कभी पंजाब पुलिस ने हरमनप्रीत को नौकरी से किया था इनकार, अब CM ने दिया DSP का ऑफर

हरमनप्रीत पंजाब के मोगा जिले से ताल्लुक रखती हैं. उन्होंने शुक्रवार को ऑस्ट्रेलियाई महिला टीम के खिलाफ महज 115 गेंदों में नाबाद 171 रन बनाकर भारतीय महिला क्रिकेट टीम को विश्व कप के फाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई थी.

कभी पंजाब पुलिस ने हरमनप्रीत को नौकरी से किया था इनकार, अब CM ने दिया DSP का ऑफर
मुख्यमंत्री ने हरमनप्रीत के लिए पांच लाख रुपये के नकद पुरस्कार की घोषणा भी की है. (FILE PHOTO)

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने आईसीसी महिला विश्व कप में शानदार प्रदर्शन करने वाली भारतीय महिला बल्लेबाज हरमनप्रीत सिंह को पंजाब पुलिस में  बतौर डीएसपी पद पर शामिल होने का प्रस्ताव दिया है. मुख्यमंत्री के प्रवक्ता ने सोमवार को कहा कि यदि हरमनप्रीत की इच्छा हो तो मुख्यमंत्री ने उनके लिए पुलिस उपाधीक्षक के पद का प्रस्ताव रखा है.

अमरिंदर ने लंदन के लॉर्ड्स क्रिकेट मैदान में खेले गए विश्व कप फाइनल के बाद एक बयान में कहा कि इस युवती ने अपने शानदार प्रदर्शन से टीम इंडिया को सेमीफाइनल में दिलाई और फाइनल मैच में इंग्लैंड के साथ कड़ा मुकाबला कर भारतीय टीम को बेहद करीबी अंतर से दूसरा स्थान दिलाया.

मुख्यमंत्री ने हरमनप्रीत के लिए पांच लाख रुपये के नकद पुरस्कार की घोषणा भी की. प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री ने मीडिया रिपोर्ट्स का संज्ञान लेते हुए कि कुछ साल पहले हरमनप्रीत पंजाब पुलिस में शामिल होना चाहती थीं, कहा कि उनकी सरकार पूर्ववर्ती (प्रकाश सिंह) बादल सरकार द्वारा युवा महिला खिलाड़ी के साथ किए अन्याय को सुधारना चाहती है, जिसने राष्ट्रीय खिलाड़ी को पंजाब पुलिस में शामिल करने से इनकार कर दिया था.

अमररिंदर ने हरमनप्रीत के पिता हरमिंदर सिंह से कहा कि अगर उनकी बेटी अब भी सरकारी नौकरी की इच्छुक हैं तो वह उनके लिए राज्य की खेल नीति में बदलाव की समीक्षा करेंगे.

गौरतलब है कि इससे पहले साल 2011 में हरमनप्रीत पंजाब पुलिस में शामिल होना चाहती थी, लेकिन बीजेपी-अकाली दल के गठबंधन वाली बादल सरकार ने हरमनप्रीत को पुलिस की नौकरी देने से मना कर दिया था. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो पुलिस प्रशासन ने हरप्रीत को यह कहकर नौकरी देने से इनकार कर दिया था कि आप हरभजन सिंह नहीं हो जो आपको पुलिस में शामिल करें.   

हरमनप्रीत पंजाब के मोगा जिले से ताल्लुक रखती हैं. उन्होंने शुक्रवार को ऑस्ट्रेलियाई महिला टीम के खिलाफ महज 115 गेंदों में नाबाद 171 रन बनाकर भारतीय महिला क्रिकेट टीम को विश्व कप के फाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई थी.