AUS vs PAK: नसीम शाह बने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट आगाज करने वाले सबसे युवा क्रिकेटर

 Australia vs Pakistan: 16 साल के नसीम शाह ने अब तक केवल 7 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं. वे टेस्ट डेब्यू करने वाले दुनिया के 9वें युवा खिलाड़ी हैं. 

AUS vs PAK: नसीम शाह बने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट आगाज करने वाले सबसे युवा क्रिकेटर
नसीम को जब डेब्यू कैप दी गई तब वे भावुक हो गए थे. (फोटो: IANS)

 ब्रिसबेन: सोलह साल के पाकिस्तानी पेसर नसीम शाह (Naseem Shah) ने अपने पहले टेस्ट में खास रिकॉर्ड बना लिया है. नसीम गुरुरवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ (Australia vs Pakistan) शुरू हुई टेस्ट सीरीज के पहले मैच में खेल कर ऑस्ट्रेलिया में करियर का पहला टेस्ट खेलने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बन गए हैं. नसीम ने 72 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा. इस मैच में पाकिस्तान ने पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन पहले दिन केवल 87 ओवरों के भीतर ही टीम आउट हो गई

इयान क्रैग का तोड़ा रिकॉर्ड
केवल 16 साल और 279 दिन के नसीम ने ऑस्ट्रेलिया में अपना टेस्ट डेब्यू करने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बने. नसीम से पहले यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान क्रैग के नाम था जिन्होंने 17 साल की उम्र में 1953 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहला टेस्ट खेला था. उन्होंने यह मैच मेलबर्न में खेला था. 

यह भी पढ़ें: IND vs BAN: ऐतिहासिक मैचों का गवाह है ईडन, यह पहला टेस्ट होगा दोनों टीमों के बीच

यह रिकॉर्ड भी
इसके अलावा नसीम टेस्ट क्रिकेट इतिहास में तीसरे सबसे युवा तेज गेंदबाज भी बन गए हैं. उनसे आगे बांग्लादेश के मोहम्मद शरीफ और पाकिस्तान के आकिब जावेद हैं जिन्होंने तेज गेंदबाज के रूप में अपना टेस्ट में पदार्पण किया था. शरीफ टेस्ट डेब्यू करने वाले जहां तीसरे युवा खिलाड़ी हैं, वहीं आकिब जावेद चौथे स्थान पर हैं. 

पाकिस्तान के नाम ही है यह रिकॉर्ड
टेस्ट खेलने में सबसे युवा खिलाड़ी के तौर पर फिलहाल पाकिस्तान के ही हसन राजा का नाम दर्ज है जिन्होंने 1996 में जिम्बाब्वे के खिलाफ अपना पहला टेस्ट 14 साल 227 दिन की उम्र में खेला था. इस सूची में नसीम नौवे स्थान पर हैं. वहीं भारत के सचिन तेंदुलकर इस सूची में पांचवे स्थान पर हैं जिन्होंने 16 साल 205 दिन की उम्र में अपना पहला टेस्ट मैच खेला था. 

भावुक हो गए थे नसीम
पाकिस्तान टीम के बॉलिकं कोच वकार युनुस ने नसीम को टेस्ट कैप दी जिसके बाद नसीम भावुक हो गए और अपनी टीम के साथी शाहीन अफरीदी से गले मिलने के बाद अपनी आखों से आंसू पोछते दिखाई दिए जबकि बाकी खिलाड़ी उन्हें बधाई दे रहे थे. नसीम ने इसी दौरे के दौरान ही अपनी मां को खोया था, लेकिन परिवार वालों से बात करने के बाद उन्होंने पाकिस्तान वापस न जाने का फैसला किया. नसीम ने अब तक केवल 7 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं और इनमें उन्होंने 16.66 के औसत से 27 विकेट लिए हैं. 
(इनपुट आईएएनएस)