close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गांगुली और सहवाग के बाद अब इस पूर्व क्रिकेटर ने की शास्त्री को कोच पद से हटाने की मांग

''रवि शास्त्री को ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले हटा देना चाहिए. रवि शास्त्री बहुत ही अच्छे कमेंटेटर हैं और उन्हें ऐसा ही करने देना चाहिए.'' 

गांगुली और सहवाग के बाद अब इस पूर्व क्रिकेटर ने की शास्त्री को कोच पद से हटाने की मांग
'रवि शास्त्री को ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले कोच पद से हटा देना चाहिए' (PIC : PTI)

धनबाद: पूर्व टेस्ट क्रिकेटर चेतन चौहान ने इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज में भारत को मिली 1-4 की हार के लिए टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि उन्हें नवंबर में ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले इस पद से हटा देना चाहिए. चेतन चौहान से पहले पूर्व कप्तान सौरव गांगुली और वीरेंद्र सहवाग भी शास्त्री को हटाने की मांग कर चुके हैं. 

उत्तर प्रदेश के खेल मंत्री पूर्व क्रिकेटरों द्वारा रवि शास्‍त्री को कोच पद से हटाए जाने की मांग पर सहमत हैं. उन्होंने कहा, ''रवि शास्त्री को ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले हटा देना चाहिए. रवि शास्त्री बहुत ही अच्छे कमेंटेटर हैं और उन्हें ऐसा ही करने देना चाहिए.'' भारत को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर 21 नवंबर से 18 जनवरी तक तीन टी-20, चार टेस्ट और तीन वनडे मैच खेलने हैं. 

चेतन चौहान ने यहां पत्रकारों से कहा कि टीम इंडिया को बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए था. दोनों टीमें बराबरी की थीं. लेकिन भारतीय टीम इंग्लैंड के पुछल्ले बल्लेबाजों पर लगाम कसने में विफल रही. बता दें कि इंग्लैंड दौरे से वन-डे और टेस्ट मैच सीरीज हार कर लौटी टीम इंडिया को हर तरफ से आलोचना का सामना करना पड़ा है. भारत 3 मैचों की वन-डे सीरीज 1-2 से और 5 मैचों की टेस्ट सीरीज 1-5 से हारा था. इंग्लैंड में मिली इस हार के लिए रवि शास्त्री की कोचिंग, विराट कोहली की कप्तानी, टीम सलेक्टर्स की सलेक्शन और खिलाड़ियों के परफॉर्मेंस पर कई सवाल उठाए गए.

पूर्व टेस्ट सलामी बल्लेबाज ने रवि शास्त्री  के इस बयान की भी आलोचना की, जिसमें उन्होंने विराट कोहली की अगुवाई वाली मौजूदा टीम को 'विदेश का दौरा करने वाली सर्वश्रेष्ठ टीम' करार दिया था. उन्होंने कहा, ''मैं इस बात से सहमत नहीं हूं. 1980 के दशक में भारतीय टीम विश्व का दौरा करने वाली सर्वश्रेष्ठ टीम थी.''  

Chetan Chauhan,

बता दें कि भारत ने इस साल विदेशी सरजमीं पर 6 टेस्ट गंवाए हैं, जबकि मुख्य कोच रवि शास्त्री कह रहे हैं कि यह विदेशी दौरा करने वाली भारत की सर्वश्रेष्ठ टीम है. आलोचनाओं से घिरे भारतीय क्रिकेट टीम के हेड कोच रवि शास्त्री ने दावा किया था कि विराट कोहली की टीम का विदेशी रिकॉर्ड पिछले 15-20 वर्षों की टीमों की तुलना में बेहतर है. इसके बाद कई पूर्व क्रिकेटरों ने इस पर आपत्ति जताई थी.

Virat Kohli

आंकड़ों ने खोली शास्त्री के दावों की पोल
आंकड़े देखें तो सौरव गांगुली की अगुआई में भारत ने इंग्लैंड (2002) और ऑस्ट्रेलिया (2003-04) में सीरीज ड्रॉ करवाई और वेस्टइंडीज में टीम टेस्ट मैच और पाकिस्तान में सीरीज जीतने में सफल रही. राहुल द्रविड़ के नेतृत्व में भारत ने वेस्टइंडीज में 2006 और इंग्लैंड में 2007 में सीरीज जीती और दक्षिण अफ्रीका में भी टीम एक टेस्ट जीतने में सफल रही. अनिल कुंबले की अगुआई में भारत ने पर्थ के उछाल भरे विकेट पर पहली बार टेस्ट जीता जबकि महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में भारत ने न्यूजीलैंड में सीरीज जीती और पहली बार दक्षिण अफ्रीका में सीरीज ड्रॉ कराने में सफल रही.

दुबई में एशिया कप क्रिकेट चैम्पियनशिप में भारत की संभावनाओं के बारे में चेतन चौहान ने कहा कि टीम में युवा और अनुभवी खिलाड़ियों का अच्छा मिश्रण है जिससे बेहतर नतीजे की उम्मीद है.