close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

धोनी के संन्यास पर बोले गांगुली- चैंपियन जल्दी हार नहीं माना करते

सौरव गांगुली ने बीसीसीआई के अध्यक्ष का पद संभालने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास से जुड़े सवालों के जवाब भी दिए. 

धोनी के संन्यास पर बोले गांगुली- चैंपियन जल्दी हार नहीं माना करते
सौरव गांगुली ने बुधवार को बीसीसीआई अध्यक्ष का पद संभाला. वे बोर्ड के 39वें अध्यक्ष हैं. (फोटो: Reuters)

मुंबई: पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने बुधवार को बीसीसीआई (BCCI) के अध्यक्ष का पद संभाल लिया. उन्होंने पद संभालने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की. सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने इस दौरान भारतीय टीम, विराट कोहली, एमएस धोनी से जुड़े सवालों पर जवाब दिए. गांगुली ने  महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) के संन्यास से जुड़े सवाल पर कहा, ‘वे (धोनी) भारतीय क्रिकेट के महान खिलाड़ी हैं. मैं जब तक हूं तब तक हर खिलाड़ी का सम्मान किया जाएगा.’ सौरव गांगुली ने कहा कि जो चैंपियन होते हैं, वे जल्दी हार नहीं मानते हैं.

सौरव गांगुली प्रेस कॉन्फ्रेंस में उस ब्लेजर को पहनकर आए, जो उन्हें कप्तान बनने पर दी गई थी. सौरव से पूछा गया कि क्या उन्होंने एमएस धोनी (MS Dhoni) के मसले पर टीम मैनेजमेंट या सिलेक्टर्स से बात की है. इस पर गांगुली ने कहा, ‘जब मैं टीम से बाहर गया था तो भी इस तरह की बातें होती थीं, लेकिन मैंने वापसी की. धोनी, भारतीय क्रिकेट के बहुत बड़े खिलाड़ी हैं. अगर आप उनके रिकॉर्ड को देखेंगे तो सिर्फ तारीफ ही निकलती है.’

यह भी देखें: VIDEO: 20 साल पुराना ब्लेजर पहनकर प्रेस कॉन्फ्रेंस में आए गांगुली, किया यह खुलासा

महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास पर गांगुली ने कहा, ‘इस पर हम कोई फैसला नहीं करेंगे, ना ही मैनेजमेंट उन पर कोई दबाव बनाएगा. हमें नहीं पता कि संन्यास के बारे में उनकी क्या योजना है. लेकिन इस बारे में अंतिम फैसला उनको ही करना है.’ महेंद्र सिंह धोनी ने आईसीसी विश्व कप के बाद से कोई भी मैच नहीं खेला है. रांची टेस्ट खत्म होने के बाद धोनी टीम इंडिया के साथ ड्रेसिंग रूम में दिखे थे. 

सौरव गांगुली ने अपनी बातचीत में कहा कि वे भारतीय कप्तान विराट कोहली से कल (24 अक्टूबर) को बात करेंगे. वे कोहली को वह सब समर्थन देंगे, जो वे चाहते हैं क्योंकि वे भारतीय क्रिकेट के सबसे अहम खिलाड़ी हैं. गांगुली ने यह भी कहा कि हितों के टकराव वाले नियम की समीक्षा भी करना चाहेंगे. इस नियम को पहले से ही कोर्ट में चुनौती दी जा चुकी है. 

ये भी देखें-: