टेस्ट सीरीज में विराट-पुजारा सहित टीम इंडिया के इन बल्लेबाजों से होंगीं उम्मीदें

भारत और वेस्टइंडीज के बीच टेस्ट सीरीज से पहले तीन दिन का अभ्यास मैच कई खिलाड़ियों के लिए एक अच्छा मौका हो सकता है.

टेस्ट सीरीज में विराट-पुजारा सहित टीम इंडिया के इन बल्लेबाजों से होंगीं उम्मीदें
वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा के लिए खास है. (फोटो :PTI)

नई दिल्ली: विश्व कप के बाद अब दुनिया आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के रंग में डूब चुकी है. इंग्लैंड में एशेज और श्रीलंका में न्यूजीलैंड की टेस्ट सीरीज के बाद भारत और वेस्टइंडीज(India vs West Indies) के बीच दो टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मैच एंटिगुआ में गुरूवार को शुरू हो रहा है. इस मैच में टीम इंडिया का मनोबल टी20 और वनडे सीरीज जीतने से बहुत मजबूत है. सीरीज में सबकी निगाहें टीम इंडिया के खास खिलाड़ियों पर होंगी.

विराट कोहली  का फॉर्म
विराट वनडे सीरीज में दो शतक लगाने के बाद टेस्ट में एक बार फिर टेस्ट में बड़ी पारी खेलने को तैयार हैं. इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 40.28 के औसत से 282 रन बाए थे. जिसमें एक शतक और एक हाफ सेंचुरी शामिल थी. इस सीरीज की आखिरी पारी में विराट ने 23 रन बनाए थे. विराट की टेस्ट में लंबी पारी की भूख किसी से छिपी नहीं हैं. 

यह भी पढें:  विराट कोहली ने शेयर की टीम इंडिया के प्लेयर्स की खास तस्वीर, देखें कौन है सबसे फिट

पुजारा शतक के मूड में 
चेतेश्वर पुजारा ने 68 मैचों के करियर में अब तक 5426 रन बनाए हैं. जिसमें उनके नाम 18 शतक और 20 हाफ सेंचुरी हैं. पुजारा विशुद्ध टेस्ट खिलाड़ी हैं और वे अक्सर लंबी पारी खेलते हैं. वेस्टइंडीज में उन्होंने दो टेस्ट मैच खेले हैं. जिसकी दो पारियों में केवल 62 रन ही बना सके हैं. पुजारा केवल न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज में ही शतक नहीं सके हैं. अभ्यास मैच में 100 रन बनाकर उन्होंने अपने इरादे जाहिर कर दिए हैं. 

रिकॉर्ड बेहतर करने की कोशिश करेंगे रहाणे
रहाणे उन चुनिंदा खिलाड़ियों में से हैं जिनको ओवरसीज रिकॉर्ड बेहतर है. 22 घरेलू और विदेशी जमीं पर 34 टेस्ट खेलने वाले रहाणे घर से बाहर 44.30 का औसत है जबकि घरेलू औसत 34.54 है. वेस्टइंडीज में रहाणे चार मैचों में एक नाबाद शतक लगा चुके हैं, लेकिन पिछले साल उनका औसत 30 के पास पहुंच गया था. वे एक बार फिर अपने खेल और तकनीक को साबित करने की कोशिश में हैं. 

केएल राहुल फिर खुद को साबित करने को बेकरार 
केएल राहुल ने अब तक 34 टेस्ट मैच खेले हैं, इसमें उन्होंने 35 के औसत से 1905 रन बनाए हैं. इसमें 5 शतक और 11 फिफ्टी शामिल हैं. 2018 के 6 मैचों में उनका औसत 32.09 रहा जिसमें वे केवल एक शतक ही लगा सके थे. वेस्टइंडीज में वे तीन टेस्ट की तीन पारियों में वे एक सेंचुरी और एक फिफ्टी के साथ 78.66 के औसत से 236 रन बना चुके हैं केएल के पास अपनी कंसिस्टेंसी साबित करने का यह सुनहरा मौका है. 

क्या टेस्ट में खेलेंगे लंबी पारी ऋषभ पंत
पंत ने केवल इंग्लैंड में बढ़िया बल्लेबाजी की थी और टेस्ट शतक लगाया था. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया में भी वे 159 रन बना चुके हैं. वहीं वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत में वे 92 रनों की पारी खेल चुके हैं. लेकिन पिछले कुछ समय से वनडे और टी20 फॉर्मेट में उन पर जल्दी और गैर जिम्मेदाराना तरीके से आउट होने का इल्जाम लग रहा है. देखना होगा कि वे टेस्ट में कैसे खेलेंगे.

विहारी और मयंक एक यादगार पारी को बेकरार
विहारी ने चार टेस्ट खेल कर एक शतक अपने नाम किया है. इसके अलावा मयंक का दो टेस्ट में 65 का औसत है. दोनों का घरेलू क्रिकेट में शानदार रिकॉर्ड है. उनसे टीम को काफी उम्मीदें होंगी .