close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

B'day Special : इस क्रिकेटर ने जब भी ओपनिंग की, टीम इंडिया को ज्यादातर जीत मिली

अपने 16 साल के करियर में पार्थिव पटेल ने 25 टेस्ट ही खेले.  लेकिन टीम के लिए ओपनिंग में वह ज्यादातर टीम इंडिया के लिए भाग्यशाली साबित हुए.

B'day Special : इस क्रिकेटर ने जब भी ओपनिंग की, टीम इंडिया को ज्यादातर जीत मिली
2003 वर्ल्डकप में फाइनल में पहुंची टीम इंडिया के सदस्य थे पार्थिव पटेल. फाइल फोटो

नई दिल्ली : 2002 में टीम इंडिया में एक खिलाड़ी ने डेब्यू किया. ये हैं 17 साल के पार्थिव पटेल. इतनी कम उम्र में किसी भी विकेटकीपर बल्लेबाज ने टीम इंडिया में अपनी जगह नहीं बनाई. 9 मार्च 1985 को अहमदाबाद में जन्मे पार्थिव पटेल ने यूं तो 2002 में ही टीम इंडिया में अपनी जगह बना ली थी, लेकिन वह टीम में कभी भी लंबे समय तक जगह नहीं बना सके. 16 साल के करियर में उन्होंने मात्र 25  टेस्ट खेले.

33 साल के हो चुके पार्थिव पटेल ने 2002 में इंग्लैंड के खिलाफ पहला टेस्ट मैच खेला. अभी हाल में जब टीम इंडिया अफ्रीका दौरे पर गई तो पार्थिव पटेल को वहां पर दो टेस्ट मैच खेलने का मौका मिला.

ओपनिंग और जीत का अनोखा रिकॉर्ड
पार्थिव पटेल के नाम टेस्ट क्रिकेट में एक अनोखा रिकॉर्ड है. उन्होंने जब भी टीम इंडिया के लिए ओपनिंग की, टीम को ज्यादातर मौकों पर जीत ही मिली. दक्षिण अफ्रीका दौरे में भी जब टीम इंडिया पहले दो टेस्ट हार चुकी थी, उसके बाद तीसरे टेस्ट में उन्हें पारी की शुरुआत का मौका मिला. यहां टीम इंडिया जीत गई.
पार्थिव पटेल ने टीम इंडिया के लिए 5 मैचों में ओपनिंग की. इसमें से पहले मैच को छोड़कर चार मैचों में टीम इंडिया को जीत मिली.

17 की उम्र में डेब्यु करने वाले पहले विकेटकीपर
पार्थिव पटेल ने टीम इंडिया में 2002 में इंग्लैंड के खिलाफ पहला टेस्ट मैच खेला. अपने 16 साल के करियर में उन्होंने 25 टेस्ट मैच खेले. 38 वनडे मैचों में उन्होंने टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व किया. टीम इंडिया की ओर से उन्होंने 2 टी 20 मैच भी खेले. उन्होंने 25 टेस्ट मैचों में 31 की औसत से 934 रन बनाए. वहीं 38 वनडे में 736 रन बनाए. उनके नाम पर टेस्ट में 62 कैच और 10 स्टंपिंग हैं.