close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

स्टोक्स ने हरवाया था भारत को पहला टेस्ट, उनके विकल्प ने ढाया उससे भी ज्यादा कहर

भारत इंग्लैंड के बीच पहले टेस्ट में बेन स्टोक्स ने भारत को हराने में अहम भूमिका निभाई थी. अब उनके विकल्प क्रिस वोक्स टीम इंडिया के लिए लॉर्ड्स टेस्ट में ज्यादा खतरनाक साबित हो रहे हैं.

स्टोक्स ने हरवाया था भारत को पहला टेस्ट, उनके विकल्प ने ढाया उससे भी ज्यादा कहर
बेन स्टोक्स की कमी से ज्यादा पूरा कर दिया क्रिस वोक्स ने (फोटो : PTI)

लॉर्ड्स : लंदन के लॉर्ड्स  मैदान में भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के दूसरे मैच के तीसरे दिन पहले सत्र में चार अहम विकेट गंवाने के बाद शानदार वापसी करते हुए चाय तक मजबूत स्थिति में आ गई. तीसरे सत्र में जब खेल रोका गया तब इंग्लैंड का स्कोर 6 विकेट के नुकसान पर 357 रन हो चुका था और उसकी भारत पर बढ़त 250 रन हो चुकी थी. क्रिस वोक्स 120 रन बना चुके थे और उनके साथ सैम कुरैन 22 रन बनाकर खेल रहे थे.

 क्रिस वोक्स जून के महीने में पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में चोटिल हो गए थे. इसके बाद वे भारत के खिलाफ टी20 और वनडे सीरीज से बाहर हो गए थे. दूसरे टेस्ट में वे बेन स्टोक्स की जगह आए. बेन स्टोक्स लॉर्ड्स टेस्ट में नहीं खेल सके क्योंकि उन्हें अपने ब्रिस्टल विवाद वाले मुकदमें की पेशी में शामिल होना था. 

स्टोक्स ने पहले टेस्ट की दूसरी पारी में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली का विकेट लेकर मैच को इंग्लैंड में पक्ष करते हुए कुल तीन विकेट लिए जिससे इंग्लैंड को 31 रन से नजदीकी जीत मिल सकी. बेन स्टोक्स के विकल्प के रूप में आए क्रिस वोक्स ने अपने कप्तान को निराश नहीं किया और पहली पारी में शानदार गेंदबाजी की और विराट कोहली (23) और हार्दिक पांड्या (11) के अहम विकेट लेकर अहम योगदान दिया. इस पारी में टीम इंडिया केवल 107 रन पर सिमट गई थी.

वोक्स यहीं नहीं रुके इंग्लैंड की बल्लेबाजी के दौरान जब इंग्लैंड के पांच विकेट गिर चुके थे तब इंग्लैंड का स्कोर 131 रन था. वोक्स ने बेयरस्टॉ का साथ देते हुए चाय से पहले अपनी टीम का स्कोर 200 से पार करवाते हुए शानदार अर्धशतक भी पूरा किया. वहीं बेन स्टोक्स पहले टेस्ट में बल्लेबाजी में कुछ खास नहीं कर सके थे. स्टोक्स ने पहले टेस्ट की पहली पारी में 21 रन और दूसरी पारी में 6 रन बनाए थे. इस मैच में उन्होंने कुल 5 विकेट लिए थे. 

मौसम का खूब फायदा उठाया इंग्लैंड ने
इंग्लैंड की इस बढ़त में मौसम का भी योगदान रहा. बारिश के कारण दूसरे दिन केवल 35.2 ओवर का ही खेल हो सका था जिसमें टीम इंडिया की पहली पारी केवल 107 रन पर सिमट गई थी. हालात का लाभ उठाते हुए जेम्स एंडरसन ने  इंग्लैंड की ओर से सबसे ज्यादा पांच विकेट  लिए. उनके लॉर्ड्स में 99 टेस्ट विकेट हो गए हैं. पहली पारी में भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन रविचंद्रन अश्विन ने बनाए. उन्होंने 29 रनों की पारी खेली. उनके बाद सबसे ज्यादा 23 रन कप्तान विराट कोहली (23) रन बनाए.

पहले दिन बारिश ने मैच होने नहीं दिया
मैच का पहला दिन बारिश की भेंट चढ़ गया था और बिना एक भी गेंद फेंके रद्द कर दिया गया था. एंडरसन ने 20 रन देकर पांच विकेट लिए. क्रिस वोक्स को दो सफलताएं मिलीं. स्टुअर्ट ब्रॉड और सैम कुरैन को एक-एक विकेट मिला. इस मैच में सब कुछ इंग्लैंड के पक्ष में हुआ सिवाए फील्डिंग के. इंग्लैंड के फील्डर अगर आए मौकों को लपक लेते तो टीम इंडिया काफी पहले ही आउट हो गई होती.