close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सेमेन्या ने दुती चंद से कहा, लिंग को लेकर बकवास के बजाय प्रैक्टिस पर ध्यान दो

बर्लिन विश्व चैंपियनशिप 2009 में स्वर्ण पदक जीतने के बाद सेमेन्या के लिंग को लेकर सवाल उठाये गये और इस कारण उन्हें 11 महीने तक बाहर रहना पड़ा. 

सेमेन्या ने दुती चंद से कहा, लिंग को लेकर बकवास के बजाय प्रैक्टिस पर ध्यान दो
भारतीय एथलेटिक्स संघ ने 2014 में दुती पर प्रतिबंध लगा दिया था. (फाइल फोटो)

लंदन: दुती चंद जिन हालातों से गुजरी हैं उसे कास्टर सेमेन्या से बेहतर कोई नहीं जान सकता और इस दक्षिण अफ्रीकी एथलीट ने अब भारतीय खिलाड़ी को सलाह दी है कि वह उनके लिंग परीक्षण को लेकर चल रही ‘बकवास’ पर गौर करने के बजाय अपने अभ्यास पर ध्यान केंद्रित करे. रियो ओलंपिक में 800 मीटर दौड़ की चैंपियन सेमेन्या को दुती के प्रति खेद है क्योंकि इस भारतीय की तरह उन्हें भी लिंग परीक्षण विवाद से गुजरना पड़ा था. बर्लिन विश्व चैंपियनशिप 2009 में स्वर्ण पदक जीतने के बाद सेमेन्या के लिंग को लेकर सवाल उठाये गये और इस कारण उन्हें 11 महीने तक बाहर रहना पड़ा. आईएएएफ ने पूरी जांच प्रक्रिया से गुजरने के बाद उन्हें वापसी की अनुमति दी थी.

सेमेन्या से पूछा गया कि जब वह रियो में दुती से मिली थी तो उन्होंने उससे क्या कहा, ‘हमने बहुत अधिक बात नहीं की. हमने एक दूसरे को शुभकामनाएं दी और हालचाल पूछा. वह बहुत अच्छी लड़की है. उसने अपने प्रशिक्षण पर और बेहतर प्रदर्शन करने पर ध्यान देना चाहिए. मुझे उसके लिये खेद है. वह अभी युवा है, लेकिन हमारी स्थिति एक समान नहीं है. मैं अपनी तरह से इन चीजों से निबटी.’ अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स महासंघ (आईएएएफ) की हाइपरैनड्रोजेनिज्म नीति के कारण उन महिला एथलीटों को खेलने की अनुमति नहीं दी जाती है जिनका टेस्टोस्टेरोन का स्तर अधिक हो क्योंकि माना जाता है कि इससे उन्हें अपनी प्रतिद्वंद्वियों पर लाभ मिलता है.

भारतीय एथलेटिक्स संघ ने 2014 में इसी नीति के तहत दुती पर प्रतिबंध लगा दिया था. दुती ने स्विट्जरलैंड के लुसाने स्थित खेल पंचाट (सीएएस) में इसे चुनौती दी जिसने जुलाई 2015 में यह प्रतिबंध हटा दिया था और इस नीति को भी दो साल के लिये प्रतिबंधित कर दिया था. अब दो साल की अवधि पिछले महीने समाप्त हो गयी है और आईएएएफ ने सीएएस के पास जाकर ताजा सबूत पेश करने का फैसला किया है. इस पर इस महीने के आखिर में सुनवाई हो सकती है.

सेमेन्या ने सोमवार (7 अगस्त) को विश्व चैंपियनिशप में 1500 मीटर में कांस्य पदक जीता. सेमेन्या ने लिंग परीक्षण को लेकर चल रही बातचीत को बकवास करार दिया. उन्होंने कहा, ‘‘मेरे पास इस पर बात करने के लिये समय नहीं है. इसको नौ साल हो गये हैं और यह बोरियत भरा है. जो बीत गया मैं उस पर नहीं बल्कि भविष्य पर ध्यान दे रही हूं.’