close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

B'day Speical: ग्राहम गूच- पहले टेस्ट में जीरो से शुरुआत कर पहुंचे थे शिखर पर

इंग्लैंड के ग्राहम गूच के नाम आज भी कई ऐेसे रिकॉर्ड हैं जो अभी तक तोड़े नहीं जा सके हैं.

B'day Speical: ग्राहम गूच- पहले टेस्ट में जीरो से शुरुआत कर पहुंचे थे शिखर पर
ग्राहम गूच का सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड लंबे समय बाद एलिस्टर कुक ने तोड़ा. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: इंग्लैंड के दिग्गज और पूर्व कप्तान ग्राहम गूच (Graham Gooch) मंगलवार को 66 साल के होने जा रहे हैं. गूच को उनकी बेहतरीन बल्लेबाजी के अलावा कई विवादों के लिए भी जाना जाता है. उन्हें उनके शानदार रिकॉर्ड के अलावा अपने समय में बर्खास्त दक्षिण अफ्रीका का दौरा करने के लिए भी जाना जाता है जिसकी वजह से उन्हें तीन साल तक का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से बैन झेलना पड़ा था. गूच का जन्म 23 जुलाई 1953 में इंग्लैंड के व्हिप्स क्रॉस, लेटॉनस्टोन, एसेक्स में हुआ था. फर्स्ट क्लास और लिस्ट ए क्रिकेट को मिला दें तो उन्होंने कुल 67,057 बनाए हैं. 

टेस्ट वनडे दोनों में कमाया खूब नाम
गूच को तेज गेंदबाजी का बेहतरीन बल्लेबाज माना जाता था. वे भारी बल्ले के साथ खेलने के लिए जाने जाते थे और उन्हें इंग्लैंड के बेस्ट हिटर के तौर पर जाना जाता था. 25 साल के करियर में गूच ने टेस्ट और वनडे दोनों में खूब नाम कमाया. गूच इंग्लैंड के लिए लंबे वक्त तक सबसे ज्यादा टेस्ट रन (8900) बनाने वाले बल्लेबाज बने रहे. काफी समय बाद एलेस्टेर कुक ने उनका रिकॉर्ड तोड़ा. गूच ने 118 अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैच खेले जिनमें उनके नाम 20 सेंचुरी और 46 हाफ सेंचुरी हैं. वहीं 125 वनडे की 123 पारियों में गूच ने 36.98 के औसत और 61.88 के स्ट्राइक रेट से कु 4190 रन बनाए थे जिसमें 8 शतक और 23 फिफ्टी शामिल थे.

यह भी पढ़ें: विंडीज दौरे के लिए टीम इंडिया का चयन: किस दिशा में जा रहा है भारतीय क्रिकेट?

पहले टेस्ट में दोनों बार शून्य पर आउट
ग्राहम गूच अपने पहले टेस्ट मैच में दोनों पारियों में शून्य पर आउट हुए थे. उन्होंने 22 साल की उम्र में 10 जुलाई 1975 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना टेस्ट करियर शुरू किया था. उसके बाद वे तीन साल तक इंग्लिश टीम में वापसी नहीं कर सके थे. उन्हें पहली पारी में मैक्स वाकर ने और दूसरी पारी में जैफ थॉमसन दोनों ही विकेटकीपर रोड मॉर्श के हाथों कैच कराया था. इस मैच में इंग्लैंड की एक पारी और 85 रन से हार हुई थी. 

लॉर्ड्स के वो 333 रन की पारी
गूच के नाम इंग्लैंड के लिए सबसे 333 रन बनाने की सबसे बड़ी निजी पारी बनाने का रिकॉर्ड है. सबसे खास बात यह है कि लॉर्ड्स  यह रिकॉर्ड अब तक कोई इंग्लिश बल्लेबाज तोड़ नहीं पाया है. 
इस तिहरे शतक की खास बात यह है कि गूच ने इसे भारत के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैच में लगाया था. इस मैच में उन्होंने दूसरी पारी में भी शतक (123) लगाया था. एक मैच में की दोनों पारियों में सेंचुरी लगाने का रिकॉर्ड बहुत कम बल्लेबाजों के नाम है. जुलाई 1990 में हुए इस मैच को इंग्लैंड ने 247 रन से जीता था. लॉर्ड्स में एक ही टेस्ट में सबसे ज्यादा 456 रन बनाने का रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम है. एक ही टेस्ट में तिहरा शतक और शतक बनाने का कारनामा गूच के अलावा सिर्फ श्रीलंका के कुमार संगकारा ही कर पाए हैं.

यह भी पढ़ें:  विंडीज दौरे के लिए टीम इंडिया का हुआ ऐलान, जानिए किन खिलाड़ियों को मिला मौका

मी़डियम पेसर भी रहे हैं गूच
आज के बहुत कम क्रिकेट फैंस इस बात को जानते हैं कि गूच बाएं हाथ के मीडियम पेसर भी थे. 125 टेस्ट की 66 पारियों में उन्होंने बॉलिंग भी की थी, जिसमें उन्होंने 46.47 के औसत और 2.41 के औसत से कुल 23 विकेट भी लिए हैं. वनडे में भी 4.40 की इकोनॉमी और 42.11 के औसत से उनके नाम 36 विकेट हैं.  उनके नाम टेस्ट क्रिकेट में 100 कैच लेने की उपलब्धि भी है. वहीं वनडे में उन्होंने 45 विकेट लिए हैं.