बार्सिलोना बना दुनिया का सबसे अमीर फुटबॉल क्लब, इस बार कमाए इतने करोड़

Football: बार्सिलोना ने सबसे ज्यादा कमाई के मामले में 2018-19 में रियल मैड्रिड को पीछे छोड़ दिया है. 

बार्सिलोना बना दुनिया का सबसे अमीर फुटबॉल क्लब, इस बार कमाए इतने करोड़
बार्सिलोना ने पिछले साल के मुकाबले 22 प्रतिशत ज्यादा कमाई की है. (फोटो: Reuters)

मैड्रिड: स्पेन के मशहूर क्लब एफसी बार्सिलोना (FC Barcelona) ने दुनिया के सबसे अमीर फुटबॉल क्लबों में पहला स्थान हासिल किया है. बार्सिलोना ने इस मामले में रियल मैड्रिड को पीछे छोड़ा है जो इससे पिछले सत्र में सबसे में टॉप पर रही थी. 

डेलोइट की फुटबॉल मनी लीग के अनुसार, बार्सिलोना की सत्र 2018-19 में रिकॉर्ड 84.08 करोड़ यूरो ( 93.597 करोड़ अमरीकी डॉलर) की कमाई की है. क्लब की कमाई में पिछले सीजन के मुकाबले 22 प्रतिशत का उछाल आया जब उसने 69.04 करोड़ यूरो कमाए थे.

यह भी पढ़ें: सेरेना ने मां बनने के बाद जीता पहला खिताब और दान कर दी पूरी पुरस्कार राशि

बार्सिलोना क्लब ने इस सत्र में व्यवसायिक आमदनी में 38.35 करोड़ यूरो ज्यादा कमाए जो कि 19 प्रतिशत ज्यादा रहा. वहीं प्रसारण आमदनी में उसने 29.80 करोड़ यूरो ज्यादा कमाए जो कि 34 प्रतिशत ज्यादा रहा. अपनी कमाई में इजाफे के कारण बार्सिलोना ने अपने पुराने प्रतिद्वंदी रियर मेड्रिड को पीछे छोड़ दिया है, जिसने 75.73 करोड़ यूरो कमाए. यह उसका पिछले सीजन से एक प्रतिशत अधिक था. रियल ने पिछले सीरीज में 75.09 करोड़ यूरो की कमाई की थी. 

इस सूची में टॉप 10 क्लबों में पांच इंग्लिश क्लब हैं. इनमें मानचेस्टर यूनाइटेड तीसरे  स्थान पर है. वहीं जर्मन क्लब बायेर्न म्युनिख चौथे स्थान पर, और फ्रांस का क्लब पेरिस सेंट जर्मेन पांचवे स्थान पर है. वहीं इटली का युवेट्स 10वे स्थान पर रहा.  बार्सिलोना और केवल रियल मेड्रिड के अलावा एट्लेटिको मैड्रिड ही शीर्ष 20 अमीर क्लबों में जगह बना सका. एट्लेटिको को पिछले साल 21 प्रतिशत इजाफे के साथ 36.76 करोड़ यूरो की कमाई हुई और वह 13वें स्थान पर है.

साल 2018-19 में दुनिया के बीस सबसे अमीर क्लबों ने 9.3 अरब यूरो कमाए हैं रैंकिंग के 23 वें संस्करण में जारी आंकड़ो में यह पिछले सीजन में 11 प्रतिशत की ज्यादा कमाई है. इस में टेलीविजन प्रसारण अधिकार  मे 16 प्रतिशत ( कुल 57.5 करोड़ यूरो),  व्यावसायिक आमदनी में 9 प्रतिशत (कुल 31.3 करोड़ यरो) और मैच डे आमदनी में चार प्रतिशत ( कुल 5.1 करोड़ यूरो) का इजाफा हुआ है.