जब 104 डिग्री बुखार में भी मैच खेले थे मुरली कार्तिक, जानिए किसने बनाया था दबाव

आईपीएल के एक मुकाबले में मुरली कार्तिक को बीमार होने के बावजूद मैच में उतरना पड़ा था क्योंकि टीम को कार्तिक की जरूरत थी.

जब 104 डिग्री बुखार में भी मैच खेले थे मुरली कार्तिक, जानिए किसने बनाया था दबाव
मुरली कार्तिक (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारतीय टीम के पूर्व स्पिन गेंदबाज मुरली कार्तिक (Murali Kartik) ने खुलासा किया है कि एक बार पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने उन्हें बीमार होने के बावजूद आईपीएल का एक मैच खेलने के लिए मजबूर कर दिया था. दरअसल बात साल 2012 की है जब गांगुली पुणे वॉरियर्स (Pune Warriors) के कैप्टन हुआ करते थे और चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) के खिलाफ एक मैच में कार्तिक को खिलाना चाहते थे. ऐसे में उन्होंने कार्तिक को उस मैच में खेलने के लिए कहा, जिसे कार्तिक ने स्वीकार कर लिया क्योंकि गांगुली ने उनसे कहा था कि उन्हें अपनी टीम में एक लेफ्ट आर्म स्पिनर की जरूरत है. यहां आपको याद दिला दें कि उस वक्त कार्तिक को 104 डिग्री तेज बुखार था पर गांगुली के कहने पर वो उस मैच में खेलने के लिए तैयार हो गए.

कार्तिक ने इसका खुलासा एक खेल वेबसाइट के साथ बातचीत के दौरान करते हुए कहा, 'साल 2012 में सौरव गांगुली आईपीएल में पुणे की कप्तानी कर रहे थे. इस दौरान हमारा एक मैच चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) के खिलाफ था. मुझे बुखार था इसके बावजूद दादा ने मुझसे कहा कि वह मैच मैं खेलूं. मैं उम्मीद करता हूं कि उस मैच की फुटेज होगी, ताकि पता चल सके कि कैसे उस मैच में मैं फुल स्लीव्स का स्वेटर पहनकर खेल रहा था. मैंने बुखार के बावजूद वह मैच खेला था.'

जब कार्तिक से यह पूछा गया कि क्या सौरव गांगुली की वजह से उन्हें भारतीय क्रिकेट टीम में ज्यादा खेलने के मौके नहीं मिले तो कार्तिक ने कुछ यूं जवाब दिया. कार्तिक ने कहा, 'अगर गांगुली लेफ्टआर्म स्पिनर को बेहतर खेलते थे तो मैं कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) की टीम में तीन साल तक कैसे रहा. इसके बाद दादा को साल 2011 में पुणे वॉरियर्स ने साइन किया और 2012 में उन्हें कप्तानी सौंपी. गांगुली ने ही तब ट्रेड के जरिए मुझे चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) में शामिल नहीं होने दिया और अपनी टीम में बरकरार रखा था. तब दूसरे लेफ्टआर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) को सीएसके में मौका मिला और तभी से वह वहां खेल रहे हैं.'

गौरतलब है कि गांगुली पर कार्तिक के करियर को लेकर कई बार इस तरह की उंगुलियां उठ चुकी हैं कि उन्होनें कार्तिक को टीम इंडिया (Team India) की ओर से खेलने के ज्यादा मौके प्रदान नहीं किए. इस बात को कार्तिक ने आज खुद खारिज कर दिया और बताया कि इस बात में कोई शक नहीं कि गांगुली स्पिन गेंदबाजों को काफी शानदान तरीके से खेलने में माहिर थे और जब चाहें उनकी गेंदों पर चौके और छक्के लगा दिया करते थे. इसके बाद भी गांगुली कार्तिक की गेंदबाजी के कायल थे और मानते थे कि उनमें विपक्षी टीम के बल्लेबाजों के विकेट लेने की काबिलित है. इतना ही नहीं अपनी लाइन और लेंथ की मदद से कार्तिक किसी भी बल्लेबाज को परेशान करने के लिए मशहूर थे और इसी वजह से गांगुली उन्हें हर उस मैच में खिलाने की कोशिश करते थे जिसमें हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) या फिर अनिल कुंबले (Anil Kumble) नहीं खेल रहे होते थे.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.