ENG vs WI: तीसरे दिन भी स्टुअर्ट ब्रॉड का जलवा, इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज पर कसा शिकंजा

वेस्टइंडीज को अब सीरीज जीतने के लिए अब 389 रन बनाने की जरूरत है और उसके 8 विकेट बचे हुए हैं, अलगे 2 दिनों में मैनचेस्टर में बारिश की संभावना है.

ENG vs WI: तीसरे दिन भी स्टुअर्ट ब्रॉड का जलवा, इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज पर कसा शिकंजा
स्टुअर्ट ब्रॉड (फोटो-Twitter/@englandcricket)

मैनचेस्टर: स्टुअर्ट ब्रॉड (Stuart Broad) की घातक गेंदबाजी और टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन से इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच में रविवार को यहां मजबूत शिकंजा कस दिया. ब्रॉड ने पहली पारी में 31 रन देकर 6 विकेट लिए जिससे इंग्लैंड ने तीसरे दिन सुबह के सेशन में वेस्टइंडीज को 197 रन पर आउट करके 172 रन की बढ़त हासिल की. मैच के चौथे और 5वें दिन बारिश की भविष्यवाणी को देखते हुए इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी 2 विकेट पर 226 रन बनाकर घोषित की और इस तरह से वेस्टइंडीज के सामने 399 रन का लक्ष्य रखा.

वेस्टइंडीज ने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक दो विकेट 10 रन बनाये हैं और वह लक्ष्य से अभी 389 रन दूर है. ब्रॉड (8 रन देकर 2) ने ये दोनों विकेट लेकर अपने कुल टेस्ट विकेटों की संख्या 499 पर पहुंचाई. रोरी बर्न्स (90) और डॉम सिबले (56) ने पहले विकेट के लिये 114 रन जोड़कर इंग्लैंड को दूसरी पारी में अच्छी शुरुआत दिलाई. इसके बाद कप्तान जो रूट ने 56 गेंदों पर नाबाद 68 रन की तूफानी पारी खेली. उन्होंने बर्न्स के साथ दूसरे विकेट के लिये 112 रन की साझेदारी की. बर्न्स को स्पिनर रोस्टन चेस ने सबस्टि्यूट विकेटकीपर जोशुआ डा सिल्वा के हाथों कैच कराया जिसके तुरंत बाद रूट ने पारी घोषित कर दी. 

इससे पहले जेसन होल्डर ने सिबले को आउट करके कप्तान के रूप में अपना 100वां विकेट हासिल किया था. वेस्टइंडीज के विकेटकीपर शेन डोरिच तेज गेंदबाज शैनोन गैब्रियल की गेंद रोकने के प्रयास में चोटिल हो गए. उसकी दूसरी पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही और ब्रॉड ने अपने पहले ओवर में ही जॉन कैंपबेल (शून्य) को स्लिप में कैच करा दिया. इसके बाद उन्होंने रात्रि प्रहरी केमार रोच (4) को भी चलता किया. स्टंप उखड़ने के समय क्रेग ब्रैथवेट दो और शाई होप चार रन पर खेल रहे थे.

इससे पहले वेस्टइंडीज ने अपनी पहली पारी 6 विकेट पर 137 रन से अपनी पारी आगे बढ़ाई. होल्डर (46) और डोरिच (37) ने फालोऑन बचाने का पहला लक्ष्य हासिल किया. इंग्लैंड ने जोफ्रा आर्चर और क्रिस वोक्स के साथ शुरुआत की थी.

लेकिन जब ब्रॉड और जेम्स एंडरसन आक्रमण पर आए तो हालात बदल गए. ब्रॉड ने दिन की अपनी तीसरी गेंद पर ही होल्डर को पगबाधा आउट कर दिया. कैरेबियाई कप्तान ने डीआरएस का सहारा लिया लेकिन मैदानी अंपायर का फैसला कायम रहा. इसके बाद उन्होंने अपने तीसरे ओवर में रखिम कोर्नवॉल (10) और रोच (शून्य) को पवेलियन भेजा. ब्रॉड ने डोरिच को वोक्स के हाथों कैच कराकर अपना 6 विकेट लिया और वेस्टइंडीज की पारी का अंत किया.

 

ब्रॉड को साउथैंपटन में पहले टेस्ट की टीम में नहीं रखा गया था जिसे वेस्टइंडीज ने 4 विकेट से जीता था. उन्होंने ओल्ड ट्रैफर्ड में ही दूसरे टेस्ट के दौरान दोनों पारियों में 3-3 विकेट लेकर इंग्लैंड की जीत में अहम भूमिका निभाई थी. यही नहीं मौजूदा टेस्ट की पहली पारी में उन्होंने 45 गेंदों पर 62 रन की पारी खेली जो 2013 के बाद उनका सर्वोच्च स्कोर है और फिर अपने करियर में 18वीं बार पारी में 5 या इससे ज्यादा विकेट लिए.
(इनपुट-भाषा)