Bday Special: बचपन में पिता ने रोका फिर भी बने भारत के सबसे खतरनाक बल्लेबाज

भारत के दिग्गज बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग बना रहे हैं अपना 42वां जन्मदिन, साल 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था अपना वनडे डेब्यू मैच

Bday Special: बचपन में पिता ने रोका फिर भी बने भारत के सबसे खतरनाक बल्लेबाज
वीरेंद्र सहवाग (file photo)

नई दिल्ली: क्रिकेट जगत के दिग्गज बल्लेबाजों में शूमार वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag) का आज जन्मदिन है. 20 अक्टूबर 1978 को दिल्ली के नजफगढ़ में जन्मे सहवाग आज 42 साल के हो गए हैं. टीम इंडिया के विस्फोटक ओपनर सहवाग के फैन्स आज भी उनकी बल्लेबाजी के दीवाने हैं. भारतीय क्रिकेट में सहवाग जैसा तूफानी ओपनर दूसरा नहीं आया है.

वीरेंद्र सहवाग ने अपने करियर में कई उपलब्धियां हासिल की हैं. लेकिन बहुत कम लोग ये जानते है कि सहवाग का क्रिकेट करियर शुरू होने से पहले ही खत्म हो गया था. दरअसल वीरेंद्र सहवाग जब 12 साल के थे तक एक क्रिकेट मैच के दौरान उनका दांत टूट गया था. जिसके बाद उनके पिता ने उनके खेलने से साफ मना कर दिया था. हालांकि अपनी मां की मदद से उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरू किया था और फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा.

सहवाग का ये सफर आसान नहीं था. उन्होंने साल 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला वनडे मैच खेला. जिसमें वो बुरी तरह फ्लॉप साबित हुए थे. डेब्यू में खराब प्रदर्शन की वजह से उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था. लेकिन इस स्टार खिलाड़ी ने हार नहीं मानी. एक साल के लंबे इंतजार के बाद सहवाग को फिर मौका दिया गया. उन्होंने अपने चोथे वनडे में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 58 रन बनाए और इसके साथ-साथ उन्होंने 3 विकेट भी लिए.

सहवाग ने अपने करियर में कई मुकाम हासिल किए है. सहवाग टेस्ट में दो तिहरा शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने. उन्होंने साल 2008 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ चेन्नई टेस्ट में तिहरा शतक लगाने का कारनामा किया. सहवाग ने साल 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ दोहरा शतक भी ठोका. वो सचिन के बाद दोहरा शतक ठोकने वाले दूसरे खिलाड़ी बने. सहवाग ने 219 रनों की पारी खेली.

इसके अलावा वीरेंद्र सहवाग अपने करियर में 3 वनडे और एक टी20 वर्ल्ड कप खेले हैं. साल 2003 में सहवाग वर्ल्ड कप फाइनल खेला जहां टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया से हार झेलनी पड़ी. साल 2007 में तो टीम इंडिया लीग राउंड से ही बाहर हो गई. इसके बाद साल 2011 में भारतीय टीम वर्ल्ड कप जीती जिसमें सहवाग ने 47.50 के औसत से 380 रन ठोके.

बता दें कि वीरेंद्र सहवाग ने अपने करियर में 104 टेस्ट में 49.3 के धमाकेदार औसत से 8586 रन बनाए. वहीं 251 वनडे मैचों में 35 की औसत से 8273 रन ठोके. साथ ही सहवाग ने अपने इंटरनेशनल करियर में कुल 38 शतक ठोके हैं.

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.