भारत के पूर्व क्रिकेटर सदाशिव रावजी पाटिल का निधन, 86 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

भारत के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी सदाशिव रावजी पाटिल का मंगलवार को 86 साल की उम्र में निधन हो गया है. उन्होंने आखिरी सांस अपने कोल्हापुर आवास पर ली.   

भारत के पूर्व क्रिकेटर सदाशिव रावजी पाटिल का निधन, 86 साल की उम्र में ली आखिरी सांस
सदाशिव रावजी पाटिल (फोटो-Twitter/@BCCI)

नई दिल्ली: क्रिकेट की दुनिया से इस वक्त काफी बुरी खबर  सामने निकल कर आ रही है. दरअसल पूर्व भारतीय क्रिकेटर सदाशिव रावजी (Sadashiv Raoji Patil) पाटिल का 86 साल की उम्र में निधन हो गया है. मगंलवार को सदाशिव रावजी पाटिल ने अपने कोल्हापुर आवास पर आखिरी सांस ली है. सदाशिव रावजी पाटिल ने टीम इंडिया के लिए एक टेस्ट मैच में प्रतिनिधित्व किया था. पाटिल के निधन की बाद से क्रिकेट जगत में शोक की लहर दौड़ पड़ी है. 

कोल्हापुर जिला क्रिकेट संघ ने दी पाटिल के निधन की खबर
गौरतलब है कि पूर्व भारतीय क्रिकेटर सदाशिव रावजी पाटिल के देहांत कि सूचना उनके घरेलू क्रिकेट संघ यानी कोल्हापुर जिला क्रिकेट संघ ने दी है. कोल्हापुर जिला क्रिकेट संघ के पूर्व पदाधिकारी रमेश कदम ने पीटीआई को बताया है कि सदाशिव रावजी पाटिल जी का कोल्हापुर की रुईकर कॉलोनी में उनके आवास पर मंगलवार तड़के सोते हुए निधन हो गया. 

हालांकि संघ के अधिकारी ने इस बात की पुष्टि नहीं की है कि आखिरकार उनकी मृत्यु कैसे हुई है. लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि उम्रदाज होने के कारण सदाशिव रावजी पाटिल शाररिक बीमारियों से जूझ रहे थे. मालूम हो कि सदाशिव रावजी पाटिल के परिवार में उनकी पत्नी और दो बेटियां हैं 

सदाशिव रावजी पाटिल ने न्यूजीलैंड के विरुद्ध खेला था एक मात्र टेस्ट 
दरअसल सदाशिव रावजी पाटिल को भारतीय क्रिकेट टीम (Team India) की तरफ से ज्यादा मौके नहीं मिले थे. लेकिन साल 1955 में सदाशिव रावजी पाटिल को न्यूजीलैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच में भारत का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला था. सदाशिव रावजी पाटिल दाएं हाथ के तेज गेंदबाज होने के साथ-साथ बेहतरीन बल्लेबाजों में शुमार थे. 

पाटिल ने अपनी घरेलू टीम महाराष्ट्र के लिए साल 1952 से लेकर 1964 के बीच काफी क्रिकेट खेला. महाराष्ट्र के लिए खेलते हुए उन्होंने 36 प्रथम श्रेणी मैचों में 866 रन बनाए. साथ ही सदाशिव रावजी पाटिल ने 83 विकेट भी अपने नाम किए थे. इतना ही नहीं 12 साल के क्रिकेट करियर के दौरान सदाशिव रावजी ने रणजी ट्रॉफी के दौरान महाराष्ट्र टीम कप्तानी भी संभाली थी.