भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज पर कोरोना का खतरा, बॉक्सिंग-डे टेस्ट पर पड़ सकता है असर

भारतीय क्रिकेट टीम को दिसंबर में करना है चार टेस्ट मैच खेलने के लिए ऑस्ट्रेलिया का दौरा.

भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज पर कोरोना का खतरा, बॉक्सिंग-डे टेस्ट पर पड़ सकता है असर

नई दिल्ली: दुनिया भर में पिछले कई महीने से कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के कहर ने हर तरफ असर डाला हुआ है. खेल आयोजन भी इससे अछूते नहीं रहे हैं. हालांकि लंबे समय बाद अब खेल जगत दोबारा सक्रिय होने लगा है, लेकिन इस जानलेवा महामारी के कहर का प्रभाव अब भी पीछा छोड़ने का नाम नहीं ले रहा है. अक्तूबर में होने जा रहे टी-20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) के आयोजन पर पहले ही खतरे के बादल छाए हुए हैं. अब इस टूर्नामेंट के बाद होने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर भी संकट आ गया है. दरअसल इसका कारण बना है ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया राज्य में कोविड-19 महामारी का असर अचानक तेजी से बढ़ गया है. 

ये भी पढ़ें- विराट कोहली के हर टैटू के पीछे छिपा है कोई राज, क्या जानना चाहते हैं आप?

मेलबर्न में होना है बॉक्सिंग-डे टेस्ट मैच
दरअसल विक्टोरिया राज्य में ही मेलबर्न शहर आता है, जिसमें भारतीय क्रिकेट टीम को अपने दौरे पर बॉक्सिंग-डे टेस्ट खेलना है. बॉक्सिंग-डे टेस्ट उस मैच को कहा जाता है, जो क्रिसमस के ठीक अगले दिन यानी 26 दिसंबर से शुरू होता है. ऑस्ट्रेलिया में बॉक्सिंग-डे के खेल आयोजन को बहुत बड़ा दर्जा दिया जाता है और खेल प्रेमी भी पूरे साल इसका इंतजार करते हैं, लेकिन अब कोरोना के बढ़ते असर को देखते हुए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया इस टेस्ट को किसी दूसरे वेन्यू पर ट्रांसफर करने की योजना बना रहा है. 

विक्टोरिया से जुड़ी टीमों के 6 फुटबॉल मैच प्रभावित
विक्टोरिया राज्य में कोरोना का असर इस कदर बढ़ गया है कि वहां के अन्य खेलों की टीमों से जुड़े मुकाबले भी प्रभावित होने लगे हैं. ऑस्ट्रेलिया फुटबॉल लीग के छह मुकाबलों को इसी कारण रद्द करना पड़ा है कि उनमें खेलने वाली टीमें विक्टोरिया राज्य से थीं. विक्टोरिया राज्य की 10 टीमें इस लीग का हिस्सा हैं.

क्वींसलैंड ने बंद किए अपने रास्ते
विक्टोरिया से सटे क्वींसलैंड राज्य ने तो अपने रास्ते ही ब्लॉक कर दिए हैं. राज्य प्रबंधन ने स्पष्ट कहा है कि यदि राज्य की कोई टीम विक्टोरिया का दौरा करती है या विक्टोरिया को दौरा कर चुकी किसी टीम के खिलाफ खेलती है तो खिलाड़ियों को 14 दिन के लिए क्वारंटीन किया जाएगा.