Breaking News

कैसे 19 साल के भुवनेश्वर कुमार ने डक पर किया था सचिन तेंदुलकर को आउट

भारतीय क्रिकेट टीम के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) जिन्हें पूरी दुनिया गॉड ऑफ क्रिकेट के नाम से भी जानती हैं ने अपने लंबे करियर में कई ऐसे रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं जिन्हें तोड़ पाना हर खिलाड़ी के बस की बात नहीं हैं.

कैसे 19 साल के भुवनेश्वर कुमार ने डक पर किया था सचिन तेंदुलकर को आउट
भुवनेश्वर कुमार (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) जिन्हें पूरी दुनिया गॉड ऑफ क्रिकेट के नाम से भी जानती हैं ने अपने लंबे करियर में कई ऐसे रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं जिन्हें तोड़ पाना हर खिलाड़ी के बस की बात नहीं हैं. उन्हें ऐसे ही नहीं दुनिया का महान खिलाड़ी कहा जाता है, सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट की दुनिया में जो मुकाम हासिल किया है वहां तक पहुंचने का सपना हर खिलाड़ी देखता है. जब भी सचिन मैदान पर अपना बल्ला लेकर उतरते थे तो सामने वाली टीम का हर गेंदबाज, उन्हें कैसे मैदान से वापस पवेलियन भेजा जाए, बस इसी सोच में रहता था. साफ शब्दों में कहें तो सचिन को आउट करने का सपना हर गेंदबाज देखता था लेकिन उन्हें आउट करना हर बॉलर के बस की बात नहीं थी.

ये भी पढ़ें: इरफान पठान ने 'लार' पर बैन को गेंदबाजों के लिए बताया बड़ा झटका, जानें क्या कहा

वहीं भारतीय पेसर भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) ने वो कर दिखाया था जो कोई और नहीं कर पाया था, जी हां भुवनेश्वर ने सचिन को रणजी ट्रॉफी के एक मैच में जीरो पर ही आउट कर दिया था. वो पहली बार था जब सचिन तेंदुलकर किसी रणजी ट्रॉफी के मैच में जीरो रन पर आउट हुए थे. वैसे भुवनेश्वर कुमार ने सचिन को पहली बार जीरो रन पर आउट करने का पूरा श्रेय भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) को दिया है. यहां आपको बता दें कि भुवनेशवर ने साल 2008-2009 में रणजी ट्रॉफी के सीजन में यूपी टीम की तरफ से खेलते हुए सचिन तेंदुलकर को आउट किया था. उस वक्त भुवनेश्वर की उम्र सिर्फ 19 साल की थी. उस छोटी सी उम्र में सचिन जैसे महान खिलाड़ी को आउट करना अपने आप में काफी बड़ी बात थी. 

हाल ही में भुवनेश्वर कुमार ने भारतीय महिला क्रिकेटर्स स्मृति मंधाना और जेमिमा रोड्रिग्ज के साथ 'डबल ट्रबल' चैट शो में इस बारे में बात की, जिसमें उन्होंने कहा कि- 'जब भी आप किसी मैच की शुरुआत करते हैं तो सबसे पहले बल्लेबाज की विकेट लेने की कोशिश और उम्मीद करते हैं, मगर आप उस वक्त ये नहीं तय कर सकते कि आपको मैच में  कितने विकेट मिलेंगे.' 

इस बातचीत के दौरान भुवनेशवर ने आगे ये भी कहा कि- 'बात जब सचिन तेंदुलकर के विकेट लेने की आती है, तो मैं कहना चाहूंगा कि, उस मैच में मेरी किस्मत अच्छी थी, जो मुझे सचिन तेंदुलकर का विकेट मिला, लेकिन इसका पूरा श्रेय हमारे कप्तान मोहम्मद कैफ को जाता है. मोहम्मद कैफ ने फील्डर को ना तो मिड-विकेट पर रखा, ना ही शॉर्ट लेग पर रखा था. कैफ ने जहां फील्डर रखा, वहीं सचिन ने शॉट खेला था.'

LIVE TV