Breaking News
  • कोलकाता से आज से घरेलू उड़ानें शुरू, एयरपोर्ट पर 10 उड़ानें आएंगी और इतनी ही जाएंगी

रिकी पोंटिंग ने याद किया करियर का सबसे बुरा पल, जानें भज्जी से कैसे जुड़ा है यह मामला

रिकी पोंटिंग वनडे क्रिकेट के सबसे सफल कप्तान हैं. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया को अपनी कप्तानी में दो बार वर्ल्ड चैंपियन बनाया है.

रिकी पोंटिंग ने याद किया करियर का सबसे बुरा पल, जानें भज्जी से कैसे जुड़ा है यह मामला

मेलबर्न: दुनिया के सफल कप्तानों में शुमार रिकी पोंटिंग (Ricky Ponting) के करियर की सबसे खराब घटना भारत के साथ जुड़ी है. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ने खुद इस बात का खुलासा किया है. खास बात यह कि यह बात ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) से भी जुड़ी है. रिकी पोंटिंग वनडे क्रिकेट के सबसे सफल कप्तान हैं. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया को अपनी कप्तानी में दो बार वर्ल्ड चैंपियन बनाया है. 

रिकी पोंटिंग मानते हैं कि उनकी कप्तानी में सबसे बुरी घटना 2007-08 में खेली गई बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी (Border-Gavaskar Trophy) के दौरान घटी थी. उन्होंने स्काई स्पोर्टस के एक कार्यक्रम में कहा, 'मंकीगेट (Monkeygate), मेरी कप्तानी के दौरान हुआ सबसे खराब मामला था. साल 2005 में एशेज हारना भी बुरा था, लेकिन तब चीजें मेरे नियंत्रण में थीं. लेकिन मंकीगेट में जो हुआ, वह सब मेरे नियंत्रण से बाहर था.'

रिकी पोंटिंग कहते हैं, 'मंकीगेट, बेहद खराब मामला था, जो बहुत लंबा चला. मुझे याद है कि जब हम एडिलेड टेस्ट खेलने गए, तब भी मेरी ऑस्ट्रेलियाई अधिकारियों से इस बारे में बात हो रही थी क्योंकि इसकी सुनवाई इस मैच के बाद होनी थी.'

बता दें कि 2007-08 में खेले गए सिडनी में टेस्ट मैच (Sydney Test) में भारत के हरभजन सिंह और ऑस्ट्रेलिया के एंड्यू सायमंड्स (Andrew Symonds) के बीच विवाद हो गया था. सायमंड्स का आरोप था कि भज्जी ने उन्हें मंकी कहा है, जो नस्लीय टिप्पणी है. हरभजन सिंह का कहना था कि उन्होंने सायमंड्स को मंकी नहीं कहा है.

मंकीगेट मामला इतना बढ़ा कि भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया दौरे से बीच में लौटने की बात कह दी. इसके बाद आईसीसी ने मामले की जांच के लिए स्वतंत्र नियामक तय किया. न्यूजीलैंड के जज ने मामले की सुनवाई की. इसमें सायमंड्स के आरोप साबित नहीं हुए.