close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Boxing: शिवा थापा ने निभाया खेल मंत्री से किया खास वादा, प्रेसिडेंट्स कप में जीता गोल्ड

मुक्केबाजी में शिवा थापा ने कजाकिस्तान में  प्रेसिडेंट्स कप में  गोल्ड मेडल जीता उससे पहले थापा ने खेल मंत्री से वादा किया था कि वे अपने बेस्ट खेल दिखाएंगे. 

Boxing: शिवा थापा ने निभाया खेल मंत्री से किया खास वादा, प्रेसिडेंट्स कप में जीता गोल्ड
(फोटो :IANS)

नई दिल्ली: भारत में खेलों बेटिंग पर बैन है. लेकिन कई बार खिलाड़ी खेल से पहले ही दावा कर जाते हैं कि वे ही खिताब जीतेंगे. ऐसा ही कुछ देखने को मिला जब चार बार के एशियाई चैंपियन भारत के स्टार मुक्केबाज शिवा थापा ने कजाखिस्तान के नूर सुल्तान में समाप्त हुए प्रेसिडेंट्स कप में गोल्ड अपने नाम कर लिया. इससे पहले ट्रेनिंग कैंप ने थापा ने खेलमंत्री किरन रिजीजू से वादा किया था कि वे इस टूर्नामेंट में अपना बेस्ट करके दिखाएंगे.

2006 के बाद पहला गोल्ड है भारत का
 थापा ने 63 किग्रा वर्ग में गोल्ड जीता. 2006 में टूर्नामेंट के शुरुआत के बाद से भारत का यह अब तक का पहला गोल्ड मेडल है. भारत ने टूर्नामेंट में कुल चार पदक जीते. इनमें से एक गोल्ड, एक सिल्वर और दो ब्रॉन्ज मेडल हैं. थापा को फाइनल में दो बार के एशियाई कॉन्फेडरेशन मुक्केबाजी चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाले कजाखस्तान के जाकिर सैफुलीन से भिड़ना था. लेकिन जाकिर, सेमीफाइनल में चोटिल हो गए थे, जिससे फाइनल के लिए थापा को वाकओवर मिल गया और उन्होंने टूर्नामेंट के इतिहास में पहली बार भारत के खाते में गोल्ड मेडल डाल दिया.

यह भी पढ़ें: Athletics: हिमा दास की गोल्डन उड़ान जोरों पर, तीन हफ्तों में जीता 5वां सोना

यह वादा किया था खेल मंत्री से
थापा ने खेलमंत्री को जो वादा किया था उसका खुलासा खुद खेल मंत्री ने अपने ट्वीट में किया. रिजीजू ने अपने ट्वीट में कहा, “उस दिन नेशनल ट्रेनिंग कैंप में शिवा थापा ने मुझसे वादा किया था कि वहे भारत को अपना बेस्ट देंगे और आज उन्होंने अपना वादा निभाया. उन्हें 63 किलो वर्ग में प्रेसिडेंट गोल्ड मेडल जीतने पर बधाई.”

महिलाओं में प्रवीन को 60 किग्रा वर्ग में सिल्वर पदक से संतोष करना पड़ा. इंडिया ओपन में ब्रॉन्ज पदक जीतने वाली 19 साल की प्रवीन को फाइनल में कजाखिस्तान की रिमा वोलोसेंको के हाथों 0-5 से हार का सामना करना पड़ा. इसके अलावा 69 किग्रा में दुर्योधन सिंह नेगी को कजाखिस्तान के शाइकन तलगत से 1-4 से और 75 किग्रा में स्वीटी बोरा को रूस की एलिना गापेशिना से हारकर ब्रॉन्ज पदक से संतोष करना पड़ा.
(इनपुट आईएएनएस)