B'day Special: बॉल टेंम्परिंग विवाद से ऑस्ट्रेलिया को उबारा था इस कोच ने

Cricket Australia: जस्टिन लैंगर ऑस्ट्रेलिया के सफलतम सलामी बल्लेबाजों में से एक रहे लेकिन वे अपने करियर में केवल 8 वनडे खेल सके. 

B'day Special: बॉल टेंम्परिंग विवाद से ऑस्ट्रेलिया को उबारा था इस कोच ने
जस्टिंन लैंगर की मैथ्यू हेडन के साथ दुनिया की दूसरी सबसे सफल जोड़ी रही है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: वैसे तो क्रिकेट इतिहास में ऑस्ट्रेलिया का गौरवशाली इतिहास रहा है, लेकिन एक साल पहले ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट (Cricket Australia) का बहुत बुरा हाल था. टीम के कप्तान, उपकप्तान और एक सलामी बल्लेबाज बॉल टेम्परिंग विवाद के कारण प्रतिबंधित होकर टीम से बाहर थे. खिलाड़ियों को उत्साह बहुत ही निचले स्तर पर था. लेकिन टीम के नए कोच और पूर्व सलामी बल्लेबाज जस्टिन लैंगर (Justin Langer) ने कोच का पद संभालने के कुछ महीनों में ही टीम को उस संकट से उबार लिया और एक बार फिर ऑस्ट्रेलिया की क्रिकेट में वापसी कराई. लैंगर गुरुवार को 49 साल के हो रहे हैं.

सफल सलामी बल्लेबाजों में से एक रहे हैं लैंगर
लैंगर भले ही अभी ऑस्ट्रेलिया के सफलतम कोच नहीं बने हैं, लेकिन वे निर्विवाद रूप से ऑस्ट्रेलिया के सबसे सफल सलामी बल्लेबाजों में से एक रहे हैं. लैंगर ने लगातार छह साल तक ऑस्ट्रेलिया के लिए टेस्ट में सलामी बल्लेबाजी की और अपने 105 टेस्ट मैचों में 23 शतक और 30 फिफ्टी लगाकर 45.27 के औसत से 7696 रन बनाए. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 54.22 रहा और उनका सर्वोच्च स्कोर 250 रन था. 

यह भी पढ़ें: राहुल द्रविड़ ने कहा, दर्शकों को खींचेगी पिंक बॉल, लेकिन इन बातों पर भी देना होगा ध्यान

केवल 8 वनडे ही खेल सके लैंगर
इतना बढ़िया टेस्ट करियर होने के बाद भी बाएं हाथ के बल्लेबाज रहे लैंगर अपने देश के लिए केवल 8 वनडे ही खेल सके जिसकी 7 पारियों में वे 32 के औसत से केवल 160 रन ही बना सके. लेकिन यह रिकॉर्ड उनके उस टेस्ट रिकॉर्ड से बिलकुल भी मेल नहीं खाता. मैथ्यू हेडन के साथ लैंगर की जोड़ी खूब चली और लंबे समय तक चली. इस जोड़ी ने वेस्टइंडीज की मशहूर जोड़ी ने डेसमंड हेंस और गार्डन ग्रीनीज के बाद सबसे ज्यादा, 5655 रन बनाए थे. 

बॉल टैंपरिंग मामले से आस्ट्रेलिया को उबारा
2016 में बॉल टेम्परिंग मामले के कारण तत्कालीन कोच डेरैन लेहमैन  के पद छोड़ने के बाद लैंगर को पहले अंतरिम कोच बनाया गया लेकिन उसके बाद 2018 में टीम के औपचारिक कोच नियुक्त किए गए. उनके कोच बनने के बाद ऑस्ट्रेलिया की टीम आईसीसी वनडे विश्व कप में सेमीफाइनल तक पहुंची और उसके बाद इंग्लैंड में हुई एशेज सीरीज 2-2 से ड्रॉ भी खेली. हालांकि इस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के जीतने की संभावना ज्यादा थी.

मार्शल आर्टिस्ट और लेखक भी हैं लैंगर
लैंगर एक मार्शल आर्टिस्ट रह चुके हैं और जेन डो काई में शोडान हो की रैंक भी हासिल कर चुके हैं. इसके अलावा वे पांच किताबें भी लिख चुके हैं. इसनें आउटबैक फ्रॉम आउट फील्ड- ए रिवीलिंग डायरी ऑफ लाइफ ऑन काउंटी क्रिकेट सर्किट उनकी पहली किताब है. पॉवर ऑफ पैशन उनकी आत्मकथा है. उनकी ताजा किताब कीपिंग माय हेड: अ लाइफ इन क्रिकेट नाम से आई है.