सुनील गावस्कर, मांजरेकर की मुश्किलें बढ़ाएगा ये नियम, लक्ष्मण-सहवाग को नहीं पड़ेगा फर्क

लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों के लपेटे में अब महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर भी आते दिख रहे हैं.

सुनील गावस्कर, मांजरेकर की मुश्किलें बढ़ाएगा ये नियम, लक्ष्मण-सहवाग को नहीं पड़ेगा फर्क
कमेंट्री या कॉलम में से किसी एक को चुनना पड़ सकता है गावस्कर को. फाइल फोटो

मुंबई : क्रिकेट में बदलाव के लिए लागू की जाने वाली लोढ़ा समिति की सिफारिशें काफी कुछ परिवर्तन लाने वाली हैं. हालांकि अभी तक इन सिफारिशों को पूरी तरह से बीसीसीआई या स्टेट यूनिट में पूरी तरह से लागू नहीं किया जा सका है. लेकिन इन सिफारिशों ने अभी से कई खेल हस्तियों की मुश्किलें बढ़ाना शुरू कर दिया है. अब इसके लपेटे में सुनील गावस्कर और संजय मांजरेकर जैसे क्रिकेटर आने वाले हैं. क्रिकेटर मुरली कार्तिक और कमेंटेटर हर्षा भोगले भी इन नियमों के कारण आने वाले दिनों में मुश्किलों में घिरते दिख रहे हैं.

गौरतलब है कि कुछ माह पहले बोर्ड के आदेशों के अनुसार, सुनील गावस्कर ने अपनी प्लेयर मैनेजमेंट कंपनी बंद कर दी थी. उस समय कहा गया था कि बीसीसीआई से जुड़े लोग एक ही काम को कर सकते हैं. लेकिन उनकी मुश्किलें यहीं कम नहीं हुईं. अब लोढ़ा समिति की सिफारिशों के अनुसार, बीसीसीआई में जल्द ही नया नियम आने वाला है.इन सिफारिशों में कहा गया है कि जो पूर्व क्रिकेटर बीसीसीआई से जुड़े हुए हैं, वह कोई और काम नहीं कर सकते. अगर बीसीसीआई कमेटी की सिफारिशों को लागू करती है तो गावस्कर के अलावा दूसरी खेल हस्तियों के लिए भी मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

8 विकेट लेते ही टेस्ट क्रिकेट में अश्विन रच देंगे ये इतिहास

गावस्कर पिछले क्रिकेट कॉमेंटेटर के रूप में भी काम कर रहे हैं. गावस्कर के साथ पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर, मुरली कार्तिक, हर्षा भोगले भी कमेंट्री करते हैं. इसके साथ ही ये सभी लोग एक्सपर्ट कॉलम लिखने का काम भी करते हैं. लेकिन नए नियमों के मुताबिक इन्हें इन दो कामों में से किसी एक काम को चुनना होगा.

परेरा ने 4 रन पर रोहित का कैच छोड़ा था, उन्होंने बना दिया वर्ल्ड रिकॉर्ड

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 24 नवंबर को एडमिनिस्ट्रेटर ऑफ कमेटी की मीटिंग हुई थी. इसमें इस बात की चर्चा की गई कि बीसीसीआई और उसके कमेंटेटर के बीच हुए कॉन्ट्रेक्ट को देखा जाएगा. इसमें किस किस कमेंटेटर को स्पॉन्सर्ड कॉलम लिखने के लिए छूट दी गई है. ऐसे में अब बीसीसीआई इस बात पर जल्द ही विचार कर सकती है कि कॉमेंटेटर के रूप में सेवाएं देने वाले पूर्व खिलाड़ी एक्सपर्ट कॉलम लिख सकते हैं या नहीं. इस बात का निर्णायक फैसला सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त ओम्बुड्समैन को ही करना होगा.

धोनी ने पहली बार तोड़ी चुप्पी, अपने आलोचकों को दिया करारा जवाब

इस समय गावस्कर कॉमेंट्री के साथ-साथ एक क्रिकेट अवॉर्ड और रेटिंग देने वाले फर्म के साथ भी काम कर रहे हैं वहीं वो एक न्यूज चैनल से भी एक्सपर्ट के रूप में जुड़े हुए हैं. अब बीसीसीआई इन खेल हस्तियों से कमेंट्री या कॉलम लिखने में से किसी एक को चुनने के लिए कह सकता है.

लक्ष्मण और सहवाग को मिलेगी छूट
इस नियम में सबसे रोचक बात ये है कि यह नियम हिंदी कमेंटेटर्स पर लागू नहीं होगा. यानी स्टार स्पोर्ट्स के लिए कमेंटरी करने वाले वीवीएस लक्ष्मण और वीरेंद्र सहवाग पर इसका कोई असर नहीं होगा. इसका कारण ये है कि इनका कॉन्ट्रेक्ट स्टार स्पोर्ट्स के साथ है न कि बीसीसीआई के साथ. इसका अर्थ ये है कि ये दोनों क्रिकेटर अपने कॉलम लिखते रहेंगे.