अवनि लखेड़ा ने रचा इतिहास, टोक्यो पैरालंपिक में गोल्ड पर लगाया निशाना; योगेश-देवेंद्र ने जीता सिल्वर
topStories1hindi975460

अवनि लखेड़ा ने रचा इतिहास, टोक्यो पैरालंपिक में गोल्ड पर लगाया निशाना; योगेश-देवेंद्र ने जीता सिल्वर

अवनि ने फाइनल में 249.6 अंक बनाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी की और पहला स्थान हासिल किया. उन्होंने चीन की झांग कुइपिंग (248.9 अंक) को पीछे छोड़ा. यूक्रेन की इरियाना शेतनिक (227.5) ने कांस्य पदक जीता. 

अवनि लखेड़ा ने रचा इतिहास, टोक्यो पैरालंपिक में गोल्ड पर लगाया निशाना; योगेश-देवेंद्र ने जीता सिल्वर

टोक्यो: भारत की अवनि लखेड़ा ने सोमवार को टोक्यो पैरालंपिक खेलों की निशानेबाजी प्रतियोगिता में महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल के क्लास एसएच1 के फाइनल में जीत दर्ज करते हुए गोल्ड पर निशाना लगाया. अवनि ने फाइनल में 249.6 अंक बनाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी की और पहला स्थान हासिल किया. उन्होंने चीन की झांग कुइपिंग (248.9 अंक) को पीछे छोड़ा. यूक्रेन की इरियाना शेतनिक (227.5) ने कांस्य पदक जीता. 

अवनि लखेड़ा ने गोल्ड पर लगाया निशाना

अवनि पैरालंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी हैं. यह भारत का इन खेलों की निशानेबाजी प्रतियोगिता में भी पहला पदक है. टोक्यो पैरालंपिक में भी यह देश का पहला स्वर्ण पदक है. पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाली वह तीसरी भारतीय महिला हैं.

योगेश-देवेंद्र को सिल्वर, सुंदर ने जीता ब्रॉन्ज 

अवनि लखेड़ा के इतिहास रचने के बाद भारत के देवेंद्र झाझरिया ने पुरुषों के भाला फेंक के एफ46 वर्ग में सिल्वर मेडल जीता. वहीं, भारत के योगेश कथूनिया ने पुरुषों की चक्का फेंक स्पर्धा के एफ56 वर्ग में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए सिल्वर मेडल जीता. इसके अलावा सुंदर सिंह गुर्जर ने पैरालंपिक खेलों में पुरुषों के भाला फेंक के एफ46 वर्ग में कांस्य पदक जीता.

प्रधानमंत्री ने दी बधाई

19 साल की शूटर अवनि ने 249.6 का स्कोर बनाया और बाजी मारते हुए गोल्ड पर कब्जा जमाया. पैरालंपिक्स के इतिहास में यह भारत का शूटिंग में यह पहला गोल्ड मेडल है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अवनि लखेड़ा को बधाई दी है. 

शानदार रहा अवनि का सफर 

अवनि से पहले भारत की तरफ से पैरालंपिक खेलों में मुरलीकांत पेटकर (पुरुष तैराकी, 1972), देवेंद्र झाझरिया (पुरुष भाला फेंक, 2004 और 2016) तथा मरियप्पन थंगावेलु (पुरुष्ज्ञ ऊंची कूद, 2016) ने स्वर्ण पदक जीते थे. अवनि ने इससे पहले क्वालिफिकेशन राउंड में 21 निशानेबाजों के बीच सातवें स्थान पर रहकर फाइनल्स में प्रवेश किया था. अवनि ने 60 सीरीज के छह शॉट के बाद 621.7 का स्कोर बनाया जो शीर्ष आठ निशानेबाजों में जगह बनाने के लिये पर्याप्त था. चीन की कुइपिंग और यूक्रेन की शेतनिक ने क्वालिफिकेशन में 626.0 के पैरालंपिक रिकॉर्ड के साथ पहले दो स्थान हासिल किये थे.

Trending news