दिलीप ट्रॉफी : कोई हज पर हैं तो कोई इंग्लैंड में, टॉस के पहले कप्तान भी 'गायब'

खिलाड़ियों के बीमार होने का सिलसिला यहीं नहीं रुका. मुंबई के तेज गेंदबाज धवल कुलकर्णी भी मैच की पूर्व संध्या पर बीमार हो गये. वह भी पहले मैच में नहीं खेल पायेंगे.

दिलीप ट्रॉफी : कोई हज पर हैं तो कोई इंग्लैंड में, टॉस के पहले कप्तान भी 'गायब'
दिलीप ट्रॉफी से पहले गायब हुए खिलाड़ी (FILE PHOTO)

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट का 2017-18 का घरेलू सत्र शुरू होने से पहले ही अशुभ संकेत दे रहा है. दिलीप ट्रॉफी के आगाज में भी भ्रम की स्थिति बनी हुई है. वजह है मैच की पूर्व संध्या पर कोच फिजियो और ट्रेनर्स को फोन करके बता रहे हैं कि उनके कुछ खिलाड़ी चोट की वजह से या देश से बाहर होने कारण खेलने के लिए उपलब्ध नहीं हैं. इस भ्रम की शुरुआत वास्तव में उस वक्त हुई जब बीसीसीआई ने दिलीप ट्रॉफी जैसे ऐतिहासिक टूर्नामेंट को न कराने की घोषणा की. इसका अर्थ यह हुआ कि ब्रॉडकास्टर्स भी लखनऊ में शुरू हो रहे मैच को टेलिकास्ट नहीं कर पाएंगे. अब केवल 25 से 29 को होने वाले फाइनल को ही टेलिकास्ट किया जा सकेगा. 

तेज गेंदबाज इशांत शर्मा का चयन इंडिय ब्लू के लिए हुआ था, लेकिन इशांत ने इस प्रस्ताव को ठुकराते हुए कहा कि वह इस वक्त इंग्लैंड में हैं. गौरतलब है कि ईशांत ने बीसीसीआई को अपनी अनुपलब्धता की सूचना एक सप्ताह पहले टीम के चयन के समय दे दी थी. इस बीच ऑल राउंडर परवेज रसूल के विषय में पता चला है कि वह फिलवक्त हज यात्रा पर है और इंडिया ग्रीन की ओर से शुरुआती मैच नहीं खेल पायेगा. 

श्रेयस अय्यर और विजय शंकर का चयन क्रमशः इंडिया ग्रीन और इंडिया ब्लू के लिए हुआ था, लेकिन अंतिम समय पर इन दोनों खिलाड़ियों को चोटों के कारण टीम से हटना पड़ा. अय्यर के घुटने में कुछ समस्या है और शंकर पिछले महीने ही इंडिया ए की तरफ से दक्षिण अफ्रीका के दौरे से लौटे हैं और वहीं उन्हें कंधे में कुछ चोट लग गयी थी. चयन समिति ने इस बीच इस सारे भ्रम के लिए खुद को जिम्मेदार बताते हुए कहा है कि उन्हें टीम के चयन के समय, फिटनेस टेस्ट में जाने से पहले खिलाड़ियों से पूछना चाहिए था. चयनकर्ता ने कहा, हमारे चयन के बाद ही खिलाड़ी फिटनेस टेस्ट के लिए गये जहां फिजियो ने बताया कि कुछ खिलाड़ी पूरी तरह फिट नहीं हैं. 

हालात को और खराब बनाया इंडिया रेड के कप्तान और टेस्ट में ओपनर बल्लेबाज अभिनव मुकुंद ने. उन्होंने बताया कि वह पहले मैच के लिए लखनऊ नहीं जा पाएंगे क्योंकि वह बीमार हैं. मुकुंद के बीसीसीआई के समय पर सूचित न किये जाने से अराजकता की स्थितियां पैदा हो गयीं. उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के लायसन ऑफिसर को कई घंटे एयरपोर्ट के बाहर मुकुंद का इंतजार करना पड़ा. यूपीसीए के एक अधिकारी ने बताया, उनकी टिकट और कार पहले ही बुक हो चुकी थी. हमने अपने लायसन ऑफिसर को मुंकुंद को लाने के लिए भेजा, जब वह नहीं आए तो हमने बीसीसीआई को फोन किया, कई घंटों के बाद हमें पता चला कि वह बीमार हैं और नहीं आ पा रहे हैं.  

अभिनव मुकुंद के न होने का मतलब है किसी को यह नहीं पता कि इंडिया रेड की ओर से टॉस के लिए कौन उतरेगा. पहला मैच गुरुवार को एकना क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाना है. संभावना इसी बात की है कि तमिलनाडू के क्रिकेटर दिनेश कार्तिक मुकुंद की जगह टीम की कप्तानी संभालेंगे. 

खिलाड़ियों के बीमार होने का सिलसिला यहीं नहीं रुका. मुंबई के तेज गेंदबाज धवल कुलकर्णी भी मैच की पूर्व संध्या पर बीमार हो गये. वह भी पहले मैच में नहीं खेल पायेंगे. अंतिम समय में खिलाड़ियों के इस तरह टीम से हट जाने के कारण बीसीसीआई से यह आग्रह किया गया है कि वह टीम को रिशफल करने और घायल खिलाड़िृयों की जगह नये खिलाड़ियों को स्क्वेड में शामिल करने की अनुमति दे. टीम में हुए इन्हीं बदलावों के परिणाम स्वरूप तेज गेंदबाज वरुण एरन और छत्तीसगढ़ के पंकज राय को टीम में शामिल किया गया और सिद्धार्थ कौल, जिन्हें पहले इंडिया ग्रीन के लिए खेलना था, अब इंडिया रैड के लिए खेलेंगे. 

पिछले दिनों गलत वजहों से सुर्खियों में रहने वाले अंबति रायुडू ने भी घुटने की चोट की वजह से अपना नाम वापस ले लिया है. मुंबई के युवा ओपनर पृथवी शाह, जो अंडर 19 टीम का नेतृत्व कर रहे थे, रायडू की जगह लेंगे. 

आश्चर्यजनक रूप से टीमों में अंतिम समय में होने वाले इन बदलावों पर बीसीसीआई ने कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की है. बोर्ड ने दिलीप ट्रॉफी को दोबारा बहाल कर दिया है. लखनऊ और कानपुर के स्टेडियम दिलीप ट्रॉफी के लिए तैयार हैं. अब ब्रॉडकास्टर भी टेलिकास्ट के लिए तैयार हैं. पिछले साल की तरह ही इस बार भी दिलीप ट्रॉफी पिंक बॉल से दूधिया रोशनी में खेली जाएगी और खिलाड़ियों के लिए अपना करियर बनाने का यह एक सुनहरा मौका होगा. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.