close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO : बेंगलुरु को अपने तूफान में उड़ाने के बाद धोनी ने ऐसे संवारे नन्हीं जीवा के बाल

मैच में बेंगलुरु के गेंदबाजों के परखच्चे उड़ाने के बाद धोनी अपनी बेटी जीवा के साथ एक अच्छे पिता की भूमिका में नजर आए.

VIDEO : बेंगलुरु को अपने तूफान में उड़ाने के बाद धोनी ने ऐसे संवारे नन्हीं जीवा के बाल
महेंद्र सिंह धोनी पहले भी जीवा कई वीडियो शेयर करते रहे हैं. photo : Instagram

नई दिल्ली : आईपीएल में चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी हर रोल में अपनी ड्यूटी बखूबी निभाते हैं. बुधवार को जब बेंगलोर के खिलाफ मैच टीम को उनकी सबसे ज्यादा जरूरत थी, तो वह सबसे आगे खड़े नजर आए. मैच में बेंगलुरु के गेंदबाजों के परखच्चे उड़ाने के बाद धोनी अपनी बेटी जीवा के साथ एक अच्छे पिता की भूमिका में नजर आए. धोनी जीवा के बाल संवारते नजर आए.

धोनी ने इंस्टाग्राम पर पर वीडियो शेयर किया, इसमें वह अपनी तीन साल की बेटी जीवा के बाल संवारते दिख रहे हैं. धोनी इससे पहले भी जीवा के क्यूट वीडियो इंस्टाग्राम पर शेयर करते रहते हैं.

विराट कोहली को मैच के बाद धोनी ने दी 'सीख', बताया ऐसे होती है कप्तानी

धोनी ने वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा... मैच अब खत्म हुआ, अब डेडी की ड्यूटी शुरू. इससे पहले पिछले मैच में धोनी जब बल्लेबाजी कर रहे थे, तब जीवा ने उनसे मिलने की जिद पकड़ ली थी. सोशल मीडिया पर इस वीडियो को भी खूब पसंद किया गया था.

 

Game over, had a nice sleep now back to Daddy’s duties

A post shared by M S Dhoni (@mahi7781) on

बतौर कप्तान टी-20 में धौनी के 5000 रन पूरे
चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कप्तान के रूप में टी-20 में अपने 5000 रन पूरे कर लिए हैं. 36 साल के धोनी ने यहां एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में बुधवार रात को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ 34 गेंदों पर खेली गई 70 रन की नाबाद पारी के दौरान यह उपलब्धि हासिल की. धोनी यह कीर्तिमान रचने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए हैं.

कप्तान धोनी ने अपनी पारी के दौरान सात छक्के भी उड़ाए. यह पहला मौका है जब उन्होंने आईपीएल की एक पारी में सबसे ज्यादा सात छक्के लगाए. उन्होंने 2013 के बाद से पहली बार आईपीएल के एक सीजन में दो अर्धशतक बनाए हैं. धोनी ने मैच के बाद कहा कि यह जरूरी है कि आपके दिमाग में हमेशा यह बात रहे कि कितने ओवर बचे हैं और इन डेथ ओवरों में कौन गेंदबाजी करेगा.