चैंपियंस ट्रॉफी 2017 : बांग्लादेश ने 'सिक्सर किंग' को बताया टीम इंडिया की 'कमजोर कड़ी'

भारत-बांग्लादेश के बीच होने वाले मैच से पहले बांग्लादेश क्रिकेट टीम के श्रीलंकाई कोच चंडिका हथुरासिंघा ने अपने खिलाड़ियों के जीत का मंत्र दिया और सर्तक रहने को कहा. उन्होंने कहा, यह बहुत बड़ा मैच नहीं बल्कि बहुत बड़ा मौका है. 

 चैंपियंस ट्रॉफी 2017 : बांग्लादेश ने 'सिक्सर किंग' को बताया टीम इंडिया की 'कमजोर कड़ी'
बांग्लादेश ने युवराज सिंह को बताया टीम इंडिया की 'कमजोर कड़ी'

नई दिल्ली : भारत-बांग्लादेश के बीच होने वाले मैच से पहले बांग्लादेश क्रिकेट टीम के श्रीलंकाई कोच चंडिका हथुरासिंघा ने अपने खिलाड़ियों के जीत का मंत्र दिया और सर्तक रहने को कहा. उन्होंने कहा, यह बहुत बड़ा मैच नहीं बल्कि बहुत बड़ा मौका है. 

बता दें कि 15 जून को भारत-बांग्लादेश के बीच होने वाले चैंपियंस ट्रॉफी के दूसरे सेमीफाइनल मैच के पहले बांग्लादेशी खेमे से कई तरह की बातें सुनने को मिल रही है . ये बातें मुख्यरूप से विराट कोहली की अगुआई वाली टीम इंडिया पर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने के लिए की जा रही हैं. 

इंडिया टुडे में छपी खबर के मुताबिक, बांग्लादेशी खेमे को लगता है कि युवराज सिंह टीम इंडिया की सबसे कमजोर कड़ी हैं और वे उनकी खराब फील्डिंग को मैदान में निशाना बनाएंगे. वहीं बांग्लादेशी खेमा अपनी गेंदबाजों को लेकर खासा उत्साहित है. 

खबरों के मुताबिक वे मैच में चार तेज गेंदबाजों- मशरफे मुर्तजा, तस्कीन अहमद, रुबैल हुसैन, और मुस्ताफिजुर रहमान के साथ उतर सकते हैं. ऐसे में वे भारतीय बल्लेबाजी आक्रमण को अपनी तेजी और आक्रामकता के सहारे ढहाने की कोशिश करेंगे.

बांग्लादेश के कोच चंदिका हथरुसिंहा के मुताबिक, बांग्लादेश के पास ज्यादा संतुलित और विविध गेंदबाजी आक्रमण है. ऐसे में उनमें भारतीय बल्लेबाजों को छलनी कर देने की ताकत है. उनकी आंखें भारतीय ओपनरों और विराट कोहली को आउट करने पर लगी रहेंगी. ऐसे में उनकी आंखे भारतीय मध्यक्रम को ढहाने पर होंगी जो उन्हें लगता है कि अभी भी उतना मजबूत नहीं है. इसके अलावा बांग्लादेशी कोच ने भारतीय फील्डिंग को निशाना बनाते हुए कहा कि उनकी टीम की फील्डिंग टीम इंडिया से बेहतर है. 

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक पत्रकार ने हथुरासिंघा से पूछा कि क्या बांग्लादेश की टीम में बदले की भावना है तो उन्होंने कहा, बदले जैसी कोई भावना नहीं है. यह एक बहुत अच्छी भारतीय टीम के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने से जुड़ा है. एक जीत से हमारा काफी मनोबल बढ़ेगा. हम मैच जीतने और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के बारे में सोच रहे हैं.