Breaking News
  • कोलकाता से आज से घरेलू उड़ानें शुरू, एयरपोर्ट पर 10 उड़ानें आएंगी और इतनी ही जाएंगी

IPL इतिहास के ऐसे 5 रिकॉर्ड, जो शायद कभी नहीं टूटेंगे

IPL जैसे मशहूर टूर्नामेंट्स में रिकॉर्ड्स का बनना और टूटना कोई नई बात नहीं है, लेकिन कई ऐसे रिकॉर्ड्स हैं जिनको तोड़ना काफी मुश्किल है.

IPL इतिहास के ऐसे 5 रिकॉर्ड, जो शायद कभी नहीं टूटेंगे

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) लंबे छक्कों, अद्भुत कैच, कुशल गेंदबाजी और अनगिनत रिकॉर्ड्स के लिए जाना जाता है. बहुत सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं, कई का अभी टूटा जाना बाकी है, आईपीएल में प्रतिभा और प्रर्दशन का ऐसा गठजोड़ देखने को मिलता है जैसा आपको कहीं और नहीं मिलेगा और यही वजह है कि आईपीएल आज क्रिकेट की दुनिया में सबसे बड़ी लीग बन गई है. कोरोना वायरस की वजह से इस साल के आईपीएल सीजन पर खतरे के बादल मंडरा रहे है, लेकिन पिछले 12 सीज़न्स में आईपीएल में ऐसे कई रिकॉर्ड्स बने हैं जो शायद कभी न टूटें. आइए जानते हैं ऐसे 5 रिकोर्डस् के बारे में. 

1-क्रिस गेल  की 175 रन की आतिशी पारी

साल 2013 के आईपीएल में क्रिस गेल ने एक ऐसी पारी खेली जिसे देखकर सब भौच्चके रह गए, उन्होंने इस तरह से पूणे वॉरियर्स के गेंदबाजों की जमकर धुनाई की और मैदान में चारो तरफ चौके और छक्के ही नज़र आए. उनकी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी का आलम ये था कि उन्होनें कब चिन्नास्वामी स्टेडियम में 66 गेंदों में नाबाद 175 रन बना डाले इस बात का पता ही नहीं चला. अपनी पारी के दौरान, बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने टी 20 में सबसे तेज 100 और टी 20 में सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर का रिकॉर्ड तोड़ा. अगर भविष्य में किसी को इस रिकॉर्ड को तोड़ना है तो उसे वैसी ही आतिशी बल्लेबाजी करनी होगी जैसी उस दिन गेल ने की थी.

2- विराट कोहली का रिकॉर्ड सीजन

साल 2016 में विराट कोहली ने आईपीएल के एक ही सीजन में 973 रन बनाए थे और यह कहना गलत नहीं होगा कि यह किसी भी फॉर्मेट और किसी भी हालात में कोई भी बल्लेबाज के लिए सबसे अच्छा सीजन था. उस सीजन में कोहली बेहरीन फॉर्म में थे और उन्होनें आईपीएल में भी अपना स्वर्णिम दौर जारी रखा. उन्हें पहले ही वर्ल्ड टी-20 में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का अवॉर्ड मिल चुका था. अपनी अच्छी फॉर्म को जारी रखते हुए उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए 81.08 की औसत से 16 मैचों में 973 रन बनाए जिनमें 4 शतक भी शामिल थे. हमें नहीं लगता इस रिकोर्ड को कोई तोड़ पाएगा।

3- चेन्नई सुपरकिंग्स का शानदार रिकॉर्ड - 9 सीज़न, 9 प्लेऑफ़, 7 फ़ाइनल और 3 ट्रॉफ़ी

ये कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) आईपीएल के इतिहास में सबसे ज्यादा दबदबा बनाने वाली टीम रही है. उन्होंने 11 में से 9 सीज़न खेले हैं और उन 9 सीज़न में से सीएसके ने हर बार प्लेऑफ़ में जगह बनाई है और ऐसा करने वाली वे एकलौती टीम हैं. 9 प्लेऑफ में से उन्होंने 7 मौकों पर फाइनल में जगह बनाई है जो कि किसी भी टीम द्वारा सबसे ज्यादा है और उन्होंने 3 ट्रॉफी भी उठाईं जो उन्हें ऐसा करने वाली मुंबई इंडियंस के बाद केवल दूसरी टीम बनाता है.

4- RCB का शर्मनाक प्रदर्शन - सबसे कम टीम स्कोर

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 2017 में ईडन गार्डेन पर केकेआर के साथ मुकाबला किया था. पहले बल्लेबाजी करने के बाद केकेआर ने  131 रनों का स्कोर खड़ा किया. जाहिर है आरसीबी ने अच्छी गेंदबाजी की थी और वे अपने प्रदर्शन से खुश थे. अब, RCB को इस स्कोर का पीछा करना था जो RCB की बल्लेबाजी लाइनअप को देखते हुए बहुत आसान काम होना चाहिए था, लेकिन ऐसा हुआ नहीं. कोहली जल्द ही शून्य पर आउट हो गए और एबी डिविलियर्स का विकेट भी जल्द ही गिर गया. बाकी विकट भी धीरे-धीरे गिरने शुरु हुए. देखते ही देखते RCB 9.4 ओवर में 49 रन पर ऑल आउट हो गई जोकि आइपीएल के इतिहास में किसी भी टीम द्वारा बनाए जाने वाला सबसे कम स्कोर है.

5- प्रशांत परमेश्वरण ने एक ओवर में 37 रन दिए

क्रिस गेल 2011 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम में ड्रिर्क नेन्स की जगह पर आए थे. अपने पहले मैच में, उन्होंने कोच्चि टस्कर्स के खिलाफ गार्ड लिया. बस फिर क्या था, उन्होनें अपने भारी-भरकम बैट का जो इस्तेमाल किया तो स्टेडियम में छक्कों की झड़ी लग गयी. अपने एक ओवर में प्रशांत परमेश्वरण ने 37 रन दिए, जिसमें एक नो बॉल भी शामिल थी. एक ओवर में 37 रन अनसुना लगता है, लेकिन यो एक ऐसा रिकॉर्ड है जो कई सालों तक बरकरार रह सकता है.