Bangla T20s: पाकिस्तानी खिलाड़ियों के न खेलने का मामला, PCB ने BCCI पर लगाया यह आरोप

पीसीबी का कहना है कि  एशिया एकादश और विश्व एकादश के बीच होने वाले मैचों को लेकर बीसीसीआई पाकिस्तानी फैंस को गुमराह कर रहा है. 

Bangla T20s: पाकिस्तानी खिलाड़ियों के न खेलने का मामला, PCB ने BCCI पर लगाया यह आरोप
पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड का कहना है कि बांग्ला टी20 में पाकिस्तानी खिलाड़ियों के न खेलने की वजह कुछ और है. (फाइल फोटो)

लाहौर: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड(PCB) ने कहा है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) पाकिस्तानी खिलाड़ियों के बारे में गलत और भ्रामक जानकारी दे रहा है. बोर्ड की यह प्रतिक्रिया तब आई है जब मीडिया में ऐसी खबरें आई थी कि बीसीसीआई ने बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) के द्वारा आयोजित किए जाने वाले एशिया एकादश और विश्व एकादश के बीच होने वाले मैचों में पाकिस्तान खिलाड़ियों को आमंत्रित किए जाने की संभावना कम बताई थी. 

इस मौके पर हो रहे हैं ये मुकाबले
गौरतलब है कि बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) अगले साल मार्च में बांग्लादेश के संस्थापक और 'बंगबंधू' के नाम से मशहूर शेख मुजीबुर रहमान की जन्म शताब्दी के मौके पर एशिया एकादश और विश्व एकादश के बीच दो टी-20 मैचों का आयोजन करने जा रहा है. 

यह भी पढ़ें: 2019 में सबसे ज्यादा वनडे विकेट: टॉप 10 में रहे 4 भारतीय गेंदबाज

आधिकारिक दर्जा मिला है मैचों को
बताया जा रहा है कि आईसीसी की ओर से इन मैचों को आधिकारिक दर्जा दिया है.  ये मैच ढाका में बीसीबी और एशियाई क्रिकेट परिषद (ACC) के तहत 16 सऔर 20 मार्च को खेले जाने हैं. वहीं पाकिस्तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक बीसीबी ने कहा है कि इस मामले में एसीसी की मीडिंग में चर्चा हुई थी. 

क्या कहा है पीसीबी ने बीसीबी को
इस मीटिंग में पाकिस्तानी बोर्ड ने बांग्लादेशी बोर्ड से कहा कि वह पाकिस्तानी खिलाड़ियों को इन मैचों में खिलाने को तैयार है जब तक कि तारीखों का एचबीएल पाकिस्तान सुपर लीग 2020 के मैचों की तारीखों से टकराव न हो. 

यह भी पढ़ें: दशक के सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट: ब्रॉड आए दूसरे स्थान पर, 5वें नंबर है यह भारतीय

ऐसे हो रहा है टकराव
एक पीसीबी के प्रवक्ता ने कहा,  विश्व एकादश और एशिया एकादश के बीच होने वाले टी20 इंटरनेशनल मैचों को 16 से 20 मार्च को होना तय हुआ था. जबकि पीएसएल2020 अगले साल 22 मार्च को खत्म हो रही है.  चूंकि दोनों सीरीज की तारीख में बदलाव नहीं हो सकता, हमने बीसीबी को, लिखित और मौखित, दोनों तौर पर अफसोसे जताया था. उन्होंने भी बातको समझा और इसे मान लिया."

तथ्यों को तोड़ा-मरोड़ा गया
प्रवक्ता ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि पाकिस्तानी क्रिकेट फैंस को गुमराह करने के लिए तथ्यों को तोड़ा-मरोड़ा गया. गुरुवार को बीसीसीआई के संयुक्त सचिव जयेश जॉर्ज ने कहा था कि ऐसी स्थिति जहां एशिया एकादश में भारत और पाकिस्तान के खिलाड़ी खेलते हैं, उत्पन्न नहीं होगी क्योंकि इसके लिए किसी भी पाकिस्तानी खिलाड़ी को आमंत्रित नहीं किया जाएगा.
 
यह कहा था जॉर्ज ने
जयेश जॉर्ज ने कहा, "हम इस बात से अवगत हैं कि एशिया एकादश में पाकिस्तान का कोई भी खिलाड़ी नहीं होगा. यही संदेश है और इसलिए, दोनों देशों के खिलाड़ियों का एक साथ आने या एक दूसरे को चुनने का कोई सवाल ही नहीं है. सौरव गांगुली उन पांच खिलाड़ियों का फैसला करेंगे जो एशिया एकादश का हिस्सा होंगे."

एहसान मनी ने दिया था यह बयान
हाल ही में पीसीबी प्रमुख एहसान मनी ने कहा था कि  भारत में सुरक्षा स्थिति पाकिस्तान से भी ज्यादा खराब है और टीम पाकिस्तान में खेलने में ज्यादा खुश होंगी. तब मनी ने यह भी कहा था कि पाकिस्तान ने श्रीलंका के साथ सफल सीरीज का आयोजन कर साबित किया है कि पाकिस्तान सुरक्षित है. अब अगर कोई यहां नहीं खेलना चाहता तो उसे साबित करना होगा कि पाकिस्तान असुरक्षित है. 
(इनपुट आईएएनएस)