Coronavirus: सुरेश रैना की नसीहत मानी तो मुश्किलें हो जाएंगी कम, जानें क्रिकेटर के मन की बात

Coronavirus: कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया में कोहराम मचा हुआ है. इस वायरस ने तमाम सावधानियों के बावजूद अब तक 6 हजार लोगों की जान ले ली है. 

Coronavirus: सुरेश रैना की नसीहत मानी तो मुश्किलें हो जाएंगी कम, जानें क्रिकेटर के मन की बात

नई दिल्ली: तमाम सावधानियों के बावजूद कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. खेलों पर भी इसका बुरा असर पड़ा है. भारत से लेकर दुनिया के तमाम हिस्सों में ज्यादातर स्टेडियम खाली पड़े हैं. भारत में बेसब्री से इंतजार की जा रही टी20 लीग आईपीएल (IPL 2020) भी इसकी चपेट में आ गई है. इसके बाद से ही भारतीय क्रिकेटर इस महामारी को लेकर लोगों को संदेश दे रहे हैं. विराट कोहली और रोहित शर्मा के बाद सुरेश रैना ने भी इस मामले में लोगों से अपील की है. 

डब्ल्यूएचओ कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर चुका है. विराट कोहली (Virat Kohli) और रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने जहां लोगों को इस बीमारी से बचने के संदेश दिए. वहीं, आईपीएल में चेन्नई के लिए खेलने वाले सुरेश रैना का सुर थोड़ा बदला लगा. उन्होंने लोगों को बीमारी के लक्षण और उपचार बताने की बजाय यह कहा कि वे अफवाह से बचें. 

यह भी पढ़ें: Coronavirus: PSL, ओलंपिक टॉर्च सेरेमनी से लेकर वो खेल जो आज या इस हफ्ते होंगे, देखें लिस्ट

उत्तर प्रदेश के सुरेश रैना (Suresh Raina) ने ट्वीट किया, ‘यह बेहद जरूरी है कि हम इस बीमारी की चेन तोड़ने के लिए सोशल आइसोलेशन के महत्व को समझें. अगर आपके पास इससे जुड़ी पुख्ता जानकारी नहीं है, तो उसे आगे ना बढ़ाएं. स्वास्थ्य को लेकर जारी की जा रही गाइडलाइंस को बिलकुल भी नजरअंदाज ना करें. ऐसी गाइडलाइंस और साफ-सफाई का हर हाल में पालन करें.’

यह भी पढ़ें: IPL 2020 को कोरोना ने दिया एक और झटका, विराट की टीम को आना बैकफुट पर

इससे पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली और उप कप्तान रोहित शर्मा ने भी इस मामले पर ट्वीट किया. विराट कोहली (Virat Kohli) ने ट्वीट किया, ‘आइए हम मिल कर कोविड-19  महामारी के खिलाफ एहतियाती कदम उठाएं और मजबूती से उसके खिलाफ लड़ें. सुरक्षित रहें. सावधान रहें. सबसे खास बात याद रखें कि उपचार से बेहतर बचाव है. कृपया सभी का ख्याल रखें.’

रोहित शर्मा ने वीडियो ट्वीट कर अपनी बात कही. उन्होंने कहा, ‘दुनिया को अब भी इससे (कोरोना वायरस) लड़ने के लिए साथ आना है, जो अच्छी बात नहीं है. जबकि, हम इससे तभी लड़ सकते हैं, जब साथ मिलकर काम करें. हम ऐसा थोड़ा स्मार्ट, प्रोएक्टिव और अपने आसपास के माहौल को जान-समझकर कर सकते हैं. जब भी इस वायरस (COVID-19) से जुड़े लक्षण देखें तो अपने नजदीकी मेडिकल अथॉरिटी को सूचना दें.’