी को पहले सेट में एक भी गेम जीतने का मौका नहीं दिया. दूसरे सेट में भी नडाल ने अपने खेल के स्तर में कमी नहीं आने दी. बर्डिख दूसरे सेट में केवल एक अंक ही हासिल कर पाए. हालांकि, तीसरे सेट में दर्शकों को रोमांचक मुकाबला देखने को मिला. 

बर्डिख ने स्पेनिश दिग्गज को परेशानी में डाला और तीसरे सेट को टाई-ब्रेकर तक ले गए लेकिन अंतिम क्षणों में उन्होंने गलतियां की जिसके कारण नडाल 7-4 से जीत दर्ज करने में कामयाब रहे. 

टिएफाओ ने दिमित्रोव को चौथे दौर में हराया
अमेरिका के फ्रांसेस टिएफाओ ने बुल्गारिया के ग्रीगोर दिमित्रोव को हराकर टूर्नामेंट से बाहर कर दिया. टिएफाओ ने दिमित्रोव को 7-5, 7-6 (8-6), 6-7 (1-7), 7-5 से शिकस्त देते हुए क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया जहां उनका मुकाबला 17 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता स्पेन के महान खिलाड़ी राफेल नडाल से होगा. टिएफाओ ने अपने करियर में पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई है. 

अमेरिकी खिलाड़ी ने चार सेट तक चले इस मुकाबले को तीन घंटे 39 मिनट में जीता. टिएफाओ को हर सेट को जीतने के लिए कड़ी मश्क्कत करनी पड़ी लेकिन अहम मौकों पर संयम बरतते हुए उन्होंने अपने करियर में अब तक सबसे बेहतरीन नतीजा हासिल करने में कामयाबी पाई. उन्होंने इस मैच में 63 विनर और 10 एस लगाए जबकि दिमित्रोव ने 59 विनर और 21 एस दागे. 

(इनपुट आईएएनएस)